राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों का किया दौरा, किसानों के बीच पहुंचकर जानें हालात

बाड़मेर : राजस्व मंत्री हरीश चौधरी अपने तीन दिवसीय दौरे के दौरान रविवार को गिड़ा पहुंचे। इस दौरान चौधरी ने इस क्षेत्र में टिड्डी क्षेत्रों के दौरे कर पीड़ित किसानों से मुलाकात की।
चौधरी ने प्रशासन को टिड्डी नियंत्रण के लिए माकूल प्रबंधन करने के निर्देश दिए। बाड़मेर जिले में कई समय से पाकिस्तान से आई टिड्डियों ने किसानों की फसलों पर आक्रमण कर रखा है। वहीं जिले के किसानों की फसलों को चौपट कर दिया गया है। किसान टिड्डियों के आक्रमण से बेहाल है। वे बार-बार केंद्र और राज्य सरकार से गुहार लगा रहे हैं कि इन टिड्डियों के हमलों से हमें बचाएं।
राजस्व मंत्री हरीश चौधरी रविवार को टिड्डी क्षेत्रों के दौरे पर पहुंच गए। चौधरी सुबह बालोतरा से निकलकर गिड़ा, सवाऊ पदमसिंह, भोमोणीयों की ढाणी, सवाऊ मूलराज व केसुम्बला टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर किसानों के हुए नुकसान की स्थिति की जानकारी ली।

राज्य सरकार गम्भीर
राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने कहा कि सीमावर्ती जिलों में टिड्डी नियंत्रण को लेकर राज्य सरकार गंभीर है और हरसंभव संसाधन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। कहा कि जिन किसानों की फसलों को नुकसान हुआ है, उन्हें विशेष गिरदावरी के निर्देश दे दिए गए हैं, जल्द ही किसानों को मुआवजा मिलेगा।

खुद राजस्व मंत्री ने किया छिड़काव
चौधरी ने किसानों के साथ टिड्डी का छिड़काव करने वाली मशीनरी से टिड्डी पर छिड़काव भी किया। साथ ही उन्होंने टिड्डी समूह से प्रभावित क्षेत्रों में टिड्डी समूह पर नियंत्रण के लिए संबंधित विभागों को पाबंद किया।
टिड्डी क्षेत्रों के दौरे करने के बाद चौधरी गिड़ा तहसील मुख्यालय पर अधिकारियों के साथ बैठक भी ली। इस दौरान गिड़ा तहसीलदार शिवजी राम बावरी, थानाधिकारी भंवरा राम, सवाऊ पदमसिंह सरपंच ओमप्रकाश अकबर, पटवारी रेवताराम, मोहरसिंह व हीराराम गोदारा सहित अन्य अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

530 हैरल में छिड़काव
कृषि उपनिदेशक जेआर भाखर ने बताया कि जिले में सर्वप्रथम 3 मई को जैसलमेर सीमा से शिव तहसील की जाणियो की बस्ती, पाबुमली, मोखाब, रामदेरिया मोतीडाड़ा और साजीतड़ा मे टिड्डी का आगमन हुआ और इसी दिन पाकिस्तान सीमा से गादरा रोड तहसील के लिए रवाना हुई। रोहीडाला ग्राम पंचायत के राजस्व गांव रेउवा का पार, सेहला, पिताकर, पांचला और रोहिणी में टिड्डी समूह का आक्रमण हुआ। उन्होंने बताया कि रविवार को जिले में कुल 530 हेक्टेयर क्षेत्र में टिड्डी नियंत्रण के लिए छिड़काव कार्य किया गया। उन्होंने बताया कि रविवार को गिड़ा तहसील क्षेत्र के चोखबंद की ढाणी में 40 और पचासऊ मूलराज में 20 हेक्टेयर क्षेत्र में छिड़काव कार्य किया गया।
इसी प्रकार से कुरड़वा तहसील क्षेत्र के बना प्राणियों की ढाणी मे 90 हेक्टेयर और तालसर में 40 हेक्टेयर क्षेत्र में टी नियंत्रण किया गया। वही पचपदरा के रिकेलाई ग्राम में 75 हेक्टेयर, सिंघाड़ी के करना में 95 हेक्टेयर और शिव के जुनेजा की बस्ती में 170 हेक्टेयर में छिड़काव कार्य किया गया। जिले में अब तक कुल 3215 हेक्टेयर क्षेत्र में भी नियंत्रण किया गया है।

यह भी पढ़ें :  राजस्थान के 6 जिलों में आज भारी बारिश की संभावना, अलर्ट जारी