जयपुर डेयरी ने पशुपालकों को 2.18 रुपये कम किये, उपभोक्ता के लिए दूध के बढ़ाए दाम

नेशनल दुनिया, जयपुर।

जयपुर डेयरी (सरस डेयरी) ने पशुपालकों को करारा झटका दिया है। पहले ही कोरोना वायरस के चलते दूध की खपत कम होने से किसान-पशुपालक काफी परेशान हैं।

कोविड-19 की वैश्विक महामारी के दौरान सरस के द्वारा दूध के दाम कम करने के कारण महंगे बांट-चारे की मार झेल रहे किसान-पशुपालकों के सामने नया संकट खड़ा हो गया है।

1.18 रुपये कर दिए कम

अब किसानों की आजीविका का एक साधन बना दूध उत्पादन भी उनके लिए भारी घाटे का सौदा हो रहा है। जयपुर डेयरी ने पिछले दिनों, मार्च माह में एक फेंट पर 7.43 रुपये से हटाकर अब एक फेंट पर केवल 6.25 रुपये मिल रहे हैं।

IMG 20200512 WA0006

लीटर के हिसाब से देखा जाए तो पूर्व में 6.25 पर भी 51.30 रुपये प्रति लीटर दिए जा रहे थे, जो जबकि अब 7.43 फेंट के बावजूद केवल 48.80 रुपये प्रति लीटर ही मिल रहे हैं। इसको फेंट के हिसाब से देखा जाए तो इससे किसान को 1.18 रुपये कम दिए जा रहे हैं।

IMG 20200512 WA0005

डॉ पूनियां ने शुरू करवाया था बोनस

इतना ही नहीं, अपितु पिछले साल के शुरुआत में विधानसभा सत्र में भाजपा अध्यक्ष और आमेर विधानसभा क्षेत्र से विधायक डॉ सतीश पूनियां की मांग पर राज्य सरकार ने किसानों को प्रति लीटर 2 रुपये बोनस के अतिरिक्त देने निर्धारित किये थे।

आमदनी शून्य से नीचे पहुंची

इसको भी जयपुर डेयरी ने घटाकर कर डेयरी ने एक रुपया कर दिया है। ऐसे में किसानों की प्रति लीटर 2.18 रुपयों का नुकसान हो रहा है। इसके चलते किसानों की आमदनी शून्य से नीचे पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें :  लालावाड़ा गांव में रात को पुलिस के बहाने हो रही है लूटपाट: विधायक डिंडोर

उपभोक्ता से वसूली जारी है

जयपुर डेयरी ने एक तरफ जहां पशुपालकों को दिए जाने वाली फेंट दर घटा दी है, वहीं उपभोक्ताओं के लिए डेयरी के द्वारा बेचे जाने वाले तीनों तरह के दूध की रेट बढ़ा दी गई है।

लॉग डाउन के वक्त डेयरी ने दूध एकत्रित करना किया कम

इतना ही नहीं, बल्कि जब 24 मार्च की रात को अचानक लॉक डाउन शुरू हुआ तो जयपुर डेयरी ने भी पशुपालकों से दूध एकत्रित करना कम कर दिया। जहां किसानों से पूरा दूध लिया जा रहा था, वहीं दूध लेना काफी कम कर दिया, उनको मना कर दिया गया।