130 करोड़ दीये एक साथ जलेंगे तो पूरी दुनिया भारत की एकता-समर्पण की ताकत देखेगी: पूनियां

-प्रधानमंत्री के आह्वान पर 130 करोड़ दीयों से पूरी दुनिया भारत की एकता-समर्पण की ताकत को देखेगी: सतीश पूनियां
-5 अप्रैल रात 9 बजे , 9 मिनट..आओ, कोरोना संकट के अंधकार को चुनौती दें: सतीश पूनियां
जयपुर।

कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण हुए लॉकडाउन में भाजपा कार्यकर्ताओं की भूमिका और दायित्व विषय पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने शनिवार को ट्विटर लाइव के माध्यम से संवाद किया।

इस दौरान पूनियां ने अपील करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर 5 अप्रैल (रविवार) , रात 9 बजे, 9 मिनट तक सभी अपने घर की लाइटें बंद कर बालकनी या गेट पर अपने घर की परिधि में दीया या मोमबत्ती जलाकर दुनिया के सामने एकता का उदाहरण पेश करेंगे।


पूनियां ने कहा कि प्रधानमंत्री के आह्वान पर लॉकडाउन व जनता कर्फ्यू को देशभर की जनता ने भरपूर समर्थन दिया, इसी तरह मेरी आपसे अपील है कि 5 अप्रैल (रविवार) को रात 9 बजे घर की सभी लाइटें बंद कर बालकनी या गेट पर अपने घर की परिधि में दीया जलाकर दुनिया को प्रकाश की एक नई रोशनी की ताकत दिखाएंगे।


सतीश पूनियां ने कहा कि प्रधानमंत्री के आह्वान पर जब 130 करोड़ दीये एक साथ जलेंगे तो पूरी दुनिया भारत की एकता, समर्पण व आध्यात्म की ताकत को देखेगी, करोड़ों दीयों की रोशनी की एकता से भारत पूरी दुनिया को एक नया रास्ता दिखाएगा।

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने भारत को एक नई ताकत दी है, जिसका लोहा पूरी दुनिया मान रही है, संयुक्त राष्ट्र संघ भी इनके प्रयासों की सराहना कर रहा है। मुझे दृढ़ विश्वास है कि केन्द्र व राज्य सरकारें सार्थक प्रयास कर वैश्विक महामारी कोरोना पर काबू पा लेंगे और भारत की जीत होगी।

यह भी पढ़ें :  सचिन पायलट मुख्यमंत्री बन सकते हैं, अशोक गहलोत दिल्ली तलब!


पूनियां ने पीएम केयर्स फंड में योगदान को लेकर कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि भाजपा का हर 5 कार्यकर्ता न्यूनतम 100 रुपये का अंशदान दे और इस काम के लिए 10 लोगों को प्रेरित करें।

उन्होंने कहा कि पीएम केयर्स फंड की राशि बेहतर आपदा प्रबंधन व रिसर्च के लिए काम आएगी, जिससे राष्ट्र को हर क्षेत्र में नई मजबूती मिलेगी।


उन्होंने अपील करते हुए कहा प्रदेशभर के भाजपा विधायक पीएम केयर्स फंड में अपने एक माह का वेतन देंगे, इससे पहले समस्त भाजपा विधायकों ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में भी वेतन दिया था।