सचिन पायलट के बयान ने अशोक गहलोत सरकार के बारे में सबकुछ साफ कर दिया

जयपुर/दौसा।

राजस्थान में राजनीतिक घटनाक्रम के बीच राज्य के उप मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट के बयान ने राज्य की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार की स्थिति को बहुत हद तक स्पष्ट कर दिया है, साफ कर दिया है।

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी के पास राज्यसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत है। निर्दलीय विधायक भी हमारा समर्थन कर रहे हैं, कोई कितनी भी कोशिश कर ले।

हमारे दोनों उम्मीदवार जीतेंगे


पायलट ने कहा कि हम राज्यसभा चुनाव में उम्मीद से ज्यादा मत हासिल करेंगे और हमारे दोनों उम्मीदवार राज्यसभा जाएंगे, जो संख्या बल हमारे पास है, इससे हर कोई जानता है कि हमारे दोनों उम्मीदवारों की जीत होगी।

आज फिर से बैठक होगी


उपमुख्यमंत्री ने कहा कि कल हमने बैठक भी की थी, आज भी हम एक और बैठक करेंगे। कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष होने के नाते कह सकता हूं कि जब हम विपक्ष में थे तो उप चुनाव भी हमने जीते, कुछ लोग जानबूझकर माहौल खड़ा करना चाहते है कि कांग्रेस में खींचतान है।

19 जून को जब मतगणना होगी तो उम्मीद से ज्यादा मत हमें मिलेंगे, जो घटनाक्रम अलग-अलग राज्यों में हो रहा है, उसका अनुभव हमारे पास है, राजस्थान के लोग बेहद निष्ठावान लोग हैं।

20 साल हो गए राजेश पायलट को

देश के पूर्व कैबिनेट मंत्री और सचिन पायलट के पिता स्वर्गीय राजेश पायलट की 20वीं पुण्यतिथि पर दोसा में उनकी मूर्ति के ऊपर माल्यार्पण करने के दौरान पत्रकारों से बात करते हुए सचिन पायलट ने कहा कि राज्य और देश की जनता ने उनको भरपूर प्रेम और प्यार दिया है।

यह भी पढ़ें :  कोटा चंबल नदी में भयंकर नाव हादसा, 14 की मौत, 11 शव बरामद

उन्होंने कहा कि स्वर्गीय राजेश पायलट का आज ही के दिन 20 साल पहले सड़क दुर्घटना में निधन हो गया था, तब से लेकर अब तक राज्य की जनता ने उनका समर्पण के साथ सहयोग किया है, जिसके लिए वह हृदय से लोगों को धन्यवाद देना चाहते हैं।

19 जून को होगा मतदान

उल्लेखनीय है कि राजस्थान में 19 जून को 3 राज्यसभा सीटों के लिए मतदान होगा, जिससे पहले कांग्रेस पार्टी में भारी हलचल मची हुई है। पार्टी के द्वारा अपने सभी विधायकों को दिल्ली रोड पर स्थित होटल शिव विलास में एक तरह से बंद कर दिया गया है। भाजपा पर विधायकों को खरीदने का आरोप लगाया गया है।

करोड़ों लो-इस्तीफा दो

राज्य कांग्रेस की तरफ से भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा गया है कि पार्टी उनके विधायकों को “करोड़ों लो-इस्तीफा दो” कहकर खरीदने का प्रयास कर रही है इसके लिए दिल्ली से राजस्थान में अवैध मनी ट्रांजैक्शन भी हुआ है।

दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि कांग्रेस के भीतर ही अंदरूनी कलह है, जिसके चलते पार्टी डरी हुई है और अपने विधायकों को होटल में बंद कर चुकी है। जनता के द्वारा चुने हुए जनप्रतिनिधियों को इस तरह से एक जगह पर बंद कर देना लोकतंत्र का अपमान है।

यह है संख्याबल

आपको बता दें कि राजस्थान कांग्रेस के पास 107 विधायक हैं। जबकि, पार्टी को दो भारतीय ट्राईबल पार्टी के, दो लेफ्ट पार्टी के और 13 निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन हासिल होने का दावा किया गया है। इसके साथ ही राष्ट्रीय लोक दल का एक विधायक भी कांग्रेस के साथ है।

यह भी पढ़ें :  पायलट की याचिका पर सुनवाई: हाईकोर्ट में हंगामे के बाद सुनवाई मंगलवार को होगी