राजस्थान में कोरोना: अशोक गहलोत का गृह जिला जोधपुर ही सबसे ज्यादा असुरक्षित नजर आ रहा है!

नेशनल दुनिया, जयपुर/जोधपुर।

कोविड-19 की वैश्विक महामारी के चलते राजस्थान की राजधानी जयपुर में 52 लोगों की मौत हो चुकी है। मौत के आंकड़ों के मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का गृह जिला जोधपुर दूसरे नंबर पर है, यहां पर भी अभी तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है।

पिछले 1 सप्ताह की रिपोर्ट का आकलन किया जाए तो राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का गृह जिला, यानी जोधपुर ही सबसे ज्यादा असुरक्षित नजर आ रहा है। इसी जिले में पिछले 1 हफ्ते के दौरान मरीजों की संख्या सर्वाधिक बढ़ी है।

screenshot 20200507 171121 adobe acrobat3128054552288194987.
दोपहर 2 बजे तक की सरकारी रिपोर्ट।

गुरुवार को दोपहर 2:00 बजे तक की रिपोर्ट के आधार पर जोधपुर में 834 मरीज कोरोनावायरस के पॉजिटिव मिल चुके हैं। आज ही 22 नए रोगी मिले, जबकि यहां पर करीब 1 महीने पहले ही कलेक्टर की तरफ से अर्धसैनिक बलों से सुरक्षा की मांग की जा चुकी है।

राजस्थान की राजधानी जयपुर अभी भी पूरे राज्य में मरीजों और मृतकों के मामले में एक नंबर पर बनी हुई है। यहां पर आज की तारीख में 52 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि कोरोनावायरस के पॉजिटिव मरीजों की संख्या दोपहर 2:00 बजे तक 1103 है।

राज्य सरकार के मुताबिक दोपहर 2:00 बजे तक 1740 मरीज ठीक हो चुके हैं जिनमें 1284 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है, हालांकि पूरे राजस्थान में अब तक 95 लोगों की मौत भी हो चुकी है।

राज्य सरकार के मुताबिक पूरे प्रदेश में अभी तक रिकवर होने वाले मरीजों का औसत 28 है, जो कि पूरे भारत में सर्वाधिक राजस्थान में ही है। राज्य सरकार इसको अपनी कामयाबी बता रही है।

यह भी पढ़ें :  कैलाश चंद मेघवाल के दौड़ में जोगेश्वर गर्ग को बनाया विपक्ष का सचेतक