Jaipur में लव जिहाद: दवा के दबाव में धर्मान्तरण, हमदर्द बन हकीमों की हुस्न पर हुकूमत

-दवाखानों में बैठे लव जिहादियों का धर्मान्तरण करवाना बेनकाब।
-राजधानी के करधनी इलाके में लव जिहाद से जुड़ा मामला।
जयपुर।

तम्बू के डाक्टरों का अपराध में लिप्त होना तो बहुत पहले खुल चुका है, लेकिन अब दवाखानों में बैठे लव जिहादियों का धर्मान्तरण करवाना भी बेनकाब हो चुका है।

सार्वजनिक स्थल हो या परिवहन के साधन जगह-जगह टंगे पोस्टरों से जाल में फंसी महिला की व्यथा इस ओर इशारा कर रही है कि दवा के नाम पर हकीम बन बैठे जिहादियों की गैंग लव जिहाद को परवान चढ़ा रही है।

रोग गुप्त हो या फिर पुराना इन कथित हकीमों का मूल मंत्र अब सिर्फ हिन्दू संस्कृति से खिलवाड़ कर महिलाओं के मस्तिष्क का इलाज करना है।

इलाज भी ऐसा कि दवाखाने में आई महिला को दबाव में लेकर धर्म से भी विमुख किया जा रहा है।

ऐसा ही एक सनसनीखेज मामला राजधानी के करधनी इलाके में तलाकशुदा महिला का हमदर्द बने लव जिहादी से जुड़ा है। 

यह है मामला
दरअसल, मूलतया अजमेर निवासी 27 वर्षीय महिला ने करधनी थाने में 2 जून को रिपोर्ट दर्ज करवाई है कि वर्ष 2015 में बस में सफर के दौरान एक पर्चे पर हकीम उमेर खान के मोबाइल नंबर लिखे हुए थे और उसमे कई रोगों का इलाज करने का हवाला दिया हुआ था।

पीड़िता अपने पेट की समस्या के चलते उक्त नंबर अपने मोबाइल में डायल कर लिया, लेकिन इस दौरान हकीम के पास घंटी चली गई।

इसके बाद उसी दिन शाम को उमेर खान का फोन आया तो पीड़िता ने सारी समस्या बताई, इसके बाद उमेर खान का पीड़िता के पास लगातार मैसेज और फोन आने शुरू हो गए।

यह भी पढ़ें :  IAS तबादले के दूसरे दिन IPS अफसर भी बदले

इसके बाद एक दिन उमेर खान ने अपने अजमेर वाले क्लिनिक पर पीड़िता को बुलाया, उस समय पीड़िता वहीं थी तो मिलने चली गई।

इस दौरान हकीम ने होटल में चलके बात करने के लिये कहा तो पीड़िता ने मना कर दिया। इसके बाद पीड़िता जयपुर आ गई तो हकीम यहां भी मिलने के लिये जोर देने लगा।

नवम्बर 2015 में ट्रांसपोर्ट नगर गुरुद्वारे के पास मिला तथा कार में बिठाकर पीड़िता को करधनी थाना इलाके स्थित मकान पर ले आया। जहां निकाह करने का झांसा देकर दुष्कर्म किया और घटना के बारे में किसी को बताने पर भी बदनाम करने और जान से मारने की धमकी दी।

इसके बाद हकीम लगातार अपने झोटवाड़ा वाले क्लिनिक पर डरा धमका करता रहा और एक दिन धमकाया कि तुझे इस्लाम धर्म ग्रहण करना पडेगा।

इस पर पीड़िता ने कहा कि मैं हिन्दू हूं और धर्म नहीं बदलूंगी, तो 16 दिसंबर 2015 को उमेर खान पीड़िता के घर आया और वहां से गाड़ी में बिठाकर अजमेर दरगाह के पीछे स्थित एक गेस्ट हाउस में ले गया।

वहां जबरन धर्म परिवर्तित करवाया तथा निकाह किया और वहां से लाकर जयपुर स्थित पीड़िता के मकान पर छोड़ दिया। इसके बाद वह लगातार शारीरिक सम्बन्ध बनाता रहा और नाम बदलवाकर गजट में प्रकाशित करवा दिया।

इस दौरान पीड़िता को खूब यातनाएं दी गईं। लगभग डेढ वर्ष बाद पीड़िता को पता चला कि हकीम उमेर खान शादी शुदा है तथा इसके बीबी बच्चे है।

इस पर पीड़िता ने हकीम इस बारे में बताया और उनके घर गई तो वहां से जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया और अपने साथ रखने से इन्कार कर दिया।

यह भी पढ़ें :  नशीला पदार्थ देने से मना किया तो कर्मचारी की गला दबाकर हत्या

पीड़िता थक हारकर 28 मई 2020 को हकीम के भाई और बच्चो के पास गई तो उन्होंने कहा कि ईद और रोजे निकलने दो। इसके बाद परिवार के लोगों ने बात करने से मना कर दिया और उमेर खान ने अपना फोन बंद कर लिया।

हकीम ने अपने साले से पीड़िता को धमकी दिलाई कि कुछ भी किया तो हम काट कर रख देंगे।

अब हो रहा पीछा

पीड़िता ने 2 जून को करधनी थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई है, इसके बाद उसका मेडिकल और 164 के बयान हो चुके हैं।

मुकदमा दर्ज होने की भनक लगते ही लव जिहादियों की गैंग भी सतर्क हो गई है और पीड़िता का पीछा करना उसके फोन पर धमकाना शुरू कर दिया गया है।

पीड़िता पर आरोपित द्वारा केस वापिस लेने का दबाव बनाया जा रहा है।


कोई बड़ा गिरोह तो नहीं

करधनी थाना पुलिस मामले में आरोपित की तलाश कर रही है, लेकिन फ़िलहाल वह पुलिस की पकड़ से दूर है।

कयास ये भी लगाए जा रहे है कि आरोपित के पकड़ने के बाद इनसे जुडी गैंग के बारे में भी बड़ा खुलासा हो सकता है।

आखिर ऐसी कितनी युवतियां है जिनका हकीमों द्वारा  इसी तरह झांसे में लेकर जीवन बर्बाद किया जा चुका है।


क्या है लव जिहाद

लव जिहाद या रोमियो जिहाद, कथित रूप से मुस्लिम पुरुषों द्वारा गैर-मुस्लिम समुदायों से जुड़ी महिलाओं को इस्लाम में धर्म परिवर्तन के लिए लक्षित करके प्रेम का ढोंग रचना है।

भारत में लव जिहाद के आरोपों ने विभिन्न हिन्दू, सिख और ईसाई संगठनों में चिंता जताई, जबकि मुस्लिम संगठनों ने आरोपों से इनकार किया।

यह भी पढ़ें :  चिकित्सा विभाग का नवाचार, लाॅकडाउन या कफ्र्यू के दौरान आमजन esanjeevaniopd.in पर क्लिक कर आनलाइन ले सकेंगे टेली-कंसल्टेंसी