तबलीगी जमातियों 720 की थाली खिलाकर उनकी मेहमान नवाजी में लगी है सरकार- लाहोटी

राज्य सरकार व जिला प्रशासन कोरोना संक्रमण रोकने में पूर्ण फेल: लाहोटी
नेशनल दुनिया।
सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ने राज्य सरकार पर आरोप लगाया है की राज्य सरकार संक्रमण को फैलाने वाले तबलीगी जमातीयो पर आवश्यक कानूनी कार्यवाही करने की बजाय क्वारेनटाइन में उनकी आवभगत मेहमाननवाजी में जुटी हुई है।

इसके साथ ही अशोक लाहोटी ने कहा कि तबलीगी जमात से आए हुए लोगों की मेहमान नवाजी करने के बजाए उनके ऊपर राष्ट्रद्रोह को देशद्रोह का मुकदमा करके उनको जेल में डालना चाहिए ना कि उनकी मेहमान नवाजी करनी चाहिए।

इसके विपरीत लॉक डाउन की वजह से जयपुर में गरीब मजदूर वर्ग अपनी पेट की आग को बुझाने के लिए संघर्षरत है और राज्य सरकार की ओर मदद के लिए तरस रहा है। अशोक लाहोटी ने कहा कि यह सरकार जयपुर का 70% राशन केवल रामगंज, भट्टा बस्ती और उसके अलावा कुछ समाज विशेष के लोगों में बांट रही है।

सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ने आज एक प्रेस वक्तव्य जारी कर कहा कि जयपुर शहर में कोरोना वायरस कि इस भयावह स्थिति के लिए जो लोग जिम्मेदार है। जेइसीआरसी सीतापुरा एक सेंटर पर हीकेवल 167 लोगों के क्वॉरेंटाइन में प्रतिदिन उन पर 1,20,000 रुपये (प्रति व्यक्ति 720 रुपये ) उनकी जी हुजूरी वह आवभगत में खर्च कर रही है।

राज्य सरकार की तुष्टीकरण की नीति व वर्ग विशेष के होने के कारण इन लोगों की जंवाई की तरह खातिरदारी की जा रही है। प्रशासन लजीज व्यंजन, पैक पानी की बोटल, उच्च स्तर की कैटरिंग जैसे रसगुल्ले, लजीज व्यंजन से उनकी आवभगत में जुटा हुआ है।

यह भी पढ़ें :  महिलाएं न देवी हैं, न दासी, वे राष्ट्र के विकास में पुरूषों की बराबर की साझीदार और हिस्सेदार हैं

जबकि लोकडाउन को आज 18 दिन हो गए आम आदमी 5 किलो आटे के लिए तरस रहा है। लाहोटी ने बताया कि सरकार व जिला प्रशासन राहत सामग्री का 60 % हिस्सा रामगंज/ भट्टा बस्ती/ लंकापुरी/ व हसनपुर के कुछ वर्ग विशेष के इलाकों में वितरित कर रही है।

इसके विपरीत जयपुर के दूसरे इलाकों के गरीब मजदूर लोग भयावह स्थिति से गुजर रहे हैं। सरकार व प्रशासन संकट के समय में भी मानव सेवा की जगह तुष्टीकरण की राजनीति में लगे हुए है।

लाहोटी ने कहा कि यदि कोई बीमार है तो उसका सरकार इलाज करें परंतु इलाज के नाम पर भेदभाव के तुष्टीकरण नहीं करें । क्वॉरेंटाइन के अन्य सेंटरों पर पीने को पानी व चाय तक नहीं दी जा रही । आर यू एच एस जैसे सेंटर पर भी बेहद खराब वह चिंताजनक हालात है।

एक वर्ग विशेष को रसगुल्ले में रस मलाई दी जा रही है और लाखों गरीब 5 किलो अनाज और आटे के लिए तरस रहे हैं।

लाहोटी ने बताया कि उनकी स्वयं की सांगानेर विधानसभा क्षेत्र में सरकार दोहरा व पक्षपात पूर्ण रवैया अपना रही है। सांगानेर विधानसभा क्षेत्र में अब तक 80000 के लगभग राहत सामग्री के पैकेट बट जाने चाहिए थे परन्तु उसके बजाय आज तक मात्र 1530 पैकेट वितरित कर महज एक खानापूर्ति की गई है।

लाहोटी ने बताया कि शहर के अन्य हिस्सों में मात्र नाम मात्र की राशन सामग्री वितरित की जा रही है और वह भी छोटे अधिकारियों को सरकार का डर दिखाकर कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा जबरन कब्जा कर अपनी मनमर्जी से केवल कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को वितरित की जा रही है एवं पात्र व्यक्ति उक्त राहत सामग्री से वंचित रह गए।

यह भी पढ़ें :  आरएलपी पार्टी का स्थापना दिवस आज: प्रदेशभर में सामाजिक सरोकार के कार्यों के साथ मनाया जा रहा है

विधायक अशोक लाहोटी ने राज्य सरकार से कोरोना जैसी वैश्विक महामारी में तुष्टीकरण की राजनीति छोड़ निष्पक्ष पात्र व्यक्तियों तक राहत सामग्री पहुंचाने की अपील की है एवं जयपुर को इस भयावह स्थिति में पहुंचाने के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ रासुका व देशद्रोह जैसे कानून के तहत धाराएं लगाकर आवश्यक कार्यवाही कर सख्त संदेश देने की अपील की है।