मालपुरा में गैंगरेप की वारदात पर मौन क्यों है गहलोत सरकार, दोषियों पर हो कार्यवाही: डॉ. सतीश पूनियां

-भाजपा नेताओं के खिलाफ दर्ज केसों को लेकर डॉ. सतीश पूनियां ने साधा गहलोत सरकार पर निशाना, छोड़ी सादड़ी में पुलिस पर हमला शर्ममाक, गहलोत सरकार में थोड़ा भी ईमान बचा है तो मंत्री से लें इस्तीफा: डॉ. सतीश पूनियां
-कानून व्यवस्था के मामलों पर आंखों पर पट्‌टी बांधकर बैठी है राज्य सरकार : डॉ. सतीश पूनियां

नेशनल दुनिया, जयपुर।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने छोटी सादड़ी में पुलिस पर हमला और मालपुरा में गैंगेरेप की वारदात को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा है।


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि, कोरोना जैसी महामारी के दौरान राज्य सरकार प्रबंधन में फेल हो गई है, साथ ही कानून व्यवस्था के मोर्चे पर भी सरकार विफल है।


डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि मालपुरा (टोंक) गैंगरेप की वारदात कानून व्यवस्था फेल होने ही का प्रमाण है, प्रदेश में पिछले दिनों हुए अपराधों की लंबी फेहरिस्त है, प्रदेश में अपराध चरम पर है, ऐसे मामलों में राज्य सरकार किस तरह से लचर होकर एवं आंखों पर पट्‌टी बांधकर बैठी, पूरे प्रदेश की जनता देख रही है।


डॉ. पूनियां का कहना है कि, भाजपा के टोंक-सवाईमाधोपुर सांसद और मालपुरा के विधायक जब लोकतांत्रिक तरीके से अपनी बात कहते हैं तो उनकी बात को दबाने की कोशिश होती है।

उनके खिलाफ मुकदमे दर्ज किये जाते हैं, ऐसे ही 16 लोगों के खिलाफ मुकदमे दर्ज किये गये हैं, आमजन के हित में भाजपा की जायज बात को दबाया नहीं जा सकता, हम अपनी बात लोकतांत्रिक तरीके से उठाते रहेंगे।

img 20200509 wa00295577203240813135014


डॉ. पूनियां ने ट्वीट किया कि, राज्य में अशोक गहलोत जी की सरकार विरोधाभासों में चल रही है, गैंगरेप के दोषियों पर कार्यवाही की मांग करने पर सांसद-विधायक और कार्यकर्ताओं पर मुकदमे दर्ज करती है।

यह भी पढ़ें :  भारत का विभाजन एक बड़ी त्रासदी थी, नेहरू का प्रधानमंत्री बनना देश की दूसरी सबसे बड़ी भूल थी

चित्तौड़ में कैबिनेट मंत्री पुलिस पर हमले की अगुवाई करते हैं, सरकार का ईमान बचा है?

उन्होंने कहा कि मालपुरा गैंगरेप के मामले में राज्य सरकार क्यों मौन है, दोषियों के खिलाफ कार्यवाही क्यों नहीं की जा रही?

वहीं, प्रदेश अध्यक्ष डॉ. पूनियां ने छोटी सादड़ी की वारदात को लेकर कहा कि, राजस्थान सरकार के मंत्री उदयलाल आंजना एवं अन्य असामजिक तत्वों द्वारा पुलिस बल पर हमला निंदनीय है।

हम मुख्यमंत्री से मांग करते हैं कि पुलिस पर हमले के दोषी मंत्री से तुरंत इस्तीफा दिलवा कर दोषियों पर सख्त कार्यवाही की जाए।


डॉ. पूनियां का कहना है कि नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारियां ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है, जिसमें छोटी सादड़ी के कसुन्दा गांव में असमाजिक तत्वों के साथ मिलकर प्रदेश की कांग्रेस सरकार के कैबिनेट मंत्री ने पुलिस पर हमला किया है।


उन्होंने कहा कि एक तरफ तो पूरा देश, प्रदेश और पूरी दुनिया वैश्विक महामारी से लड़ रहे हैं, ऐसे समय में कोरोना योद्धा के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे पुलिसकर्मी अन्य कोरोना योद्धाओं पर हमला करना केवल निंदनीय ही नहीं, शर्मनाक भी है।

गहलोत सरकार में थोड़ा भी ईमान बचा हो तो नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री से जो मांग रखी है कि संबंधित दोषी मंत्री से तुरंत इस्तीफा लेना चाहिए।