डॉ. सतीश पूनियां ने प्रवासी श्रमिकों व उनके बच्चों के लिए पहनाये जूते-चप्पल

-भाजपा प्रदेश डॉ. सतीश पूनियां ने प्रवासी श्रमिकों के लिए ‘चरण पादुका’ अभियान का किया शुभारंभ
-प्रदेशभर में भाजपा कार्यकर्ता प्रवासी श्रमिकों के लिए कर रहे भोजन, पानी की भी व्यवस्था
-डॉ. सतीश पूनियां ने कोरोना योद्धाओं से मुलाकात कर पूछे हाल-चाल, बढ़ाया मनोबल

जयपुर।

प्रवासी श्रमिकों के लिए भाजपा का प्रदेशभर में चरण पादुका अभियान चल रहा है, जिसका शुभारंभ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने बगरू के दहमीकलां पहुंचकर किया, जहां उन्होंने प्रवासी श्रमिकों व उनके बच्चों को जूते एवं चप्पल पहनाकर किया।


डॉ. सतीश पूनियां ने बस्सी में भी प्रवासी मजदूरों को जूते- चप्पल पहनाये एवं भेंट किये, साथ ही वहां मौजूद भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी प्रवासी मजदूरों को जूते-चप्पल पहनाये।

इसके अलावा प्रवासी श्रमिकों के लिए भाजपा की तरफ राज्यभर में भोजन, पानी, मास्क, सैनेटाइजर की व्यवस्था भी की जा रही है।


इस दौरान रोडवेज बस में सवार प्रवासियों ने परिवहन को लेकर डॉ. सतीश पूनियां को समस्याएं बताईं तो उन्होंने मौके से ही अधिकारियों को फोन कर समस्या समाधान के लिए कहा।


डॉ. सतीश पूनियां ने प्रदेशवासियों, भामाशाहों, सभी पार्टियों के कार्यकर्ताओं व जनप्रतिनिधियों, सामाजिक संस्थाओं से अपील करते हुए कहा कि प्रवासी मजदूरों की भोजन, राशन, जूते-चप्पल इत्यादि के लिए मदद करते रहें, जिससे इनको राहत मिलती रहे और आसानी से ये लोग अपने घर पहुंच सकें।


उल्लेखनीय है कि महीनेभर से ज्यादा समय से जरूरतमंदों को भोजन, राशन सामग्री पहुंचाने को लेकर प्रदेशभर में भाजपा के राहत कार्य भी चल रहे हैं। इसके अलावा मास्क और सैनेटाइजर का वितरण भी किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें :  Video: बदमाश आनंदपाल के जयकारों में डूबे कांग्रेस उम्मीदवार


वहीं, मणिपाल यूनिवर्सिटी में क्वारेंटन सेंटर्स में सेवायें दे रहे कोरोना योद्धाओं से गुरुवार को डॉ. सतीश पूनियां ने मुलाकात कर उनके हाल-चाल पूछे, उनका मनोबल बढ़ाया, वहां की व्यवस्थायें देखीं, और उनकी मांगों को सरकार तक पहुंचाने का आश्वासन दिया।

डॉ. पूनियां का कहना है कि महामारी को हराने में जुटे सभी कोरोना योद्धा धन्यवाद के पात्र हैं, जो अपने परिवार से दूर रहकर सेवा में जुटे हैं।

इनके मान-सम्मान और बाकि अन्य जरूरतों का ध्यान रखना हम सभी की जिम्मेदारी है, जिसका हम ईमानदारी से पालन करें और ध्यान रखें।