रामगंज हो या जोधपुर, मुख्यमंत्री कर रहे हैं तुष्टिकरण की राजनीति: डॉ. सतीश पूनियां

भीलवाड़ा मॉडल का क्रेडिट मुख्यमंत्री का नहीं, वहां के प्रशासन, चिकित्साकर्मी, पुलिसकर्मी व आमजन का है: डॉ. सतीश पूनियां
फसल भुगतान को लेकर केन्द्र सरकार ने किसानों के लिए बड़ा फैसला : डॉ. सतीश पूनियां
जयपुर खतरे के निशान पर, मुख्यमंत्री वोट बैंक को लेकर तुष्टिकरण की राजनीति कर रहे हैं: डॉ. सतीश पूनियां
कोरोना को लेकर जयपुर खतरे के निशान पर, मुख्यमंत्री लीपापोती क्यों कर रहे हैं: डॉ. सतीश पूनियां
मुख्यमंत्री रामगंज को लेकर खुलासा करें, वहां हालात क्यों नियंत्रण में नहीं हो रहे: डॉ. सतीश पूनियां
स्वास्थ्य के लिए डिस्ट्रिक्ट मिनरल फाउंडेशन फंड का पैसा खर्च क्यों नहीं कर रही राज्य सरकार: डॉ. सतीश पूनियां
भाजपा ने प्रदेशभर में 60 लाख से अधिक भोजन के पैकेट वितरित किए, 22 लाख से अधिक राशन सामग्री के पैकेट: डॉ. सतीश पूनियां
पीएम केयर्स फंड में प्रदेशभर से 15 करोड़ से अधिक का योगदान, भाजपा ने 8 लाख से अधिक फेस कवर किए वितरित: डॉ. सतीश पूनियां

जयपुर, 16 अप्रैल। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए प्रेस वार्ता कर केन्द्र सरकार द्वारा राजस्थान को दी गई सहायता राशि के बारे में विस्तार से जानकारी दी, जिसको लेकर उन्होंने कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी जी की सरकार सभी राज्यों पर विशेष ध्यान दे रही है, भरपूर मदद कर रही है, संसाधन उपलब्ध करा रही है, और राजस्थान को जो आर्थिक मदद दी है, उससे पूरे प्रदेश को मजबूती मिलेगी।

साथ ही प्रदेश भाजपा के कार्यकर्ताओं द्वारा किए जा रहे राहत कार्यों के बारे में बताया। डॉ. सतीश पूनियां ने मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत पर तुष्टिकरण की राजनीति का आरोप लगाया।

डॉ. पूनियां ने कहा कि कोरोना महामारी संकट को हमने एक चुनौती के रूप में स्वीकार किया और एक सामाजिक संगठन की तर्ज पर भाजपा के लाखों कार्यकर्ता प्रदेशभर में जनहित के सेवा कार्य कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जिस समय इस बीमारी ने दस्तक दी थी उस दौरान स्वयं और नेता प्रतिपक्ष, मुख्यमंत्री  से मिले थे, उनको काफी सुझाव इस विश्वास के साथ दिए थे।

यह भी पढ़ें :  पांच माह से हो रही थी उल्टियां, निकला 'fourth ventricular brain tumor'

हम आपका राजस्थान की जनता के हित के लिए पूरा सहयोग करेंगे, उसके बाद स्वयं और उपनेता प्रतिपक्ष मुख्य सचिव व डीजीपी से मिलने गए, इस दौरान सार्थक चर्चा हुई और काफी सुझाव हमने राजस्थान सरकार को दिए।

प्रदेश अध्यक्ष डॉ. पूनियां ने कहा कि प्रदेश में भाजपा के करीब एक लाख 49 हजार कार्यकर्ता राहत कार्यों में लगे हुए हैं, 60 लाख 73 हजार से अधिक फूड के पैकेट पार्टी कार्यकर्ताओं ने राजस्थान में बांटे हैं, 22 लाख 33 हजार राशन सामग्री के पैकेट पार्टी पदाधिकारी, विभिन्न मोर्चे व भामाशाहों के सहयोग से हमने बांटे हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर 15 करोड़ 4 लाख, 7 हजार 862 रुपये पीएम केयर्स फंड में राजस्थान भाजपा के पार्टी कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों, जनप्रतिनिधियों, भामाशाहों व आमजन के सहयोग से पहुंचा है, प्रदेशभर से करीब एक लाख 33 हजार लोगों ने पीएम केयर्स फंड योगदान दिया है, पीएम केयर्स फंड में अशंदान बढ़ाने को लेकर प्रयास तेजी से जारी है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर राजस्थान भाजपा के कार्यकर्ताओं ने 8 लाख 35 हजार 500 फेस मास्क या फेस कवर हमने वितरित किए हैं, इसको लेकर पार्टी कार्यकर्ता ने मिशन के तौर पर काम किया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर प्रदेश में 2 लाख से अधिक लोग आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कर चुके हैं, जिसकी संख्या बढ़ती जा रही है।

उन्होंने कहा कि प्रदेशभर में भाजपा के 1078 मंडलों व सभी जिलों में पार्टी स्तर पर राहत कार्य चल रहे हैं, जरूरतमंदों को भोजन व राशन की व्यवस्था करने में पार्टी कार्यकर्ता प्रशासन के सहयोग से जुटे हुए हैं।

डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि केन्द्र की मोदी की सरकार ने राजस्थान को काफी आर्थिक मदद दी है, जिसमें नरेगा में 2870 करोड़ रुपये, कुल मिलाकर 7 हजार एक सौ करोड़ रुपये सर्वोच्च राशि नरेगा में अभी तक प्रदेश के लिए आ चुकी है, उज्जवला में 62 लाख लाभार्थियों को 470 करोड़ की राशि के तीन सिलेंडर दिए जाएंगे, जनधन योजना में एक करोड़ 52 लाख खातों में 500 रुपये प्रतिमाह दिए जा चुके हैं, जिसमें 67 लाख रुपये जमा हो गए हैं।

यह भी पढ़ें :  जयपुर की 19 सीटों पर ये सियासी योद्धा करेंगे दो-दो हाथ-

वहीं पीएम किसान योजना में 744 करोड़ रुपये 37 लाख किसानों के खाते में जमा हुए हैं, एसटीआरफ का जो पैसा है इसके लिए 740 करोड़ रुपये की राशि भारत सरकार ने आवंटित कर दी है, विधवा, दिव्यांग के लिए 1400 करोड़ रुपये की राशि पहली किश्त के तौर पर राजस्थान के लिए जारी हो गई है।

डॉ. पूनियां ने कहा कि डिस्ट्रिक्ट मिनरल फाउंडेशन फंड 2700 करोड़ रुपये का फंड राजस्थान का, इसकी अनुमति भारत सरकार ने दे दी है, उसमें 30 प्रतिशत स्वास्थ्य के लिए खर्च किया जा सकता है, जिसका 30 प्रतिशत 846 करोड़ यह पैसा अभी राजस्थान सरकार के पास है, इसको लेकर केन्द्र सरकार ने खर्च करने के लिए निर्देशित कर दिया है, लेकिन राजस्थान सरकार ने अभी तक खर्च नहीं किया है।

उन्होंने कहा कि 1888 करोड़ रुपये हेल्थ सिस्टम के लिए, जिनमें से 1780 करोड़ रुपये रिलीज कर दिए हैं, बीपीएल के लोगों के लिए तीन महीने के मुफ्त राशन की व्यवस्था की है, प्रधानमंत्री फसल बीमा के लिए 800 करोड़ रुपये की राशि प्रदेश के लिए रिलीज कर दी है, फसल खरीद की सीमा 25 क्विंटल से बढ़ाकर 40 क्विंटल कर दी है, वहीं किसान की फसल के भुगतान को लेकर केन्द्र सरकार ने बढ़ा फैसला लिया है कि जिस दिन प्रदेश की सरकार भुगतान की जानकारी अपलोड कर देगी उसके दूसरे दिन ही किसानों के खातों में भुगतान का पैसा पहुंच जाएगा।

प्रदेशभर में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा किए जा रहे राहत कार्यों को लेकर डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ताओं ने प्रदेशभर में आमजन की सेवा के लिए एक सामाजिक संगठन के तौर पर काम किया है, लगातार काम कर रहे हैं, लेकिन राजस्थान की सरकार के मुखिया पर सीधा आरोप है कि इतना सब कुछ होने के बाद तुष्टिकरण व राजनीतिक भेदभाव कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  सचिन पायलट उतरे मैदान में तो अशोक गहलोत नहीं आ पाए!

भीलवाड़ा को मॉडल बनाकर मुख्यमंत्री क्रेडिट ले रहे हैं, लेकिन यह मुख्यमंत्री का क्रेडिट नहीं है, ये भीलवाड़ा के प्रशासन, पुलिसकर्मी, चिकित्साकर्मी और वहां के आमजन का क्रेडिट है, मुख्यमंत्री सबसे पहले जयपुर के रामगंज का खुलासा करें, एकदम से प्रदेशभर में कोरोना केसों का आंकड़ा बढ़ा, इसकी जिम्मेदारी लेने को कोई तैयार नहीं हैं, सरकार लीपापोती कर रही है, 1100 से अधिक कोरोना के केस प्रदेश में हो चुके हैं, प्रदेश में सबसे ज्यादा खतरे के निशान पर राजधानी जयपुर है, जयपुर में भी केवल क्षेत्र रामगंज में 400 से अधिक केस हैं, जिससे सामुदायिक संक्रमण की आशंका बढ़ जाती है, सामुदायिक संक्रमण की सीधी-सीधी चेतावनी साफ दिखती है, इसलिए वहां पर सरकार की लापरवाही, ढिलाई स्पष्ट नजर आ रही है।

उन्होंने कहा कि तबलीगी जमात ने देश के कई राज्यों में संक्रमण फैलाया है, वहीं प्रदेश में जयपुर के रामगंज की बात हो या मुख्यमंत्री के गृहजिले जोधपुर की, वोट बैंक की राजनीति को लेकर मुख्यमंत्री तुष्टिकरण कर रहे हैं, जोधपुर में तो वहां के प्रशासन ने सेना को सहायता मांगने को लेकर पत्र लिखा है, लेकिन मुख्यमंत्री तुष्टिकरण की राजनीति करने में लगे हुए हैं।

नेशनल दुनिया के सवाल पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने प्रेस कांफ्रेंस में राज्य सरकार से मांग करते हुए तीन महीने के बिजली-पानी के बिल माफ करने की मांग की है, साथ ही निजी स्कूलों की तीन महीने की फीस को लेकर भी राज्य सरकार फैसला करे।