1 लाख 80 हजार से अधिक लोगों को भोजन के पैकेट पहुंचाए, 67 हजार को राशन सामग्री: सतीश पूनियां

-संकट की घड़ी में भारतीय जनता पार्टी परिवार आमजन की सेवा में जुटा है: डॉ. सतीश पूनिया
प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने कोरोना के खिलाफ ‘मैं भी कर्मवीर हूं’ विशेष अभियान की शुरुआत की
भविष्य में केन्द्र सरकार मध्यम वर्ग को राहत देने के लिए कुछ ऐलान और कर सकती है: डॉ. सतीश पूनिया
भाजपा हेल्पलाइन नंबर पर 5822 से अधिक कॉल्स आए, समस्याओं का निस्तारण किया: डॉ. सतीश पूनिया
1 लाख 80 हजार से अधिक लोगों को भोजन के पैकेट पहुंचाए, 67 हजार को राशन सामग्री: डॉ. सतीश पूनिया
हमारी पार्टी के सभी जनप्रतिनिधि, मोर्चे और कार्यकर्ता जनसेवा में जुटे हैं
हमारी पार्टी के कार्यकर्ता बूथ स्तर तक सुनिश्चित करें कि कोई भूखा ना सोए
पार्टी के सभी कार्यकर्ता पीएम केयर्स फंड में मदद करें

जयपुर। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण हुए लॉकडाउन में भाजपा कार्यकर्ताओं व जनप्रतिनिधियों की भूमिका और दायित्व विषय पर मंगलवार दोपहर को फेसबुक लाइव के जरिए संवाद किया।

डॉ. सतीश पूनिया ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना से लड़ने के लिए उन योद्धाओं और कर्मवीरों का अभिनंदन करता हूं। पूनियां ने कहा कि चिकित्साकर्मी, सफाईकर्मी, जनप्रतिनिधि, मीडियाकर्मी, नर्सिंगकर्मी, पैरामेडिकल स्टाफ, भामाशाह, पुलिस-प्रशासन ऐसे तमाम लोग जज्बे के साथ राजस्थान व देशभर में इस लड़ाई को लड़ रहे हैं।

प्रदेश अध्यक्ष पूनियां का कहना है कि मैं भारतीय जनता पार्टी परिवार के लोगों को बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं देता हूं, जो इस संकट की घड़ी में आमजन की सेवा में जुटे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि पार्टी के जिला अध्यक्षों, विधायकों व सांसदों से व तमाम पदाधिकारियों से संवाद करना, यह मेरी दिनचर्या में शामिल हो गया कि इन सभी से रोजाना ऑडियो ब्रिज, स्काइप से, वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़ता हूं, जहां आ‌वश्यकता होती है वहां टेलीफोनिक भी संवाद करता हूं।

मुझे खुशी है कि हम एक मजबूत राजनीतिक पार्टी ही नहीं बल्कि एक मजबूत सामाजिक शक्ल में भी तब्दील होते जा रहे हैं, जिससे हम जनता की अपेक्षाओं को पूरा कर रहे हैं।

फेसबुक लाइव संवाद में पूनियां ने कहा कि हमारी पार्टी के हेल्पलाइन नंबर 7290984207 पर 5822 कॉल्स से अधिक हमने प्राप्त किए हैं और लगभग सभी कॉल्स का जवाब देते हुए, ज्यादातर लोगों की समस्याओं का निस्तारण किया, जिसमें ईलाज, दवाई, राशन, भोजन व आवागमन से संबंधित तमाम समस्याओं का समाधान करने की दिशा में हमने बहुत अच्छा प्रयास किया है।


कंट्रोल रूम में सेवाएं दे रहे हमारी पार्टी के लोग जज्बे के साथ समस्याओं का समाधान कर रहे हैं, इस पर मुझे संतोष और गर्व है।

पूनियां ने कहा कि कि मैं एक ऐसे राजनीतिक परिवार से जुडा हूं जो निश्चित रूप से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व हमारे पूर्व के महापुरुषों के नक्शेकदम पर चलते हुए इस पार्टी को वास्तव में नर सेवा नारायण सेवा की तर्ज पर चला रहे हैं, मैं उन तमाम स्वयंसेवी संस्थाओं का धन्यवाद करता हूं चाहे वो सेवा भारती हो या भारत विकास परिषद हो, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ये तमाम संस्थाएं एवं लोग पूरी निष्ठा से इस काम में जुटे व जुड़े हुए हैं।


डॉ. पूनियां ने कहा कि पिछले दिनों देशभर में जनता ने जनता कर्फ्यू को सफल बनाया और लॉकडाउन को भी सफल बनाने में भी लोग पूरा सहयोग कर रहे हैं, लॉकडाउन के दौरान कुछ अव्यवस्थाएं देखने को मिलीं, खासतौर पर लॉकडाउन की घोषणा के बाद प्रवासी लोगों का आवागमन शुरू हुआ, वो एक बार सभी के लिए चिंता का विषय था, लेकिन अभी हालात ठीक होते जा रहे हैं, प्रधानमंत्री ने अपील करते हुए कहा था कि जो जैसे हैं, जहां हैं वहीं रुके, अपील पर लोग रुके और लॉकडाउन को पूरी तरह समर्थन देने में लगे हुए हैं, जो पूरे देशभर के लिए अच्छी बात है।

यह भी पढ़ें :  आज टोंक में गरजेंगे PM मोदी


प्रधानमंत्री ल नरेन्द्र मोदी के आह्वान व पार्टी के केन्द्रीय नेतृत्व के निर्देशों का पालन करते हुए प्रदेशभर में पार्टी कार्यकर्ताओं के समर्पण कार्य के बारे में सतीश पूनियां ने बताया कि हमारी पार्टी के हेल्पलाइन व कंट्रोल रूम के अलावा जो अपील हम लोगों ने जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए की, हमारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्‌डा ने अपील करते हुए कहा कि कोई भूखा ना सोए।

इस आह्वान पर प्रदेश में करीब 43 हजार कार्यकर्ता पूरी सक्रियता के साथ इस काम में लगे हुए हैं, इन लोगों ने 1 लाख 80 हजार से ज्यादा लोगों को भोजन के पैकेट पहुंचाए हैं और 67 हजार से अधिक लोगों को राशन सामग्री पहुंचाई और करीब 279 कम्यूनिटी किचन जिनकी हम मदद ले रहे हैं या हमारी पार्टी के कार्यकर्ता चला रहे हैं, इनके जरिए हमारी पार्टी के कार्यकर्ता सेवा भाव के साथ जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचा रहे हैं।


उन्होंने कहा कि मैं मानता हूं कि मानवता की सेवा में सभी लोगों की बड़ी प्रभावी भूमिका है, ये लोग निस्वार्थ भाव से सेवा का काम कर रहे हैं। इस काम में सरकार, प्रशासन व स्वयंसेवी संस्थाओं की हर मदद का भरोसा हमने दिया, जो हम कर भी रहे हैं।

हमारी पार्टी के तमाम जनप्रतिनिधि, पदाधिकारी, जिला अध्यक्ष, मंडल अध्यक्ष, शक्ति केन्द्र, बूथ, मोर्चे सभी सक्रिय होकर इस संकट की घड़ी में प्रदेशभर के लोगों की हरसंभव मदद में जुटे हुए हैं, सभी लोग अपनी भूमिका का अच्छे से निर्वहन कर रहे हैं।


पूनियां ने कहा कि पिछले दिनों नेता प्रतिपक्ष और हम मुख्यमंत्री से मिले थे, उस दौरान किसानों की समस्याओं का भी जिक्र किया था, खासतौर पर पशु-पक्षियों के चारे व दाने की व्यवस्था करने का निवेदन किया था, जिसे स्वीकार कर काम होने लगा, इस काम में स्वयंसेवी संस्थाएं भी जुड़ने लगीं, प्रशासन के साथ सहयोग कर सब लोग इस दिशा में काम कर रहे हैं।


पार्टी कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाते हुए डॉ. पूनियां ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान जो सबसे बड़ी समस्या आई, वो प्रवासी लोगों का आना जाना शुरू हो गया, राजस्थान आने वाले व बाहर जाने वाले, बड़ी संख्या में लोगों का आवागमन होने लगा, यह एक बड़ी चुनौती थी, इन सबके के लिए भोजन, आवास व देखभाल अन्य जरूरी सुविधाएं पार्टी के लोगों ने की।

मुझे लगता है जैसी भी परिस्थिति में लोग जहां है उनको पार्टी पदाधिकारी, कार्यकर्ता, शुभचिंतक, स्वयंसेवी संस्था के लोग सभी से मेरी अपील है कि बूथ स्तर पर यह सुनिश्चित करते रहें कि कोई भूखा ना सोए, यह मुहिम पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने शुरू की है कि एक व्यक्ति 5 लोगों को भोजन कराए, ऐसा करने से लोग संक्रमण से भी बचेंगे और गरीब की भी मदद होगी। स्थानीय स्तर पर भी पूरा नेटवर्क बूथ स्तर तक भोजन व्यवस्था को सुनिश्चित करे।


पूनियां ने कहा कि बहुत सारे ऐसे भी लोग हैं जो घुमन्तु हैं, विस्थापित हैं, ईंट भट्‌टों पर काम करते हैं, ऐसे लोगों के लिए भी हमारी पार्टी के कार्यकर्ता भोजन व राशन की व्यवस्था करने में लगे हुए हैं। साथ ही पुलिसकर्मी, डॉक्टर्स, नर्सिंगकर्मी, मरीजों के परिजन व सफाईकर्मियों के भोजन की व्यवस्था पर भी हम पूरा ध्यान दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  पीएम केयर्स फंड में हो रही 'धन बारिश, डॉ. सतीश पूनियां को सौंपे चेक, अब तक कई करोड़ का योगदान

मुझे पूरा विश्वास है कि हम निश्चित रूप से इस बीमारी से लड़ेंगे और जीतेंगे, लोगों से मेरी अपील है लोग इस संक्रमण से बचने के लिए जागरूक रहें, दूसरों को जागरूक करें, बचाव करें, घर में रहें, इस बीमारी का सबसे प्रभावी उपाय है कि लॉकडाउन का पालन करते हुए घर में रहें, अपने हाथ स्वच्छ रखें व बाकि बचाव की सावधानियों पर भी ध्यान दें।


प्रदेश अध्यक्ष पूनियां का कहना है कि आमजन में मास्क व सैनेटाइजर्स को लेकर जो धारणा है, उसको लेकर यह है कि चिकित्साकर्मी, सफाईकर्मी, या जो लोग ऐसे सेक्टर्स में काम करते हैं जिनमें संक्रमण की स्थिति बन सकती है, ऐसे लोगों के लिए मास्क व सैनेटाइजर्स की सबसे ज्यादा जरूरत होती है।

आमजन अपने घर में रहें, बार-बार हाथ धोएं, साफ-सफाई का ध्यान रखें, यदि बीमारी के लक्षण लगते हैं तो बिना कोताई के डॉक्टर को दिखाएं।


कार्यकर्ताओं से एक विशेष आह्वान करते हुए पूनियां ने कहा कि समाज के प्रतिष्ठित लोगों से निवेदन करें जिनमें धर्मगुरू, संत, महात्मा, अन्य प्रमुख लोग, उद्योगपति कर आमजन को जागरूक करने के लिए सोशल मीडिया पर संदेश देकर सोशल डिस्टेंसिंग की अपील करें।


उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष ने आह्वान किया है कि पीएम केयर्स फंड में आर्थिक मदद करें, जिससे आगे भी किसी किस्म की महामारी से लड़ने के लिए, रिसर्च के लिए और किसी भी आपदा से निपटने के यह फंड काम आ सकेगा, इस विशेष फंड की प्रधानमंत्री की पहल पर शुरुआत हुई है।


पूनियां ने कहा कि [email protected] इसको लेकर हम प्रधानमंत्री के ट्विटर अकाउंट पर चेक करें, वहां अकाउंट नंबर देखकर हर कार्यकर्ता न्यूनतम 100 रुपये का आर्थिक सहयोग करे और 10 लोगों को इस काम के लिए प्रेरित करे, मुझे लगता है कि हर बूथ पर इस काम के लिए कम से कम 10 डोनर्स को तैयार करें, इस मुहिम में पार्टी के लोग, शुभचिंतक व सभी लोग जुड़ें, ये फंड भविष्य में किसी भी आपदा से निपटने व रिसर्च के काम आएगा। अकाउंट को सही तरह से चेक कर आर्थिक मदद करें।


केन्द्र सरकार के आर्थिक पैकेज को लेकर पूनियां ने कहा कि प्रधानमंत्री ने बड़ी उदारता के साथ 1 लाख 76 हजार करोड़ के आर्थिक पैकेज का जो ऐलान किया है, उससे जनधन से लेकर विधवा पेंशन, विकलांग, किसान इन सबको को बड़ा पैकेज मिला है, इसमें उज्ज्वला योजना में तीन महीने तक गैस फ्री है, तीन महीने तक राशन फ्री दिया जाएगा।

पेंशनधारी लोगों को पेंशन के साथ राशन भी, पीएम किसान निधि में किसानों को पैसा भी दिया जाएगा, इससे हर वर्ग को बड़ी राहत मिलेगी।


भाजपा हेल्पलाइन पर काफी लोगों की ईएमआई को लेकर मांग आई थी, ईएमआई को लेकर भी केन्द्र सरकार ने लोगों को बड़ी राहत दी है, जिसके लिए प्रधानमंत्री, वित्त मंत्री का आभार व्यक्त करता हूं।

इससे लोगों को बड़ी राहत मिली है, अब लोगों को तीन महीने तक ईएमआई नहीं भरने पड़ेगी, जून के बाद व्यवस्थाएं ठीक होने पर लोग ईएमआई भर सकेंगे।

पूनियां ने कहा कि भविष्य में केन्द्र सरकार ऐसी कुछ और घोषणाएं कर सकती है जिससे मध्यम वर्ग को बड़ा फायदा मिल सकता है।


भविष्य की चुनौतियों को लेकर तैयार रहने को लेकर पूनियां का कहना है कि हम सभी को अभी से तैयारी करनी है, ब्लड बैंकों में ब्लड की व्यवस्था, ब्लड डोनर्स की सूची तैयार करना इत्यादि।

यह भी पढ़ें :  अशोक गहलोत मुसलमानों के हितैषी हैं तो पाकिस्तान में जाकर CM-PM बनें:बेनीवाल

उन्होंने कहा कि एक अभियान हम आज से शुरू कर रहे हैं कि.. मैं भी कोरोना के खिलाफ एक सैनिक, वॉरियर और कर्मवीर की तरह काम कर रहा हूं, राजस्थान जीतेगा, भारत जीतेगा, इस तरह का मैसेज हम सोशल मीडिया के जरिए लोगों तक पहुंचाएं।


हमारी पार्टी के कई लोगों ने अपनी होटल्स व संस्थाओं को आइसोलेशन के लिए देना तय किया है, बहुत लोग डोनेशन के लिए भी आगे आ रहे हैं, काफी लोग भामाशाह के तौर भोजन व राशन सामग्री के लिए भी जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं, ऐसे लोगों का अभिनंदन करता हूं।

मेरी पार्टी कार्यकर्ताओं व अन्य सभी से अपील है कि हमारी पार्टी के हेल्पलाइन नंबर 7290984207 को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं, जिससे हम यथासंभव ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदद कर सकें।


आमेर विधानसभा क्षेत्र के विकास व सुविधाओं को लेकर प्रदेश अध्यक्ष व विधायक सतीश पूनियां ने कहा कि आमेर विधानसभा क्षेत्र की चिकित्सा सुविधाओं के लिए विधायक कोष से मैंने करीब 7 लाख रुपये की राशि दी है, पूरे विधानसभा क्षेत्र को सैनेटाइज करने के लिए मशीनें भेजी हैं, 25 टन से अधिक राशन सामग्री भेजी है, इसके लिए मैंने निजी स्तर पर भी आर्थिक सहायता दी है।

लोगों को यह भी सुनिश्चित किया है कि कोई भी समस्त आमेर में भूखा ना सोए, जो यत्न होगा करूंगा, चिकित्सकों व चिकित्सा को बेहतर करने की सुविधा पर हम विशेष ध्यान दे रहे हैं, सभी जनप्रतिनिधियों से अपने-अपने क्षेत्रों में लोगों की मदद करने की अपील करता हूं।

साथ ही यह भी अपील करता हूं कि खुद संक्रमण से बचें, लोगों को बचाएं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने पर विशेष ध्यान दें।


फेसबुक के जरिए व पार्टी हेल्पलाइन के जरिए तमाम लोगों ने सवाल पूछे व सुझाव दिए, जिनमें से कुछ का प्रदेश अध्यक्ष पूनियां ने फेसबुक लाइव के दौरान जिक्र किया।

सीकर से नीलम मिश्रा ने प्रवासियों को लेकर सवाल किया, जिसके जवाब में पूनियां ने कहा कि महाराष्ट्र और केरल में प्रवासी राजस्थानियों की भोजन व राशन को लेकर मदद की गई, मेरी अपील है कि जो जहां हैं, वहीं रहें, पार्टी हेल्पलाइन नंबर पर जो भी मदद मांगी जाएगी, हम हरसंभव मदद करने की कोशिश करेंगे।


जयपुर से पूनम शर्मा ने कहा कि मेरे साथ 10 महिलाओं का ग्रुप है, हम मिलकर प्रतिदिन करीब 50 लोगों का भोजन बनाकर पहुंचा सकते हैं। पूनियां ने प्रशंसा करते हुए कहा कि आपके इस काम को आगे बढ़ाने के लिए मातृ शक्ति से जुड़ने का आह्वान करता हूं, आप जनहित में बहुत अच्छा काम कर रही हैं।


जोधपुर से मीनू अग्रवाल ने अपना संदेश भेजा कि, मेरे परिवार ने संकल्प लिया है कि अष्टमी पर कन्या पूजन ना करके जरूरतमंद 5 परिवारों को 10 दिन का राशन देंगे। इसको लेकर पूनिया ने कहा यह बहुत ही नेक काम है, अनुकरणीय है, आपका अभिनंदन करता हूं।

चित्तौड़गढ़ से युवराज आर्य ने कहा कि डोर-टू-डोर डिलीवरी का सुझाव आप सरकार तक पहुंचाएं, जिससे लॉकडाउन का अच्छे से पालन हो सके, जवाब में पूनियां ने कहा कि यह अच्छा सुझाव है इस व्यवस्था को बेहतर करने के लिए हम राज्य सरकार तक बात पहुंचाएंगे, इस पर प्रशासन काम भी कर रहा है।

चूरू से रमेश शर्मा, सवाईमाधोपुर से ओम सुवालका, जयपुर से अजय विजयवर्गीय, बांसवाड़ा से धर्मेन्द्र उपाध्याय ने अपने संदेश व सुझाव भेजे, जिनको लेकर पूनियां ने जवाब दिया व अपनी राय रखी।