प्रदेश में 5 जून से बायोमेट्रिक सत्यापन से होगा राशन का वितरण

-कोविड-19 महामारी के बचाव के लिए सरकार के निर्देशों की करनी होगी पालना

जयपुर।

प्रदेश में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के लाभार्थियों को 5 जून से पोस मशीन से बायोमेट्रिक सत्यापन के पश्चात उचित मूल्य की दुकानों से राशन का वितरण किया जायेगा।

ऑफलाइन चल रही उचित मूल्य की दुकानों  के अलावा राशन वितरण के सभी ट्रांजेक्शन पोस मशीन द्वारा बायोमेट्रिक सत्यापन के पश्चात किए जाएगे।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश चन्द मीना ने बताया की पोस मशीन पर पुनः बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण शुरू करने हेतु कोविड-19 महामारी के बचाव के लिए सामाजिक दूरी एवं बार-बार हाथों को धोना एवं सेनेटाइज करना जरूरी होगा।

साथ ही कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा- निर्देशों की पूर्णतः पालना करनी होगी।

मास्क एवं गलव्ज पहनना होगा जरूरी
खाद्य मंत्री ने बताया की उचित मूल्य दुकानदार एवं दुकान पर कार्य करने वाले कार्मिकों को अनिवार्य रूप से राशन वितरण के समय मास्क एवं गलव्ज पहनना होगा।

राशन वितरण से पहले उचित मूल्य की दुकान अथवा वाहन जहाँ से राशन का वितरण किया जाता है उसकी साफ-सफाई किया जाना जरूरी होगा।

लाभार्थी को उचित मूल्य की दुकान पर मास्क पहन कर जाना होगा साथ ही सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए दुकान के सामने गोले में खड़े होकर अपनी बारी के लिए इन्तजार करना होगा।


लाभार्थी के हाथों को सेनेटाइज करना होगा
मीना ने बताया की उचित मूल्य दुकानदार प्रतिदिन पोस मशीन को शुरू करने से पहले अच्छे से सेनेटाइज करना होगा।

उसके पश्चात पोस मशीन पर लाभार्थी का अंगूठा या फिंगरप्रिन्ट लगवाने से पहले लाभार्थी के हाथों को भी सेनेटाइज करना होगा।

यह भी पढ़ें :  हनुमान बेनीवाल के सामने ताल ठोकेगी उन्हीं की भतीजी डॉ. अनिता बेनीवाल!

उचित मूल्य की दुकान के सामने खड़ा रहने के लिए एक मीटर की उचित दूरी पर गोले बनाकर रखना होगा।