दूसरे राज्यों से आने वाले श्रमिकों के लिए राजस्थान सरकार उठाएगी कड़े कदम

-आने वाले अप्रवासी राजस्थानियों को क्वारेंटाइन पीरियड का कड़ाई से करना होगा पालन-चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री

जयपुर, 01 मई।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. रघु शर्मा ने बताया कि राज्य के बाहर से आने वाले अप्रवासी राजस्थानी और अप्रवासी श्रमिकों को 14 दिन का क्वारेंटाइन पीरीयड का कड़ाई से पालन करना होगा। किसी भी कीमत पर क्वारेंटाइन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

डाॅ. शर्मा ने बताया कि देश के बाहर रहने वाले लगभग 10 लाख लोगों ने राजस्थान में आने के लिए सरकार द्वारा जारी नंबर और पोर्टल के जरिए पंजीयन कराया है।

उन्होंने बताया कि बाहर से आने वाले प्रवासियों की स्क्रीनिंग से भी उनके पाॅजीटिव होने का पता लगा मुश्किल है क्योंकि बिना लक्षण भी मरीज पाॅजीटिव आ रहे हैं।

ऐसे में संबंधित जिला कलेक्टर्स उनकी होम क्वारेंटाइन या सरकारी क्वारेंटाइन करने की व्यवस्था करने के बाद ही क्षेत्र में भेजेंगे।

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि देश के अन्य राज्यों में बस रहे राजस्थानियों को वापस घर में लाने के लिए मुख्यंमत्री ने प्रधानमंत्री को उन्हें ट्रेन के जरिए लाने का आग्रह किया था। भारत सरकार ने इसकी अनुमति दे दी है।

प्रदेश के मुख्य सचिव के साथ रेलवे के अधिकारियों की बातचीत चल रही है। अंतिम निर्णय होने के बाद सभी अप्रवासियों को डेस्टिनेशन टू डेस्टिनेशन लाया जाएगा।

डाॅ. शर्मा ने बताया कि ग्रामीणों को कोई परेशानी ना हो तो स्थानीय टीम की निगरानी में उन्हें होम क्वारेंटाइन में रखा जा सकता है और यदि ग्रामीणों का विरोध हो तो गांव के बाहर सरकारी भवन में क्वारेंटाइन में रखा जाएगा।

यह भी पढ़ें :  राम मंदिर के लिए 21 अक्टूबर को अयोध्या जाएंगे यह हिंदू नेता-

जो गरीब और बेसहारा हैं उनके लिए भी सरकारी क्वारेंटाइन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए जा चुके हैं।

उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले किसी भी व्यक्ति को 14 दिन का होम या सरकारी क्वारेंटाइन पीरीयड का पालन करना ही होगा। उन्होंने कहा कि किसी भी सूरत में राज्य को संक्रमित नहीं होने दिया जाएगा।