कांग्रेस ज्यादा आक्रामकता से मोदी सरकार पर इस तरह हमला करेगी अब

-मजदूरों की आवाज को बुलंद करें कांग्रेस जन
-28 मई को कांग्रेस के अभियान में बढ़-चढ़कर ले हिस्सा

-केंद्र की मोदी सरकार पर मजदूरों के हित में बनाए दबाव

नेशनल दुनिया, जयपुर।

कोरोना संकट के बीच छोटे व्यापारियों और असंगठित मजदूरों को ₹10000 सीधे खाते में देने के लिए 28 मई को प्रस्तावित कांग्रेस के महा अभियान को सफल बनाने के लिए प्रदेश के कांग्रेस जन को पूरी ताकत के साथ जुटने के निर्देश दिए गए हैं।


प्रदेश के सह प्रभारी और कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विवेक बंसल ने प्रदेश के सभी जिला अध्यक्षों, मंत्रिमंडल के सदस्यों, विधायकों, पूर्व सांसदों, ब्लॉक अध्यक्षों,अग्रिम संगठनों और प्रकोष्ठ के अध्यक्षों से 28 मई को प्रस्तावित कांग्रेस के महा अभियान को सफल बनाने की अपील करते हुए कहा है कि कांग्रेस जन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम पर मजदूरों की आवाज पूरी ताकत के साथ बुलंद करें।


बंसल ने कहा सभी कांग्रेस जन को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मजदूरों को ₹10000 सीधे खाते में देने और मनरेगा में 200 दिन का रोजगार देने की मांग केंद्र सरकार से करनी चाहिए।


प्रदेश सह प्रभारी ने कहा की कोरोना संक्रमण के चलते राजनीतिक मंचों और सड़कों पर प्रदर्शन नहीं कर सकते लेकिन केंद्र सरकार तक मजदूरों की आवाज पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग करें।


संकट की इस घड़ी में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हमें मज़दूरों की आवाज बननी है उनको सहारा देना है।
आज उन्हें हमारे सहारे की जरूरत है।

क्योंकि जिस तरह से केंद्र सरकार ने देशभर में उन्हें बेसहारा छोड़ दिया है उनके साथ अत्याचार हो रहा है हादसे हो रहे हैं और मोदी सरकार आंख मूंदे बैठी है।

यह भी पढ़ें :  Madhay pradesh : विधायक के निधन से कांग्रेस की निश्चिंतता में खलल


ऐसे में कांग्रेस पार्टी के सिपाहियों का फर्ज बनता है कि वह आगे आए और मजदूरों के हक में अपनी आवाज को बुलंद करें और सरकार पर इतना दबाव बनाएं की सरकार मजदूरों की सुध लेने पर मजबूर हो जाए।


गौरतलब है कि 28 मई को सुबह 11:00 बजे से 2:00 बजे तक देशभर में कांग्रेस कार्यकर्ता सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर असंगठित मजदूरों के लिए ₹10000 सीधे खाते में देने की मांग को लेकर महा अभियान चलाएंगे।

तैयारियों को लेकर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने सभी प्रदेश अध्यक्षों को निर्देश भी जारी किए हैं।