3 महीनों के बिजली-पानी के बिल माफ हों, सरसों, गेहूं, चने की समर्थन मूल्य पर खरीद सुनिश्चित हो: डॉ. पूनियां

-भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने मुख्य सचिव व पुलिस महानिदेशक से की मुलाकात, कोरोना की ड्यूटी में लगे चिकित्सकों सहित सबकी सुरक्षा सुनिश्चित करे सरकार: डॉ. सतीश पूनियां
विस्थापितों के लिए खाद्य सामग्री व भोजन की व्यवस्था पर विशेष ध्यान दे सरकार: डॉ. सतीश पूनियां
गौशालाओं के लिए हो चारे की व्यवस्था
जयपुर।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां एवं उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने गुरुवार को कोरोना महामारी को लेकर प्रदेश की स्थिति पर चर्चा के लिए राज्य के मुख्य सचिव एवं पुलिस महानिदेशक से मुलाकात की।

डॉ. सतीश पूनियां ने कहा कि साथ राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक से मुलाकात कर कोरोना से उपजे हालात की समीक्षा के साथ सार्थक सुझाव और हर संभव सहयोग का आश्वासन राज्य सरकार को दिया है।

इस दौरान राज्य सरकार के दोनों उच्चतम अधिकारियों को प्रदेश हित में विभिन्न सुझाव दिए।

पूनियां ने कहा कि भारत और राजस्थान वैश्विक महामारी से जूझ रहा है, मुख्य सचिव व पुलिस महानिदेशक से मुलाकात कर पार्टी ने हरसंभव सहयोग का प्रदेश सरकार को भरोसा दिया है, इससे पहले हम मुख्यमंत्री से मिले थे, इस दौरान आमजन के हित में काफी महत्पूर्ण बिन्दुओं को सरकार के संज्ञान में लाए थे, जिन पर सरकार ने सहमति दी है और आगे बढ़ाया है।

डॉ. पूनियां ने कहा कि बदलते हालात में पंथ, मजहब इन सबसे ऊपर उठकर इस वैश्विक महामारी से लड़ना हमारी प्राथमिकता है, मानवता व भारतीयता के नाते कोई भी व्यक्ति इस बीमारी से खिलवाड़ ना करे, सहयोग करे।

उन्होंने कहा कि चिकित्साकर्मी, पुलिसकर्मी पूरी लगन व समर्पण के साथ जिस तरह से काम कर रहे हैं उन पर हमले होते हैं, इसको लेकर राज्य सरकार को मजबूती से कदम उठाने की जरूरत है, असामाजिक तत्वों को चिन्हित करें, ऐसे लोगों की नियमित स्क्रीनिंग हो, ऐसे लोगों को क्वारंटाइन में या आइसोलेशन में रखा जाए, जिससे प्रदेश को इस महामारी से बचाया जा सके।

यह भी पढ़ें :  Health news: रीढ़ की हड्डी से निकाला ट्यूमर


प्रदेश अध्यक्ष पूनियां ने कहा कि राशन की किल्लत को दूर करने के लिए सरकार जरूरी कदम उठाए, कोई भी व्यक्ति भूखा ना सोए, हर जरूरतमंद व्यक्ति को राशन व भोजन समय पर मिले सरकार यह सुनिश्चित करे। घुमन्तु, विस्थापित, किसान इनकी अपनी-अपनी समस्याएं, जिनका सरकार समाधान निकाले, इस बारे में हम सरकार को सुझाव भी दे चुके हैं।


उन्होंने कहा कि ऐसे हालात में यह बहुत जरूरी है कि तीन महीनों के बिजली पानी के बिल राज्य सरकार माफ करे। साथ ही सरकार गेहूं,चने, सरसों की फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद सुनिश्चित करे, जिससे सभी किसानों व आम आदमी को बड़ी राहत मिल सके।


पूनियां ने कहा कि चिकित्सकों व नर्सिंग स्टाफ की कमी को दूर करने के लिए सरकार ने अस्थाई भर्ती करने को लेकर सैद्धांतिक सहमति जताई है। हमने मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक को आश्वस्त किया है कि भारतीय जनता पार्टी का पूरा संगठन जिला स्तर व बूथ स्तर तक सरकार के साथ खड़ा है।


इस दौरान पूनियां ने तबलीगी जमात के घटनाक्रम से उपजे हालात, कोरोना की ड्यूटी में लगे चिकित्सकों सहित सबकी सुरक्षा सुनिश्चित करने, सफाईकर्मियों का बीमा,गौशालाओं के चारे की व्यवस्था करने,घुमन्तु,विस्थापितों के लिए खाद्य सामग्री व भोजन की व्यवस्था करने सहित अनेक सुझाव भी दिए।

पूनियां ने पाक विस्थापितों को बीपीएल की तरह सुविधा देने की बात की। साथ ही यह बात भी प्रमुखता से उठाई गई कि जिन उद्योगों के लाइसेंस की अवधि 31 मार्च को समाप्त हो गई है, इन लाइसेंस की अवधि तीन महीने के लिए बढ़ाई जाए।

यह भी पढ़ें :  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत घोषणाजीवी: पूनियां


राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्य सचिव व डीजीपी को आश्वस्त किया है कि प्रदेशभर में भारतीय जनता पार्टी का 54 हजार बूथ पर काम करने वाला हर कार्यकर्ता इस संकट की घड़ी में आमजन, राज्य सरकार व प्रशासन के साथ मजबूती से खड़ा हुआ है।