राजस्थान में कांग्रेस सरकार की विद्वेष की राजनीति बेनकाब, सत्य की जीत हुई: डॉ. पूनियां

-प्रदेश में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के खिलाफ कांग्रेसियों द्वारा दर्ज एफआईआर पर रोक, सत्य की जीत: डॉ. सतीश पूनियां
-विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के केन्द्र सरकार के निर्णय का स्वागत: डॉ. सतीश पूनियां
-विदेशों से प्रदेश के श्रमिक और विद्यार्थी भी लौट सकेंगे अपने घर: डॉ. सतीश पूनियां
-आमेर विधानसभा क्षेत्र में जरूरतमंदों को प्रतिदिन भोजन व राशन उपलब्ध करा रही सहयोग किचन

नेशनल दुनिया, जयपुर।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के खिलाफ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा दर्ज एफआईआर पर जोधपुर उच्च न्यायालय की रोक का स्वागत करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि इससे कांग्रेस की विद्वेष की राजनीति बेनकाब हुई है और सत्य की जीत हुई है।


डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि जनहित के सभी मोर्चों पर विफ़ल साबित हुई अशोक गहलोत सरकार अपने कांग्रेसी कार्यकर्ताओं से विपक्ष के नेताओं पर झूंठे मुकदमे दर्ज कर डराना चाहती है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और आईटी विभाग के प्रमुख अमित मालवीय के खिलाफ केवल इसलिए मुकदमा दर्ज करवा दिया गया की, उन्होंने प्रदेश की कांग्रेस सरकार के कारनामों की पोल खोली थी और ये सब कांग्रेस के आला नेताओं की शह पर हुआ।


डॉ. पूनियां ने कहा कि एक तरफ प्रधानमंत्री मोदी विपक्ष के शासन वाली राज्य सरकारों को भी इस विपत्ति में बिना भेदभाव के भरपूर मदद कर रहे हैं।

दूसरी तरफ प्रदेश सरकार जनता की सेवा में रात दिन लगे भाजपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं पर मुक़दमे कर उनकी आवाज़ को दबाने की नाकाम कोशिश कर रही है।

यह भी पढ़ें :  जयपुर से नागौर तक चले बेनीवाल के रोड शो के काफिले ने ज्योति मिर्धा को चौंकाया

राज्य में कोरोना संकट के समय सेवा कार्यों में लगे दो विधायकों और दर्जनों कार्यकर्ताओं के खिलाफ विभिन्न धाराओं में पूरे प्रदेश में मुकदमे दर्ज करवाकर सरकार डरा रही है।

लेकिन भाजपा का कार्यकर्ता सरकार के डराने से डरने वाला नहीं है। इस अन्यायी सरकार की हर जनविरोधी नीति के खिलाफ मुखरता से आवाजज उठाएगा।

डॉ. सतीश पूनियां ने 7 मई से विदेशों में फंसे भारतीय श्रमिकों, विद्यार्थियों , सहित अन्य लोगों को वापस भारत लाने के केन्द्र सरकार के निर्णय का स्वागत किया है।


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. पूनियां ने कहा कि मंगलवार को हुई वीडियो कांफ्रेंसिंग में विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन से विदेशों में फंसे राजस्थान के श्रमिकों, विद्यार्थियों को वापस लाने की मांग की थी।

अब देशभर के लोग वापस लाए जा सकेंगे, जिसमें बड़ी संख्या में प्रदेश के श्रमिक और विद्यार्थी अपने घर लौट पाएंगे।


डॉ. पूनियां ने कहा कि मोदी सरकार हर भारतीय के हितों को लेकर सजग है, पहले देश में अलग-अलग राज्यों में फंसे प्रवासियों के लिए 62 स्पेशल ट्रेन चलाई, जिनमें अभी तक 70 हजार प्रवासियों को वापस लाया गया, लोगों को जल्दी उनके घरों तक पहुंचाने के लिए मंगलवार को 13 ट्रेन और बढ़ा दी हैं।


वहीं, मंगलवार को आमेर विधानसभा क्षेत्र में सहयोग किचन के माध्यम से से आमेर के कर्फ्यूग्रस्त इलाके पीली की तलाई में जरूरतमंदों को भोजन व राशन सामग्री उपलब्ध करवाई।

डॉ. पूनियां ने प्रदेशभर के पार्टी नेताओं, जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओं से अपने सामर्थ्यनुसार जरूरतमंदों को भोजन व राशन सामग्री उपलब्ध कराने की अपील की।

उल्लेखनीय है कि महीनेभर से अधिक समय से सहयोग किचन के माध्यम से आमेर विधानसभा क्षेत्र में जरूरतमंदों को भोजन व राशन सामग्री पहुंचाई जा रही है और इसी तर्ज पर प्रदेशभर में भाजपा की तरफ से 600 से अधिक सामुदायिक रसोइयां जरूरतमंदों की सहायता के लिए संचालित हैं।

यह भी पढ़ें :  सतीश पूनियां बने भाजपा अध्यक्ष


प्रदेश अध्यक्ष डॉ. पूनियां ने आमेर विधानसभा क्षेत्र में कोरोना संक्रमण काल के दौरान उत्पन्न हुई पानी एवं अन्य मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति जैसी समस्याओं के त्वरित समाधान हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।