केन्द्र ने मनरेगा के आवंटन में की 40 हजार करोड़ रुपये की वृद्धि, ग्रामीण अर्थव्यवस्था होगी मजबूत: डॉ. सतीश पूनियां

-मनरेगा से ग्रामीण जीवन होगा खुशहाल, प्रवासियों को भी मिलेगा रोजगार: डॉ. सतीश पूनियां
डॉ. सतीश पूनियां ने उठाई थी भर्तियां पूरी करने की मांग, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भर्तियां पूरी करने के दिए निर्देश
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री से की मांग, तीन महीने के बिजली-पानी के बिल माफ करें

जयपुर।

भाजपा प्रदेश डॉ. सतीश पूनियां का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज से देश के सभी वर्गों को आत्मनिर्भर बनने में बहुत बड़ा संबल मिलेगा।


डॉ. सतीश पूनियां का कहना है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा देश के सामने 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का जो ब्यौरा पेश किया गया है।

उससे मजदूर, किसान, छोटे-बड़े उद्यमी, आदिवासी सहित हर तबके को आत्मसम्मान के साथ आत्मनिर्भर बनने का मौका मिलेगा, जिसके सभी सकारात्मक परिणाम आने वाले कुछ दिनों में सामने आने लगेंगे।


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. पूनियां ने कहा कि केन्द्र सरकार ने ग्रामीण जीवन को खुशहाल बनाने, रोजगार को बढ़ाने व अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए मनरेगा के आवंटन में 40,000 करोड़ रुपये की वृद्धि की है।

उन्होंने कहा कि इससे सभी गांवों में स्थानीय लोगों के साथ-साथ अपने घर लौटे प्रवासियों को भी बड़े स्तर पर रोजगार मिल सकेगा।

डॉ. पूनियां ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने भारत की जीडीपी के 10% के बराबर 20 लाख करोड़ रुपये के एक विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा से ना केवल उद्योंगों की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी।

ग्रामीण अर्थव्यवस्था भी मजबूत स्तंभ बनकर उभरेगी, जिससे हमें आत्मनिर्भर भारत का निर्माण करने में तेजी से सफलता मिलेगी।

यह भी पढ़ें :  'हनुमान सेना' आज प्रदेश में अशोक गहलोत सरकार की लेगी परीक्षा


डॉ. पूनियां ने कहा कि वित्त मंत्री ने सुधारों की श्रृंखला के तहत ही आज भी कई अहम घोषणाएं की हैं, जिसमें प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (पीएमजीकेपी) को लेकर भी बड़ा ऐलान किया गया।

जिससे लोगों को मुफ्त खाद्यान्न, महिलाओं एवं गरीब वरिष्ठ नागरिकों और किसानों को नकद भुगतान, इत्‍यादि का लाभ मिल रहा है।

विभिन्न राज्यों ने 84 लाख मीट्रिक टन अनाज उठाया गया है और साथ ही 3.5 लाख मीट्रिक टन से अधिक दालें विभिन्न राज्यों में भेजी गई हैं, जिससे हर जरूरतमंद को राहत मिली है।


उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने रोजगार प्रदान करने, कारोबारों को सहायता देने, ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस (व्यापार करने में आसानी) और शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे क्षेत्रों की बेहतरी के लिए विशेष आर्थिक पैकेज का प्रावधान किया है।


केन्द्र की मोदी सरकार के आर्थिक पैकेज की घोषणा के बारे में डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि केन्द्र सरकार ने राज्‍य सरकारों को भी सहायता देने में बड़ा हितकारी फैसला लिया है।

जिसके तहत अब केन्‍द्र ने वर्ष 2020-21 के लिए राज्‍यों की उधार की सीमा 3% से बढ़ाकर 5% करने का फैसला किया है, इससे राज्‍यों को अतिरिक्‍त संसाधन मिल सकेंगे।


वहीं, राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए डॉ. पूनियां ने कहा कि प्रदेश के सभी लोगों की मांग है कि तीन महीने के बिजली-पानी के बिल माफ किये जायें।

इसको लेकर हम कई बार मुख्यमंत्री से मांग कर चुके हैं, जिससे लोगों को राहत मिल सके।

उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि इस बारे में मुख्यमंत्री गंभीरता से सोचकर जल्द फैसला लें, जिससे प्रदेश के हर तबके को राहत मिल सके।

यह भी पढ़ें :  Jaipur में लव जिहाद: हिन्दू लड़की से शादी की, 2 साल बाद गला घोंटकर हत्या कर दी


उल्लेखनीय है कि वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने संवाद के दौरान प्रदेश के विभिन्न मुद्दों पर बात की थी।

जिसमें सभी घोषित एवं लंबित भर्तियों को पूरी करने की पुरजोर मांग की थी, जिससे राज्य के युवा वर्ग को संबल मिल सके।


डॉ. पूनियां की इस मांग का असर यह हुआ कि रविवार को मुख्यमंत्री ने अधिकारियों की बैठक बुलाकर शिक्षा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज, कृषि, कार्मिक सहित अन्य विभागों में प्रक्रियाधीन भर्तियों की स्थिति की समीक्षा की।

जिसमें सभी भर्तियों को टाइम बाउंड फ्रेम में पूरा करने और जिन भर्तियों के परिणाम जारी हो चुके हैं, उनमें जल्द नियुक्तियां देने को कहा है।

डॉ. पूनियां ने कहा कि अगर निश्चित अवधि में राज्य सरकार भर्तियों को पूरा करती है तो उम्मीद लगाये बैठे प्रदेश के काफी संख्या में युवा वर्ग के लिए रोजगार मिल सकेगा।