बलात्कार पीड़िता नाबालिग दलित लडकी की पहचान ट्विटर पर उजागर, 5 माह से न्याय के लिए गुहार

-मुख्यमंत्री गहलोत, राज्यसभा सांसद, स्थानीय विधायक, राहुल गांधी, सवाई माधोपुर पुलिस अधीक्षक, राजस्थान पुलिस समेत कई को ट्वीट भी किया गया, अबतक नहीं जागी पुलिस!

रामगोपाल जाट

सवाई माधोपुर जिले के एक गांव सिणोली की बलात्कार पीडिता नाबालिग दलित लडकी का न्याय के लिए गुहार लगाता वीडियो ट्विटर पर अपलोड कर उसकी पहचान वायरल कर दी गई है।

लड़की की गुहार करता वीडियो ट्विटर पर अपलोड किया गया है, जिसको मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा, स्थानीय विधायक दानिश अबरार और सवाई माधोपुर एसपी, राजस्थान पुलिस को भी टैग किया गया है।

जानकारी के अनुसार यह मामला 31 जनवरी 2020 का है। इस मामले में FIR भी दर्ज है। वायरल वीडियो में नाबालिग पीड़िता बता रही है कि किस तरह से जगदीश मीणा नामक एक युवक ने उसे अकेली पाकर उसके साथ मारपीट कर बेरहमी से बलात्कार किया।

पुलिस ने पैसे खाकर आरोपी को छोड़ा!

वीडियो में पीड़िता लड़की यह भी बता रही है कि 31 जनवरी 2020 के दिन उसके साथ सरसों के खेत में डालकर रेप करने वाले लड़के जगदीश मीणा को पुलिस ने पैसे खाकर गिरफ्तार करने के बाद भी छोड़ दिया है।

लड़की कह रही है कि करीब 5 महीने बाद भी उसको न्याय नहीं मिला है, जबकि वह नाबालिग है और दलित समुदाय से आने वाली है। वायरल वीडियो में पीड़िता उसके साथ घटित घटना की सम्पूर्ण जानकारी दे रही है।

वायरल करने वाला खुद को असिस्टेंट प्रोफेसर बताता है

इस वीडियो को ट्विटर पर डॉ आशुतोष सिंह नामक व्यक्ति के ट्विटर अकाउंट से अपलोड किया गया है। यह अकाउंट असिस्टेंट प्रोफेसर का बताया गया है।

यह भी पढ़ें :  जयपुर चारदीवारी पूरी तरह सील, जयपुर में रामगंज बना कोरोना का गढ़, देखिए सरकार की जुबानी
Screenshot 20200517 130825 Twitter

जिसने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा, स्थानीय विधायक दानिश अबरार, राहुल गांधी, सवाई माधोपुर पुलिस अधीक्षक और राजस्थान पुलिस को भी टैग किया है, लेकिन अभी तक इस मामले में संज्ञान नहीं लेकर एक्शन नहीं लिया जाना कई गंभीर सवाल खड़े करता है।

यह है ट्वीट, जिसके साथ वीडियो भी लगा हुआ है-

सवाईमाधोपुर विधानसभा क्षेत्र गाँव सिणोली की नाबालिग़ दलित बलात्कार पीडिता (घटना दिनांक 31.01.2020) को न्याय नही मिला है, अपराधी खुले में घूम रहा है। तत्काल कार्यवाही हो। @ashokgehlot51 @PoliceRajasthan @RajSampark @danishabrar2016 @RahulGandhi @SPsawaimadhopur @DrKirodilalBJP https://t.co/86YmBJeooB

पहचान उजागर करना गैर कानूनी

यहां सवाल यह उठता है कि आखिर क्या कारण हैं कि नाबालिग दलित पीड़िता को पुलिस न्याय नहीं दिला पा रही है? और क्या कारण हैं कि गैर कानूनी होने के बाद भी वीडियो वायरल कर पीड़ित की पहचान उजागर करने वाले आरोपी के खिलाफ एक्शन नहीं लिया जा रहा है?

यह भी सोचनीय बात है कि मुख्यमंत्री, सांसद, विधायक, पुलिस अधीक्षक, राजस्थान पुलिस को ट्विटर के द्वारा जानकारी होने के बाद भी मामले में कोई कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है?

नोट: ट्विटर के सम्पूर्ण स्क्रीन शॉट वीडियो हमारे पास सुरक्षित हैं, जो सबूत के तौर पर रखे गये हैं।