पूरा देश जानता है कि तबलीगी जमात के कारण भारत में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैला: डॉ. सतीश पूनियां

भाजपा विधायकों-कार्यकर्ताओं पर मुकदमे दर्ज कर विपक्ष की आवाज को दबाना चाहती है कांग्रेस सरकार: डॉ. सतीश पूनियां
मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र में तीन थाना क्षेत्रों में लगा है कर्फ्यू, आंकड़े छुपा रही है सरकार: डॉ. सतीश पूनियां
गहलोत सरकार के डराने से डरेंगे नहीं भाजपा नेता-कार्यकर्ता: डॉ. सतीश पूनियां
पूरा देश जानता है कि तबलीगी जमात के कारण भारत में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैला: डॉ. सतीश पूनियां
जोधपुर कलेक्टर ने की थी BSF और CRPF की मांग, कट्‌टरपंथियों के आगे गहलोत सरकार ने टेके घुटने: डॉ. सतीश पूनियां
पाक विस्थापित परिवारों को भी आर्थिक मदद व राहत सामग्री उपलब्ध कराए राज्य सरकार: डॉ. सतीश पूनियां
रामगंज, कोटा की तरह जोधपुर में भी आंकड़े छुपा रही है गहलोत सरकार: डॉ. सतीश पूनियां
जयपुर, 18 अप्रैल।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने भाजपा के विधायकों और कार्यकर्ताओं पर दर्ज किए मुकदमों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार विपक्ष की आवाज को दबाना चाहती है, लेकिन सरकार के डराने से भाजपा के नेता-कार्यकर्ता नहीं डरेंगे।

सतीश पूनियां ने कहा कि कोरोना संक्रमित क्षेत्रों में लॉकडाउन का पालन करवाने में विफल प्रदेश की कांग्रेस सरकार जनता की आवाज उठाने वाले विपक्ष के जनप्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं पर बदले की कार्यवाही कर रही है।

पूनियां ने कहा कि सारा देश जानता है कि तबलीगी जमात के कारण भारत में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैला, राजस्थान में जो मामले सामने आ रहे हैं, उनमें ज्यादातर जमात से जुड़े या उनके सम्पर्क में आये लोग हैं, अगर भाजपा विधायक मदन दिलावर ने जमातियों के सच को उजागर किया तो उनके ऊपर मुकदमा दर्ज कर लिया।

यह भी पढ़ें :  Iron Lady of BJP: इनकी जिद के आगे सब नतमस्तक!

भाजपा विधायक अशोक लाहोटी ने एक समुदाय विशेष के संक्रमित लोगों को मिल रहे वीआईपी ट्रीटमेंट के बारे में कहा तो उन पर मुकदमा दर्ज कर दिया, भाजपा विधायक सुरेश रावत ने अपने विधायक कोष से स्वीकृत राहत सामग्री का वितरण किया तो उनके ऊपर लॉकडाउन के उल्लंघन का आरोप लगाकर नोटिस दे दिया, जबकि चित्तोड़गढ में 4 दिन पहले सत्तारूढ़ पार्टी के एक विधायक को लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर रोकने वाली महिला अधिकारी का सरकार ने तबादला कर दिया। गहलोत सरकार के दोहरे चरित्र का ये सबसे बड़ा उदाहरण है।

कांग्रेसी विधायकों और मंत्रियों के इशारों पर अजमेर, दौसा , उदयपुर, कोटा, गंगानगर, बाड़मेर और जोधपुर में सरकार के भेदभाव और तबलीगी जमात के खिलाफ बोलने पर भाजपा कार्यकर्ताओं पर मुकदमे दर्ज किए गए हैं, कुछ जगह तो कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि, भीलवाडा को लेकर झूठी वाह-वाही लूटने वाली सरकार कोटा, भरतपुर, टोंक रामगंज के बाद जोधपुर में बोट बैंक के चक्कर में कट्टरपंथियों के सामने घुटने टेकते हुए नजर आ रही है ,जोधपुर में कलेक्टर 12 अप्रैल को BSF और CRPF की मांग करते हैं और प्रदेश सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए कलेक्टर पर दबाव डालकर पत्र वापस करवा लेती है।

हालात का अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि मुख्यमंत्री के खुद के विधानसभा क्षेत्र के तीन थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा हुआ है, एक संभावना यह जताई जा रही है कि यदि सही आंकड़े उजागर किये जाएं तो अकेले सरदारपुरा में भी 100 से ज्यादा संक्रमित मिलेंगे, लेकिन सरकार रामगंज और कोटा की तर्ज पर यहां भी आंकडे छुपा रही है, क्योंकि सर्वाधिक लॉकडाउन का उल्लंघन भी यहीं हो रहा है, जिसके चलते हालात बिगड़ रहे हैं और इसी वजह से कलेक्टर ने CRPF और BSF की मांग की है।

यह भी पढ़ें :  RLP के तीनों विधायकों ने बजट का किया बहिष्कार, सदन के बाहर बैठे धरने पर

पूनियां ने कहा की भाजपा विपक्ष की अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभा रही है, पूरे प्रदेश में भाजपा के नेता और कार्यकर्ता बिना किसी जाति-धर्म देखे सेवा और राहत के कामों में लगे हुए हैं, लेकिन सरकार जनता का धर्म देखकर राशन- भोजन बांट रही है ।

स्वास्थ्यकर्मी और पुलिसकर्मी जो कि अपनी ज़िंदगी दांव पर लगा कर इस ख़तरनाक वायरस से हमें बचा रहे हैं, उनके ऊपर हमले होते है और आकंठ तक तुष्टिकरण में डूबी सरकार ऐसे अपराधियों पर सख़्त कार्यवाही नहीं करती है और कोई विपक्ष का जनप्रतिनिधि उसकी पोल खोलता है तो उस पर मुकदमा दर्ज कर लिया जाता है।

उन्होंने कहा कि, कोरोना से निपटने में विफल होने पर नाकामी छुपाने और राजनैतिक विद्वेष के जरिए विधायकों और कार्यकर्ताओं पर बेवजह मुकदमे दर्ज करके राज्य सरकार डराने की नाकाम कोशिश कर रही है।

वहीं, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पूनियां ने प्रदेश के हर जरूरतमंद आमजन को राहत सामग्री उपलब्ध कराने की राज्य सरकार से मांग करते हुए प्रदेश में निवास कर रहे पाक विस्थापितों के लिए भी सरकार से राहत सामग्री उपलब्ध कराने की मांग की है।

सतीश पूनियां ने कहा कि, प्रदेश सरकार ने भले ही इन पाक विस्थापित परिवारों की मदद के लिए घोषणा की हो, लेकिन किसी भी योजना से नहीं जुड़े इन परिवारों तक ना तो आर्थिक मदद पहुंची है और ना ही खाद्यान्न से जुड़ी कोई उचित तरीके से मदद मिल रही है।

उन्होंने गहलोत सरकार से पाक विस्थापितों को आर्थिक मदद व राहत सामग्री उपलब्ध कराने की मांग की है।

यह भी पढ़ें :  भतीजा सिंधिया संघ की शरण में, बुआजी राजे भाजपा कार्यालय में

पूनियां ने कहा कि, इस आपदा के समय आमजन के साथ पाक विस्थापित परिवारों की मदद करना युगधर्म है और प्रदेश सरकार को इसे गंभीरता से निभाना चाहिए।

वहीं, शनिवार को बगरू विधानसभा क्षेत्र के बगरू देहात (पूर्व )मंडल अध्यक्ष मुकेश चौधरी ने 51000 रुपये पीएम केयर्स फंड के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर चेक के रूप में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां को प्रदान किया, साथ में गिर्राज मीणा (मंडल अध्यक्ष) छोटू सिंह जिला महामंत्री उपस्थित रहे।