रैपिड टेस्ट किट कोरोनावायरस जांच में फेल, चीन से मंगवाई थी लाखों किट

covid-19 repid test kit
covid-19 repid test kit

जयपुर।
राजस्थान सरकार ने आज भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद को पत्र लिखकर रैपिड टेस्ट किट को काम नहीं लिए जाने की जानकारी दे दी है। यह किट बीते दिनों ही चीन से मंगवाई गई थीं।

राजस्थान सरकार के चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने इसकी जानकारी देते हुए कहा है कि किट को मंगवाने के पीछे उद्देश्य साफ था कि इस किट से जल्दी जांच हो जाए और पता चल जाए कि कितने रोगी पॉजिटिव हैं, ताकि समय पर उपचार किया जा सके।

अब राज्य सरकार ने साफ किया है कि पहले ही दिन कसौटी पर फेल हुई इस किट को लेकर डॉक्टरों ने अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी है। जिसके बाद इस चाइनीज किट से टेस्ट किए जाने बंद कर दिए गए हैं।

आपको बता दें कि कोरोनावायरस की जांच के लिए लाखों की तादात में किट चीन से मंगवाई गई थीं। लेकिन राज्य में अब तक करीब 4000 टेस्ट करने के बाद सरकार इसको काम में लेने से बैक हो गई है।

एसएमएस मेडिकल कॉलेज के डॉ. लोकेंद्र शर्मा कहते हैं कि इस जांच किट से भले ही हाथों हाथ रिपोर्ट मिल जाती हो, लेकिन जब लक्षण नहीं होते हैं, तब यह किट नेगेटिव दिखाती है, जबकि कई मरीज ऐसे हैं, जिनको लक्षण नहीं हैं, फिर भी पॉजिटिव हैं।

ऐसे में कहा जा रहा है कि चीन की तरफ से एक बार फिर से दुनिया को धोखा दिया गया है। भारत सरकार ने इसको लेकर चाइना के सामने आपत्ति दर्ज करवाई है। कहा जाता है कि कोरोनावायरस चीन का जैविक हथियार है। और अगर यह सही है, तो फिर टेस्टिंग किट भी चीन फर्जी बनाकर दे रहा है, ताकि यह वायरस अपना काम करता रहे।

यह भी पढ़ें :  पीएम मोदी ने भारत द्वारा बनाई जा रही कोरोना वैक्सीन की तारीख बताई, जानिए कब आएगी?