विधायक बलवान पूनिया ने शराब की बिक्री शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

नेशनल दुनिया डेस्क

कोरोनावायरस के कारण देशभर में 24 मार्च की आधी रात से लॉक डाउन चल रहा है। हालांकि राजस्थान में 19 मार्च को यही लॉक डाउन सुरू कर दिया गया था। इसके चलते प्रदेश में शराब की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया था।

अब विधानसभा में किसानों, गरीबों और मजदूरों के लिए हमेशा आवाज उठाने वाले कम्युनिस्ट पार्टी के विधायक बलवान पूनिया ने शराब की बिक्री शुरू किए जाने की मांग करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर शराब की दुकाने वापस शुरू किए जाने का आग्रह किया है।

भादरा से कम्युनिस्ट विधायक पूनिया ने अपने पत्र में लिखा है कि कोविड-19 के चलते प्रदेश भर में शराब की बिक्री बंद है। इसके चलते अवैध शराब का कारोबार बढ़ रहा है और शराब माफिया पनप रहा है।

उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि प्रदेश में अवैध शराब और अवैध स्प्रिट का कारोबार तेजी से बढ़ा है। जिसके चलते लोगों की सेहत खराब हो रही है और प्रदेश प्रदेश के राजस्व का नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा है कि नियमों में ढील देते हुए शराब की बिक्री फिर से शुरू की जानी चाहिए।

नेशनल दुनिया से बात करते हो यह बलवान पूनिया ने कहा कि इसमें आश्चर्य जताने जैसी कोई बात नहीं है। प्रशासन अपना काम कर रहा है, लेकिन इस बीच शराब की बिक्री बंद होने के कारण शराब माफिया पनप रहा है और अवैध शराब का कारोबार बढ़ रहा है, जिससे राज्य के राजस्व की हानि हो रही है और साथ ही लोगों के स्वास्थ्य के साथ भी खिलवाड़ हो रहा है।

यह भी पढ़ें :  जैसलमेर से आगे विधायकों को कहाँ ले जायेंगे अशोक गहलोत,
आगे तो पाकिस्तान है: डाॅ. सतीश पूनियां

उल्लेखनीय है कि 31 मार्च को प्रदेश में शराब की 200 दुकानों के ठेके भी हुए हैं। हालांकि, शराब की बिक्री पर प्रतिबंध होने के कारण राज्य में कहीं पर भी वैध रूप से शराब नहीं बिक रही है।