टिड्डी दल ने नाश किया, एक सप्ताह में मुआवजा दिया जाए, 3 माह के बिजली बिल माफ़ करे गहलोत सरकार

-पूरे प्रदेश की जनता की मांग, तीन महीने के बिजली-पानी के बिल हों माफ: डॉ. सतीश पूनियां
-टिड्‌डी हमले से हुए फसलों के नुकसान की जल्द गिरदावरी करवाकर किसानों को मुआवजा दे राज्य सरकार: डॉ. सतीश पूनियां
-प्रदेशभर में आत्मनिर्भर भारत अभियान के प्रचार-प्रसार को लेकर पूरी तरह सक्रिय डॉ. सतीश पूनियां
-आत्मनिर्भर भारत अभियान के प्रचार-प्रसार को लेकर डॉ. सतीश पूनियां ने सीए, सीएस और व्यापारी बन्धुओं के साथ किया संवाद
-विधायकों, सांसदों, जिला अध्यक्षों और पूर्व विधायकों से भी कर रहे संवाद
शहरों-कस्बों में किराये के कमरे लेकर पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों को तीन महीने का भत्ता दे राज्य सरकार: डॉ. सतीश पूनियां


नेशनल दुनिया, जयपुर।
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा.सतीश पूनियाँ और केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल ने भाजपा सीए प्रकोष्ठ द्वारा वीसी से आयोजित व्यापारी संवाद कार्यक्रम को सम्बोधित किया।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देश के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के साहसिक पैकेज और आत्मनिर्भर भारत अभियान के प्रचार-प्रसार को लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां, केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जयपुर शहर के सीए, सीएस और व्यापारी बन्धुओं के साथ संवाद किया।

इस संवाद में जयपुर शहर भाजपा जिलाध्यक्ष सुनील कोठारी भी मौजूद रहे। वहीं, आत्मनिर्भर भारत अभियान के प्रचार-प्रसार को लेकर डॉ. सतीश पूनियां ने पार्टी के पूर्व विधायकों के साथ भी संवाद किया।

इससे पहले पिछले दिनों उन्होंने पार्टी के विधायकों, सांसदों और जिला अध्यक्षों के साथ भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद कर आत्मनिर्भर भारत अभियान को प्रदेश के जन-जन तक पहुंचाने को लेकर आह्वान किया।

यह भी पढ़ें :  राजस्थान में टल सकते हैं 6 निगमों 5 अप्रैल को होने वाले चुनाव

उल्लेखनीय है कि डॉ. पूनियां संवाद के अलावा सोशल मीडिया के माध्यम से भी आत्मनिर्भर भारत अभियान को लेकर प्रदेशभर के पार्टी कार्यकर्ताओं व जनप्रतिनिधियों से अपील कर आमजन तक पहुंचाने और इससे संबंधित योजनाओं के लाभ की जानकारी भी लोगों तक पहुंचाने की अपील कर रहे हैं।

वहीं, कोरोना महामारी के कारण हुए नुकसान के कारण प्रदेशभर में बिजली-पानी के तीन महीने के बिल माफ करने की मांग तेजी से जोर पकड़ रही है, जिसको लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से लगातार प्रदेश के आमजन के तीन महीने के बिजली-पानी के तीन महीने के बिल माफ करने की मांग कर रहे हैं।


एक बार फिर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि प्रदेश के सभी शहरों, कस्बों और गांव-ढाणियों में आमजन के तीन महीने के बिजली पानी के बिल माफ किये जायें जिससे सभी को राहत मिल सके।

डॉ. पूनियां ने मंदिरों के भी बिजली-पानी के बिल माफ करने की मांग मुख्यमंत्री से की है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी लोग तीन महीने के बिजली-पानी के बिल माफ करने की मांग कर रहे हैं, लेकिन मुख्यमंत्री बहरे बने हुए, आमजन की आवाज को अनसुना कर रहे हैं, जो प्रदेश की जनता के साथ बड़ा छलावा है।


डॉ. पूनियां ने बिजली-पानी के बिल माफ करने की मांग के साथ ही राज्य सरकार से स्कूलों की फीस माफ करने या फिर फीस में छूट देने को लेकर हस्तक्षेप करने की मांग की है।


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. पूनियां ने राज्य सरकार से शहरों व कस्बों में किराये के कमरे लेकर पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों को तीन महीने का किराया भत्ता देने की भी मांग की है।

यह भी पढ़ें :  अमित शाह ने कहा: कांग्रेस ने किसानों के लिए कुछ भी नहीं किया

उन्होंने कहा कि ज्यादातर गांवों के बच्चे शहरों-कस्बों में किराये पर कमरा लेकर पढ़ाई करते हैं, ऐसे में कोरोना महामारी की वजह से सभी को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है।

इसलिए राज्य सरकार को जरूरत है कि ऐसे सभी छात्रों को तीन महीने का किराया भत्ता दिया जाये, जिससे इन्हें संबल मिले।


डॉ. सतीश पूनियां का कहना है कि कांग्रेस की नेता प्रियंका गांधी को मैंने ट्वीट करके लिखा है कि एक पत्र राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को भी लिख दें, जिससे यहां बिजली पानी के बिल प्रदेश सरकार माफ कर दे।


इसके अलावा डॉ. सतीश पूनियां ने टिड्‌डी से फसलों को हुये नुकसान को लेकर कहा कि प्रदेश के कई जिलों में टिड्डी दल के आक्रमण के कारण किसानों की फसलों को बहुत नुकसान हुआ है।

मेरी मांग है कि प्रदेश सरकार हफ्तेभर में गिरदावरी करवाकर किसानों को मुआवजा देने की प्रक्रिया शुरू करे।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार तत्काल प्रभाव से टिड्डी नियंत्रण को लेकर आवश्यक कदम उठाये।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. पूनिया ने मांग की है कि राज्य सरकार टिड्डी नियंत्रण करने के लिए तुरंत टास्क फोर्स का गठन करे और स्प्रे एवं कैमिकल के साथ स्टाफ की तैनाती करे।