बायतू जलदाय विभाग के कार्यालयों का मुख्यालय परिवर्तित

-राजस्व मंत्री हरीश चौधरी के प्रयासों से आमजन को मिलेगी राहत।
बायतू/बाड़मेर:

बायतू विधानसभा क्षेत्र के विभागीय कार्यो के प्रभावी एवं सुचारू रूप से क्रियान्वयन के लिए बाड़मेर जिले के जलदाय विभाग कार्यालयों का मुख्यालय परिवर्तित करते हुए उनके कार्य क्षेत्र विभाजन की स्वीकृति राजस्व मंत्री हरीश चौधरी के प्रयासों से की गई। इससे आमजन को राहत मिलेगी।


जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के शासन उप सचिव राजेद्र शेखर मक्कड़ की ओर से जारी किए आदेष के मुताबिक वर्तमान में कार्यरत जिला खंड उत्तर बाड़मेर एंव उसके अधीन कार्यरत उपखंड कार्यालयों का पुनगर्ठन पश्चात कार्य क्षेत्र परिवर्तित किया गया है।

इसके तहत अधिषाषी अभियंता बायतू के अधीन सहायक अभियंता गिड़ा के अधीन कनिष्ठ अभियंता उंडू का कार्य क्षेत्र वर्तमान व्यवस्था के अधीन रहेगा। जबकि कनिष्ठ अभियंता पाटोदी से स्थानांतरित होकर खोखसर किया गया है।

इसमें पाटोदी की 21 ग्राम पंचायतों शामिल रहेगी। इसी तरह कनिष्ठ अभियंता हीरे की ढाणी का कार्य क्षेत्र यथावत रहेगा।

जबकि कनिष्ठ अभियंता गिड़ा को कनिष्ठ अभियंता द्वितीय में स्थानांतरित, सहायक अभियंता बायतू के अधीन 41 ग्राम पंचायतो के लिए कनिष्ठ अभियंता बायतू प्रथम का नाम परिवर्तित कर कनिष्ठ अभियंता बायतू किया गया है।

इसी तरह कनिष्ठ अभियंता बायतू द्वितीय कनिष्ठ अभियंता अनुभाग से कवास से स्थानांतरित, पाटोदी पंचायत समिति क्षेत्र की ग्राम पंचायत कालेवा, रिछोली, साजियाली पदमसिंह, साजियाली रूपजी राजाबेरी, सांभरा , बड़नावा जागीर, भगवानपुरा, भाखरसर,चिलानाडी, केषरपुरा, खनोडा, नवातला, नवोड़ा बेरा, नवापुरा, ओकातिया बेरा, पाटोदी, सांगड़ा नाडी, बागावास, बाणियावास, दुर्गापुरा, सिमरखिया के लिए पुर्नगठन के बाद सहायक अभियंता गिड़ा एवं कनिष्ठ अभियंता पाटोदी का कार्यालय निर्धारित किया गया है।

यह भी पढ़ें :  राजस्थान में कोरोना: अशोक गहलोत का गृह जिला जोधपुर ही सबसे ज्यादा असुरक्षित नजर आ रहा है!

सहायक अभियंता पचपदरा की ओर से संधारित की जा रही 21 ग्राम पंचायतों में कार्यरत योजनाओं पर कार्मिक यथावत कार्य करेंगे। लेकिन इनके नियंत्रण अधिकारी सहायक अभियंता पचपदरा के स्थान पर सहायक अभियंता गिड़ा होंगे, इसी प्रकार सहायक अभियंता उपखण्ड बायतु में 3 कनिष्ठ अभियंता अनुभाग शामिल होंगे।

जिसमें कनिष्ठ अभियंता अनुभाग बायतु-प्रथम (अनुभाग बायतु का परिवर्तित नाम), कनिष्ठ अभियंता अनुभाग बायतु-द्वितीय (अनुभाग कवास से स्थानांतरित) तथा कनिष्ठ अभियंता अनुभाग भीमड़ा शामिल होंगे।