11 C
Jaipur
गुरूवार, जनवरी 28, 2021

शहरी समीकरणों से घबराई भाजपा, डैमेज कंट्रोल में जुटी

- Advertisement -
- Advertisement -

जयपुर। लोकसभा चुनाव 2019 से पहले शहर के समीकरणों को देखकर भाजपा घबरा गई है। अब महापौर पद पर क्रॉस वोटिंग करने वाले पार्षदों पर डोरे डालने में लगी है।

कहा जा रहा है कि भाजपा से निष्कासित किए गए 9 पार्षदों का निष्कासन समाप्त किया जा सकता है, ताकि चुनावों में इसका फायदा लिया जा सके।

- Advertisement -शहरी समीकरणों से घबराई भाजपा, डैमेज कंट्रोल में जुटी 2

निगम में समितियों के गठन के बाद शहर भाजपा के पदाधिकारियों ने कुछ विधायकों के दबाव में नौ पार्षदों को पार्टी से निष्कासित करवा दिया था। निष्कासित पार्षदों का कहना है कि राजनीतिक कारणों से उन्हें निशाना बनाया गया।

इनमें से अशोक गर्ग और अनिल शर्मा तो ऐसे थे जिन्होंने समितियों में भी कोई पद नहीं लिया था, लेकिन यह दोनों विधायक कालीचरण सराफ के विरोधी माने जाते थे।

भाजपा को डर था कि लोकसभा चुनावों में पार्टी के प्रत्याशी रामचरण बोहरा को मालवीय नगर से भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है, क्योंकि सराफ यहां मात्र 1700 वोटों से जीते थे।

ऐसे में यहां के दो बड़े पार्षदों की नाराजगी भारी पड़ सकती थी। वहीं दूसरी ओर सांगानेर में विष्णु लाटा भी बोहरा को भारी नुकसान पहुंचाने में सक्षम हो चुके हैं।

इसी तरह पार्टी से निष्कासित अन्य पार्षद भी पार्टी प्रत्याशी की खिलाफत कर सकते हैं।

बाड़ाबंदी के दौरान उपमहापौर मनोज भारद्वाज को प्रत्याशी बनाए जाने से नाराज अन्य पार्षद भी पार्टी को नुकसान पहुंचा सकते हैं, क्योंकि वह भी लंबे समय से पार्टी में सुनवाई नहीं होने से नाराज चल रहे हैं।

पार्टी को सांगानेर, मालवीय नगर, परकोटे के दो क्षेत्रों किशनपोल और हवामहल व विद्याधर नगर में गड़बड़ दिखाई दे रही थी।

इसी के चलते पार्टी ने निष्कासित किए पार्षदों को फिर से पार्टी की ओर खींचने की कोशिशें तेज कर दी है। कहा जा रहा है कि जल्द ही इनका निष्कासन समाप्त किया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि महापौर चुनाव से पूर्व भाजपा पार्षदों की एक होटल में बाड़ाबंदी की गई थी।

इस बाड़ाबंदी में ही 30 से अधिक पार्षदों ने मनोज भारद्वाज को महापौर बनाने के विरोध में एक कागज पर हस्ताक्षर किए थे।

इसका पता चलते ही शहर भाजपा के नेताओं ने इस कागज को फड़वा दिया था। इस दौरान दूसरे दावेदार विष्णु लाटा होटल से फरार हो गए और महापौर पद का नामांकन दाखिल कर दिया।

कुछ भाजपा पार्षदों ने क्रॉस वोटिंग की और लाटा महापौर बन गए। तभी से शहर में भाजपा के समीकरण एकदम गड़बड़ाए हुए हैं।

- Advertisement -
शहरी समीकरणों से घबराई भाजपा, डैमेज कंट्रोल में जुटी 3
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

असिस्टेंट कमाण्डेन्ट शंकरलाल जाट दूसरी बार राष्ट्रपति पदक से सम्मानित हुए

जयपुर। राजधानी जयपुर से करीब 40 किलोमीटर दूर फागी के केरिया गांव निवासी असिस्टेंट कमांडेंट शंकरलाल जाट ने दूसरी बार राष्ट्रपति पदक जीतकर देश-प्रदेश...
- Advertisement -

भाई-बहन करते थे प्यार, शादी के 42वें दिन गोली मारी, लड़का मरा, लड़की अस्पताल में है

जयपुर। राजधानी जयपुर के शिवदासपुरा थाना क्षेत्र के देवकीनंदनपुरा गांव में एक चचेरा भाई और चचेरी बहन आपस में प्यार करते थे। भाई के...

किसान आंदोलन में हिंसा के बाद अब एक दर्जन नेता दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ने वाले हैं!

नई दिल्ली। दो माह तक शांतिपूर्ण ढंग से चल रहे किसान आंदोलन ने मंगलवार को उस वक्त हिंसक रूप ले लिया, जब किसान रिंग...

रालोपा सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल व पार्टी पदाधिकारी करेंगे कल दिल्ली कूच

जयपुर। तीन कृषि कानूनों के खिलाफ 26 जनवरी को दिल्ली की आउटर रिंग रोड के ऊपर होने वाली ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के...

Related news

पिंकी चौधरी की तरह लौट आएगी मनीषा डूडी?

बीकानेर/जयपुर। जुलाई माह में बाड़मेर के समदड़ी पंचायत से प्रधान रहीं पिंकी चौधरी जब अपने प्रेमी अशोक चौधरी के साथ भाग गई थीं, तब...

वसुंधरा राजे ने भाजपा से की खुलकर बगावत!

-करोड़ों-करोड़ों हिन्दूओं के हदय में जय श्रीराम के नारे लगते है, ममता बनर्जी को भी जय श्रीराम का नारा लगाना चाहिये: अरूण सिंह भाजपा...

मनीषा डूडी लव जिहाद के मामले में नया मोड़, अब राजपूत नेता पर केस दर्ज

बीकानेर। पिछले दिनों राजस्थान के पाकिस्तान की सीमा से सटे बीकानेर जिले की कोलायत तहसील में कथित तौर पर एक 18 साल की लड़की...

मनीषा डूडी के साथ क्या लव जिहाद हुआ है?

बीकानेर/जयपुर। बीकानेर जिले की कोलायत तहसील के बांगड़सर गांव की 18 वर्ष की मनीषा डूडी ने पिछले दिनों कोलायत के एक गांव के रहने...
- Advertisement -