बेरोजगारों का पीजी संचालकों ने 3 माह का 1.90 लाख रुपये का किराया माफ किया

-बेरोजगारों का हाथ जोड़कर, गुलाब का फूल देकर किराया माफी अभियान जारी है।

वैश्विक महामारी कोरोना के चलते राज्य के बेरोजगारों के द्वारा किराया वहन नहीं किया जा सका है। राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव के आवाहन पर अब धीरे-धीरे मकान मालिकों के द्वारा किराया माफ करने का कार्य किया जाने लगा है।

शनिवार को भी ज्योति नगर लाल कोठी योजना प्लाट नंबर E 497 मकान मालिक देवेंद्र हाडा ने और सोहन लाल शर्मा पीजी संचालक ने पीजी में रहने वाले 21 स्टूडेंट का 3 महीने का 1 लाख 90 हजार रुपये का किराया माफ किया है।

पीजी संचालक बेरोजगारों से केवल बिजली और पानी बिल का खर्चा लेंगे। साथ ही वादा किया है कि यदि उसको भी सरकार ने माफ कर दिया तो वह खर्चा भी बेरोजगार अभ्यर्थियों से नहीं लेंगे

मकान मालिक देवेंद्र हाडा का राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ का स्वागत करता है और अन्य मकान मालिकों से निवेदन करता है कि वह भी इनसे सीख लेकर गरीब बेरोजगार अभ्यर्थियों का किराया माफ करके समाज में एक मिसाल पेश करें।

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव बेरोजगारों और दूसरे जिलों से जयपुर में रहकर अध्ययन कर रहे छात्र-छात्राओं का मकान किराया माफ करने के लिए एक अभियान के तहत कार्य कर रहे हैं, जिसमें बड़े पैमाने पर सफलता मिल रही है।

इससे पहले राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ बैनर तले हाथ जोड़कर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले बेरोजगारों का किराया माफ करने का अभियान की शुरुआत ज्योति नगर c-scheme से की गई।

जिसमें सफलता मिली और एडवोकेट पदम सिंह गुर्जर को फूल देकर बेरोजगारों का किराया माफ करने की गुहार स्टूडेंटस का 3 महीने का 80 हजार रुपये का किराया माफ किया गया। साथ ही कहा: जब तक सामान्य स्थिति नहीं हो जाती, तब तक बेरोजगारों से किराया नहीं लेंगे।

यह भी पढ़ें :  'अशोक गहलोत हटाओ, कांग्रेस बचाओ' के बाद 'सचिन पायलट को सीएम बनाओ'

उसी दिन टोंक फाटक कल्याण कालोनी निवासी तारा पटेल ने 66 हजार रुपये का 9 बेरोजगार अभ्यर्थियों का 3 महीने का किराया माफ किया और मुहिम का समर्थन किया।

महेश नगर सर्वोदय कॉलोनी में मोहन लाल मीणा ने 3600 रुपये किराया माफ किया। इसके अलावा इमली फाटक में बेरोजगारो का 10 हजार रुपये का किराया माफ किया गया।

ऐसे पहले दिन 1 लाख 60 हजार रुपये का बेरोजगारों का किराया माफ किया गया, जिससे कई बेरोजगार अभ्यर्थियों को बड़ी राहत मिली।

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने मकान मालिकों से और सरकार से प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले बेरोजगारों का किराया माफ करने की गुहार की है।