राजस्थान के विश्वविद्यालयों में इस बार नहीं होंगे छात्रसंघ चुनाव

नेशनल दुनिया, जयपुर।

राजस्थान विश्वविद्यालय समेत राजस्थान के तमाम सरकारी और प्राइवेट विश्वविद्यालयों में प्रतिवर्ष होने वाले छात्रसंघ चुनाव इस बार नहीं होंगे।

इसके साथ ही सभी विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में प्रतिवर्ष ग्रीष्मकालीन अवकाश दिया जाता था, उसको भी पूरी तरह से सस्पेंड कर दिया गया है।

तीसरा महत्वपूर्ण फैसला करते हुए सभी विश्वविद्यालयों में समान पाठ्यक्रम बनाने और सभी छात्रों को ईमेल, मैसेज और व्हाट्सएप के जरिए समय पर जानकारी देने की भी अनुशंसा की गई है।

राज्यपाल और कुलाधिपति कलराज मिश्र की तरफ से उच्च शिक्षा के लिए बनाई गई कुलपतियों के टास्क फोर्स कमेटी ने अनुशंसाएं की हैं, जिनमें सबसे महत्वपूर्ण छात्र संघ चुनाव नहीं करवाने की बात कही गई है।

टास्क फोर्स कमेटी की अनुशंसा के आधार पर राज्यपाल कलराज मिश्र की तरफ से इसका सर्कुलर जारी कर दिया गया है। सभी विश्वविद्यालयों में अब समान पाठ्यक्रम होगा, जिसके चलते इंटर यूनिवर्सिटी चेंजेज और कोर्सेज आसानी से अपनाए जा सकेंगे।

उल्लेखनीय है कि कोविड-19 की वैश्विक महामारी को देखते हुए राज्यपाल और कुलाधिपति कलराज मिश्र ने बीते दिनों उच्च शिक्षा में परिवर्तन के लिए कुलपतियों की एक टास्क फोर्स कमेटी का गठन किया था, जिसकी अनुशंसा सामने आ गई है।

प्रदेश के सभी 26 विश्वविद्यालयों, जो कि सरकारी हैं। इसके साथ ही कई निजी विश्वविद्यालयों और तमाम महाविद्यालयों में इस बार छात्र संघ चुनाव का सपना देख रहे छात्र नेताओं को इस सपने से महरूम रहना होगा।

सभी विश्वविद्यालयों को अपनी वेबसाइट डेवलप डेवलप करने और उस पर तमाम कोशिश को अपलोड करने, तमाम छोटी-बड़ी सूचनाएं तुरंत प्रभाव से अपडेट करने और स्टूडेंट की सभी जानकारी अपडेट करने को कहा गया है।

यह भी पढ़ें :  बीते 20 साल में एक बार भी 100 विधायक नहीं जिता पाई कांग्रेस-