लॉकडाउन में भी फुल फॉर्म में हैं डॉ. सतीश पूनियां, सोशल मीडिया का कर रहे बेहतर उपयोग

-लॉकडाउन में भी सोशल मीडिया के माध्यम से पूरे राजस्थान की जानकारी रखते हैं डॉ. सतीश पूनियां

नेशनल दुनिया, जयपुर।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ना केवल प्रदेश के आमजन से जुड़े हुए जमीनी मुद्दों पर पैनी नजर रखने वाले नेता हैं, बल्कि आमजन से जुड़े हुए मुद्दों के लिए सोशल मीडिया का भी बेहतर उपयोग करते हैं।


अपनी 40 साल की राजनीति में पार्टी में कई अहम जिम्मेदारियां संभालते हुए संघ पृष्ठभूमि के डॉ. सतीश पूनियां शुरुआत से ही कार्यकर्ता के रूप में कार्यकर्ताओं के साथ काम करते हुए जनसेवा को प्रमुखता देते रहे, जो आज भी उनकी कार्यशैली में है, इस बारे में प्रदेश का जनमानस बखूबी जानता है।


जनहित के सभी प्रमुख मुद्दों को सतीश पूनियां पार्टी व सामाजिक कार्यक्रमों के मंचों, मीडिया के अलावा आईटी एवं सोशल मीडिया के जरिये भी प्रमुखता से उठाने में हमेशा आगे रहते हैं।

सोशल मीडिया पर सतीश पूनियां की सक्रियता कई सालों से है और अब लॉकडाउन में भी सक्रियता बरकरार है, जिसके माध्यम से वे प्रदेश के लोगों, पार्टी कार्यकर्ताओं, नेताओं व जनप्रतिनिधियां से संवाद करते हैं।


ज्ञात सूत्रों के मुताबिक महीनेभर से अधिक समय से लॉकडाउन में भी प्रतिदिन भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां पार्टी की बैठकें एवं संवाद के लिए सोशल मीडिया का बेहतर उपयोग कर रहे हैं।

वे प्रतिदिन सुबह 10 बजे पार्टी के प्रमुख लोगों से जुड़ते हैं, फिर बाकि संवाद के कार्यक्रमों के मुताबिक दिनभर पार्टी के राहत कार्यों व समीक्षा को लेकर प्रदेशभर से पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं से फीडबैक लेते हैं।

यह भी पढ़ें :  जनता ने राजभवन घेर लिया तो हमारी जिम्मेदारी नहीं, हाईकोर्ट के आदेश के बाद राजस्थान में फिर गर्माया सियासी पारा

फिर केन्द्रीय नेतृत्व को संवाद के दौरान प्रदेश में चल रहे पार्टी के राहत-कार्यों एवं हालात से अवगत कराते हैं।

बता दें कि सतीश पूनियां फेसबुक, ट्विटर सहित कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का संवाद के लिए बेहतर उपयोग कर रहे हैं।


गुरुवार की बात करें तो सतीश पूनियां ने सुबह 10 बजे पार्टी प्रमुखों से जुड़ने के बाद 11.30 से 1.30 बजे तक युवा आह्वान कार्यक्रम को संबोधित किया।

फिर 2.00 से 3.30 बजे तके विदेश राज्यमंत्री वी. मुरलीधर के साथ संवाद किया और प्रवासी राजस्थानी छात्रों को भारत लाने के लिए छात्रों एवं अभिभावकों से संवाद किया।

सतीश पूनियां ने विदेश राज्य से यह संवाद राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री वी सतीश के साथ किया।


फिर शाम शाम 5 से 8 बजे तक डॉ. सतीश पूनियां ने भाजपा राजस्थान के प्रदेश पदाधिकारी, संभाग प्रभारी एवं जिला अध्यक्षों के साथ संगठन निर्माण एवं राहत कार्यों हेतु कार्य योजना पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया।

जिसमें प्रदेश संगठन महामंत्री श्री चंद्रशेखर ने भी चर्चा की। इसके अलावा दिनभर वीडियो कांफ्रेंसिंग के अंतराल में मोबाइल से प्रदेशभर के पार्टी नेताओं, कार्यकर्ताओं एवं केन्द्रीय स्तर के नेताओं से संवाद चलता रहा।


उल्लेखनीय है कि जानकार बताते हैं कि लॉकडाउन से पहले प्रदेश अध्यक्ष बनने के कुछ महीनों के दौरान ही सतीश पूनियां 30 से अधिक जिलों व करीब 140 विधानसभा क्षेत्रों में कार्यक्रम को संबोधित कर पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं से संवाद कर चुके हैं और इस दौरान प्रदेश के काफी बड़े हिस्से में जनहित के मुद्दों एवं सियासी नब्ज भी टटोल चुके हैं।

यह भी पढ़ें :  सीबीआई जांच के बहाने रालोपा ने दिखाई अपनी पुरानी ताकत


उसी तरह लॉकडाउन में भी सतीश पूनियां प्रदेश के हर जिले, हर मंडल एवं बूथों तक वीडिया कांफ्रेंसिंग या ऑडियो ब्रिज के माध्यम से संवाद कर राहत कार्यों एवं मुद्दों की जानकारी लेते रहते हैं।

कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने में हमेशा आगे रहते हैं, जिसका ही यह सकारात्मक नतीजा है कि प्रदेशभर में एक करोड़ से अधिक भोजन के पैकेट, 35 लाख से अधिक राशन के पैकेट वितरित हो चुके हैं।

43 करोड़ से अधिक राशि पीएम केयर्स फंड में जमा हो चुकी है, लाखों फेस केवर वितरित हो चुके हैं, कई लाख लोग आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कर चुके हैं और राहत कार्य का सिलसिला लगातार जारी है।

साथ ही प्रदेश भाजपा कार्यालय में प्रदेश के लोगों व प्रवासियों के लिए अलग-अलग हेल्पलाइन संचालित हैं, जिन पर कॉल करने वाले लोगों की समस्या समाधान की दिशा में काम अनवरत चल रहा है।