भारत की संस्कृति नर में नारायण देखने की है: राठौड़

-उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कोरोना के प्रति जागरूकता को लेकर फेसबुक लाइव पर किया आमजन से संवाद

राजस्थान विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने मंगलवार को कोरोना वायरस के प्रति जागरुकता को लेकर फेसबुक लाइव के माध्यम से जनता से संवाद किया और सुझाव प्राप्त किए।

उपनेता प्रतिपक्ष ने फेसबुक लाइव के दौरान कोरोना को लेकर आमजन के मन में जो भी भ्रांतिया उन्हें दूर किया और फेसबुक पर लोगों द्वारा पूछे गए सवालों के तुरंत जवाब दिए।

उपनेता प्रतिपक्ष ने लाइव के दौरान कहा कि वर्तमान में अधिकतर देश वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से ग्रस्त है और इस बीमारी के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं।

राठौड़ ने कहा कि भारतीय संस्कृति ‘नर में नारायण’ को देखने की रही है। इतिहास इस बात का साक्षी है कि जब भी कोई विपदा आई है भारत ने अग्रणी भूमिका निभाकर महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है।

उन्होंने संकट की इस विषम परिस्थिति में सभी नागरिकों को गरीबों व जरूरतमंदों के लिए अपने सामर्थ्य के अनुसार दान देने का आह्वान किया और कोरोना की वजह से कोई इंसान भूखा नहीं सोये इसके लिए आगे बढ़कर सहायता करने की अपील की है।

मुख्यमंत्री और कोरोना वॉरियर्स का जताया आभार

उपनेता प्रतिपक्ष ने चिकित्सा कर्मियों, नर्सेज, पैरामेडिकल स्टाफ, वार्ड ब्वॉय, सफाईकर्मी व पुलिसकर्मी सहित उन सभी कोरोना वॉरियर्स का आभार जताया है जिन्होंने अपनी जान की परवाह नहीं करते हुए कोरोना के खिलाफ जंग में दिन-रात स्वयं को निःस्वार्थ भावना से झोंक रखा है।

उन्होंने कोरोना वॉरियर्स को रक्षक बताते हुए उन्हें योगदान के लिए पूरा सम्मान दिए जाने की भी अपील की है। राठौड़ ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में किए जा रहे प्रयासों पर उनका आभार व्यक्त किया है।

यह भी पढ़ें :  सूखने लगी फसलें, कृषकों को बरसात का इन्तज़ार

भाजपा कार्यकर्ताओं से PM Cares Fund में योगदान का किया आह्वान

उपनेता प्रतिपक्ष ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 22 मार्च को जनता कर्फ्यू और उसके बाद 21 दिन के लॉकडाउन के निर्णय को अभूतपूर्व और सराहनीय बताते हुए लोगों से घरों में रहकर प्रशासन का सहयोग करने का आह्वान किया है।

उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि PM Cares Fund में कम से कम 100 रु का योगदान अवश्य दें और अपने 10 समर्थकों को भी योगदान के लिए प्रेरित करें। मानवता के सेवार्थ आपका दिया एक छोटा या योगदान अभूतपूर्ण परिणाम दे सकता है।