23 C
Jaipur
शुक्रवार, जनवरी 22, 2021

क्या राजस्थान सरकार ने PUCL के कहने से हटाया “तबलीगी जमात” का कॉलम?

- Advertisement -
- Advertisement -

नेशनल दुनिया डेस्क

राजस्थान में कोरोनावायरस की चपेट में अब तक 288 से अधिक लोग आ चुके हैं, जबकि अकेले जयपुर शहर में 100 से ज्यादा लोग कोरोनावायरस से पीड़ित हैं। इनमें से अधिकांश लोग दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होकर लौटे हुए लोग हैं।

क्या राजस्थान सरकार ने PUCL के कहने से हटाया "तबलीगी जमात" का कॉलम? 1
- Advertisement -क्या राजस्थान सरकार ने PUCL के कहने से हटाया "तबलीगी जमात" का कॉलम? 8

राज्य सरकार लगातार जिलेवार, राज्य में मिले हुए, इटली से आए हुए, ईरान से लौटे हुए, तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद राजस्थान पहुंचे और कोरोनावायरस से पॉजिटिव मिले मरीजों की अलग-अलग संख्या बता रही थी। राज्य में अबतक 5 मौत बताई जा रही है। मृतकों को दूसरे रोगों से पीड़ित भी बताया गया है।

क्या राजस्थान सरकार ने PUCL के कहने से हटाया "तबलीगी जमात" का कॉलम? 2

लेकिन रविवार को दोपहर बाद अचानक से चिकित्सा विभाग की तरफ से जारी की गई प्रेस रिलीज में से तबलीगी जमात के मरीजों के कॉलम को हटा दिया गया। सरकारी सूत्रों का कहना है कि राज्य सरकार के उच्च आदेशों के बाद ऐसा किया गया है।

क्या राजस्थान सरकार ने PUCL के कहने से हटाया "तबलीगी जमात" का कॉलम? 3

इस मामले को लेकर नया खुलासा हुआ है। पीयूसीएल की तरफ से 5 अप्रैल, यानी सोमवार को राज्य सरकार को एक पत्र लिखा गया पत्र सामने आया है, जिसमें राज्य के होम सेक्रेट्री राजीव स्वरूप, राजस्थान पुलिस के महानिदेशक भूपिंदर सिंह यादव, जयपुर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव और जोधपुर पुलिस कमिश्नर प्रफुल्ल कुमार को को संबोधित करते हुए प्रतिदिन जारी की जाने वाली मरीजों की प्रेस रिलीज में से तबलीगी जमात का नाम हटाए जाने को कहा गया था।

क्या राजस्थान सरकार ने PUCL के कहने से हटाया "तबलीगी जमात" का कॉलम? 4

पीयूसीएल की तरफ से लिखे गए पत्र में जयपुर, जोधपुर समेत उन सभी जिलों में से कुछ मरीजों की स्थिति बताते हुए सरकार के इन आला अधिकारियों से अपील की गई है कि मुस्लिम समुदाय के गरीब लोग इस तरह से नाम उजागर होने की वजह से बदनाम हो रहे हैं, इसलिए तबलीगी जमात का नाम सूची में से हटाया जाना चाहिए।

क्या राजस्थान सरकार ने PUCL के कहने से हटाया "तबलीगी जमात" का कॉलम? 5

पीयूसीएल की तरफ से लिखे गए 5 पेज के इस पत्र में कविता श्रीवास्तव, मुकेश गोस्वामी और राशिद हुसैन का नाम अंकित हैं, जिनके द्वारा यह पत्र प्रेषित किया गया है। हालांकि राज्य सरकार की तरफ से प्रेस रिलीज में से तबलीगी जमात का कॉलम रविवार को 4 मार्च को ही हटा दिया गया था।

- Advertisement -
क्या राजस्थान सरकार ने PUCL के कहने से हटाया "तबलीगी जमात" का कॉलम? 9
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

पिंकी चौधरी की तरह लौट आएगी मनीषा डूडी?

बीकानेर/जयपुर। जुलाई माह में बाड़मेर के समदड़ी पंचायत से प्रधान रहीं पिंकी चौधरी जब अपने प्रेमी अशोक चौधरी के साथ भाग गई थीं, तब...
- Advertisement -

जयपुर गौरी माहेश्वरी बनी विश्व की सबसे कम उम्र में कैलीग्राफी टीचर

-हाल ही में एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड से नवाजी गई गौरी। जयपुर। देखने में सुन्दर शब्दों को लिखने की कला को कैलीग्राफी कहा जाता...

ईशान कोण का शमशान लील रहा है विधायकों की जान, विधानसभा में भूत है?

जयपुर। बीते 20 बरस से राजस्थान विधानसभा में ऐसा अवसर केवल दिसंबर 2018 से लेकर अक्टूबर 2020 तक ही आया है, जब सभी 200...

पत्रकार भगवान चौधरी पर हिस्ट्रीशीटर ने किया जानलेवा हमला, पत्रकारों में गहरा रोष

जयपुर। राजधानी जयपुर से प्रकाशित होने वाले प्रमुख अखबार पंजाब केसरी की रिपोर्टर भगवान चौधरी पर कार्यालय जाते वक्त सुबह करीब 11 बजे स्थानीय...

Related news

मनीषा डूडी के साथ क्या लव जिहाद हुआ है?

बीकानेर/जयपुर। बीकानेर जिले की कोलायत तहसील के बांगड़सर गांव की 18 वर्ष की मनीषा डूडी ने पिछले दिनों कोलायत के एक गांव के रहने...

पिंकी चौधरी की तरह लौट आएगी मनीषा डूडी?

बीकानेर/जयपुर। जुलाई माह में बाड़मेर के समदड़ी पंचायत से प्रधान रहीं पिंकी चौधरी जब अपने प्रेमी अशोक चौधरी के साथ भाग गई थीं, तब...

ईशान कोण का शमशान लील रहा है विधायकों की जान, विधानसभा में भूत है?

जयपुर। बीते 20 बरस से राजस्थान विधानसभा में ऐसा अवसर केवल दिसंबर 2018 से लेकर अक्टूबर 2020 तक ही आया है, जब सभी 200...

जाट-राजपूत एक हुए तो उबला बीकानेर, महिपाल सिंह मकराना ने भरी हुंकार

बीकानेर। बीकाजी की नगरी, बीकानेर में रविवार को उबाल मारती हिंदुओं की युवा सेना ने पुलिस की हालत पतली कर दी। करणी सेना के...
- Advertisement -