तुष्टीकरण की पराकाष्ठा: उत्तर प्रदेश सरकार जमातीयों को जेल में डाल रही है और राजस्थान सरकार ₹720 का लजीज खाना परोस रही है

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थिति तबलीगी जमात के कार्यक्रम से देशभर में करीब 9000 लोग अलग अलग राज्य में गए हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक आज भारत में करीब 9000 के आसपास कोरोनावायरस के पोजिटिव मरीज हैं, जिनमें से 80% तबलिगी जमात के लोग ही हैं।तबलीगी जमात के लोगों के लिए शुद्ध पानी की व्यवस्था की गई है

इस मामले को लेकर भारतीय जनता पार्टी के सांगानेर से विधायक अशोक लाहोटी ने सरकार को तुष्टीकरण नहीं करने और सभी लोगों को समान रूप से राहत सामग्री मुहैया करवाने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि एक तरफ जयपुर जिले का 70% राशन एक समुदाय विशेष को दिया जा रहा है, तो दूसरी तरफ तबलीगी जमात के जो अपराधी हैं उनको ₹750 की थाली में व्यंजन परोस कर दिए जा रहे हैं।तबलिगही जमात के लोगों को लजीज खाना परोसा जा रहा है

दूसरी तरफ उन्होंने सीतापुरा स्थिति क्वॉरेंटाइन बने हुए क्षेत्र में तबलीगी जमात के लोगों को दिए जा रहे खाने लोगों की लिस्ट और उनको पिलाया जा रहे बिसलेरी के पानी की फोटो भी फेसबुक अकाउंट पर डालकर सरकार को चेतावनी दी है।

उन्होंने क्वॉरेंटाइन में रहने वाले लोगों की लिस्ट, उनके लिए बने हुए लजीज व्यंजन और इसके साथ ही उनको पिलाई जा रहे शुद्ध पानी की फोटोस भी फेसबुक पर डाली है। इसके साथ ही वीडियो बयान जारी करके हुए उन्होंने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर सरकार ने तुष्टीकरण की तो इसका हाल बुरा तकली क्यों के लिए मेहमान नवाजी में व्यस्त हैं अशोक गहलोत सरकारहोगा।

एक तरफ जहां राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार तबलीगी जमात के लोगों के साथ मेहमान नवाजी करने में व्यस्त हैं, तो दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने क्वॉरेंटाइन खत्म होने के बाद तबलीगी जमात से निकले हुए 17 लोगों को जेल में डाल दिया है।

यह भी पढ़ें :  BJP के इस राजपूत नेता का कांग्रेस में जाना तय!

विधायक अशोक लाहोटी ने कहा है कि तबलीगी जमात के लोग अपराधी हैं और उनके साथ राष्ट्र द्रोही और देशद्रोही की तरह व्यवहार होना चाहिए। उनको एक अपराधी की तरह ट्रीट करते हुए मुकदमा दर्ज कर जेल में डाल देना चाहिए।