मंड़ी शुल्क को लेकर किसानों में रोष, आढतियों ने दूसरे दिन भी बंद रखा कारोबार

मंड़ी शुल्क को लेकर किसानों में रोष, आढतियों ने दूसरे दिन भी बंद रखा कारोबार

नेशनल दुनिया, जयपुर।
राजस्थान सरकार के द्वारा कृषि उपज मंड़ियों के कारोबार पर 2 फीसदी मंड़ी शुल्क लगाए जाने का विरोध चरम पर है। सरकार के द्वारा अपने बजट में इसकी घोषणा की गई थी, जिसके बाद इस शुल्क को लागू करने के लिए सरकार ने मंगलवार को नोटिफिकेशन जारी किया था।

इसके कारण आढ़तियों ने कारोबार बंद कर दिया था। आज दूसरे दिन भी प्रदेश की 247 कृषि उपज मंड़ियों में व्यापारियों ने खरीद—बेचान नहीं किया। इसके चलते किसानों को निराश होना पड़ रहा है।

इधर, सरकार को कहना है कि यह शुल्क किसानों पर नहीं है, बल्कि कारोबार के उपर है। इसलिए व्यापारियों को किसानों से माल खरीदना ही पड़ेगा। व्यापारियों ने कारोबार अगले पांच दिन ​के लिए बंद कर रखा है।

सरकार शुल्क लगाकर मस्त है, तो कारोबारियों ने खरीद बंद कर रखी है। इसको खामियाजा किसानों को उठाना पड़ रहा है। किसान मंड़ियों में अपनी उपज ले जा रहे हैं, किंतु वहां पर खरीद करने वाला कोई नहीं है। ऐसे में अंतत: मार किसान के उपर ही पड़ रही है।

यह भी पढ़ें :  कांग्रेस घोषणा पत्र: कांग्रेस जो घोषणा की, वह योजनाएं पहले से चल रही है- BJP