राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने प्रवासियों का क्वारेंटीन सुनिश्चित करने को कहा 

कोरोना से नाराज को राहत पहुंचाना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता- चौधरी 

– राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने पटौदी में की समीक्षा 
बाड़मेर / पाटोदी: राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने शुक्रवार को बायतु विधानसभा की पाटोदी पंचायत समिति के अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की बैठक में
कोरोनावायरस से निपटने को लेकर किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा की है। उन्होंने साजियाली पदमसिंह में ग्राम पंचायतियर क्वॉरंटीन कमेटी से रूबरू होकर सबको शॉर्टकट रहने का आह्वान किया। समीक्षा बैठक के दौरान राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने अधिकारियों को कोरोना महामारी में आमजन को आ रही समस्याओं का त्वरित समाधान कर राहत दिलाने के निर्देश दिए।

प्रवासी होने के 14 दिन क्वारेंटीन 
उन्होंने अधिकारियों को कहा कि प्रवासी मजदूरों को 14 दिन के लिए होम क्वारेंटाईन की पालना सुनिश्चित की जाए। वहीं राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ गरीब और जरूरतमंद लोगो तक मिला। कोई भी गरीब भूखा नहीं सोए, साथ ही बिना किसी भेदभाव या राजनीति करते हुए आमजन की मदद की जाए।

नरेगा से जोड़े अधिकतम नाम
बैठक में नवोयाराबेडा सरपंच रोशन अली छिपे हुए खाद्य सुरक्षा से वंचित परिवारों के बारे में अवगत करवाया। जिस पर मंत्री हरीश चौधरी ने
सभी श्रमिकों को आश्वस्त किया, जिनको रोजगार की आवश्यकता है, उन्हें नरेगा में जोड़ने व खाद्य सुरक्षा से जोड़ने को लेकर संबंधित अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए गए हैं।
चौधरी ने कहा कि राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप कोई भी व्यक्ति भूखा नहीं सोना चाहिए। संबंधित प्रशासनिक अधिकारी और कार्मिक इसके प्रभावी मोनेटरिंग करते हुए जरूरतमंद को पर्याप्त खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाएं। उन्हाेंने कहा कि पुलिस और प्रशासनिक अमले के साथ चिकित्सा विभाग के कार्मिक विकट परिस्थिति के बावजूद लगातार सेवाएं दे रही है।
उन्हाेंने कहा कि कोरोना से सामना के लिए प्रशासन, जनप्रतिनिधि, भामाशाह और आमजन मिलकर सामूहिक दायित्व के साथ प्रयास करें।

सामूहिक प्रयास जरूरी 
राजस्व मंत्री ने कोरोना की रोकथाम में जुटे कार्मिकें को संकाय और सेनेटाइजर का उपयोग करने का निर्देश दिया। इस दौरान चौधरी ने प्रशासनिक एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारियाें से कोरोना की रोकथाम के लिए चलाई जा रही विभिन्न आंदोलनोंियाें, प्रवासी लोगाें की स्क्रीनिंग, जरूरतमंदाें को खाद्य सामग्री उपलब्धता सुनिश्चित करवाने के बारे में विस्तार से जानकारी ली। 

यह भी पढ़ें :  गहलोत सरकार के खिलाफ तो 2 वर्ष में ही एन्टी-इनकम्बेन्सी बन गई है: डाॅ. पूनियां