भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लिखा पत्र, क्या है लेटर में?

-आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत खेतड़ी कस्बे में स्थित कॉपर काम्प्लेक्स संयंत्र को पुनः शुरू करने को लेकर लिखा पत्र

जयपुर।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने पत्र लिखकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से निवेदन कर खेतड़ी क़स्बे में स्थित कॉपर संयंत्र को पुन चालू करने की मांग की है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लिखे पत्र में डॉ. पूनियां ने कहा कि राजस्थान के खेतड़ी कस्बे में स्थित कॉपर कॉन्प्लेक्स संयंत्र जो फरवरी 1975 में शुरू हुआ था, 2008 से बंद की स्थिति में है।

किसी समय यहां 25 से 30 हजार टन शुद्ध तांबा, उर्वरक, रसायन एवं अन्य उत्पाद निकाले जाते थे। हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड की यह इकाई तांबा उत्पादन में भारत में ही नहीं एशिया में भी पहले स्थान पर थी।

यहां उत्पादन होने से देश को तांबे के आयात की जरूरत समाप्त हो गई थी। वर्ष 2000 के पश्चात विभिन्न कारणों के चलते यहां संचालन व्यवस्था गड़बड़ाने लगी और नवम्बर 2008 के बाद यह संयंत्र बंद की स्थिति में है।

कभी 10 हजार से ज्यादा कर्मचारी और अधिकारी यहां काम करते थे, लेकिन अब करीब हजार कर्मचारी ही यहां कार्यरत हैं। अधिकतर ने वी.आर.एस. ले लिया है।

पूनियां ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि मेरी आपसे प्रार्थना है कि खेतड़ी कॉपर काम्प्लेक्स को आधुनिकतम सुविधाओं के साथ शीघ्रातिशीघ्र प्रारम्भ कराये जाने की कृपा करावे।

क्योंकि यहां हुए जी.एस.आई. सर्वे के अनुसार यहां तांबे के अकूत भंडार हैं कि अनेक वर्षों तक यहां से यह धातु एवं अन्य खनिज निकाले जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें :  13 पॉइंट रोस्टर ने उड़ाई एससी, एसटी, ओबीसी के अभ्यर्थियों की नींद

यहां के सेवानिवृत्त उप महाप्रबंधक, खदान डी.आर. मेहता का कहना है कि अभी यहां महासागर तल के बराबर से तांबा निकाला जा रहा है फिर माइनस 100 से 300 मीटर तक निकल सकता है।

मेहता के अनुसार तांबा का उत्पादन होने लगे तो कई दशकों तक यहां अच्छे गुणवत्ता युक्त तांबा एवं अन्य खनिज निकाले जा सकते हैं।

आपके मजबूत एवं कुशल नेतृत्व में आत्मनिर्भर भारत योजना के अंतर्गत खेतड़ी कॉपर काम्प्लेक्स प्रोजेक्ट को दोबारा प्रारंभ किया जाए तो हजारों लोगों को रोजगार मिलने के साथ ही देश तांबा एवं अन्य खनिजों के उत्पादन में आत्मनिर्भर बनेगा।