24 की रात 12 बजे देशभर में लॉक डाउन के बाद आज आधी रात 12 बजे मोदी का यह आदेश लागू

नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 20 मार्च को देश के नाम संबोधन करते हुए कहा था कि 22 मार्च को पूरा देश जनता कर्फ्यू का आयोजन करें। इसके साथ ही उन्होंने कोरोनावायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे योद्धाओं के लिए शाम को 5:00 बजे धन्यवाद ज्ञापित करने के लिए भी कहा था।

हालांकि, इसके 3 दिन बाद यानी 24 मार्च को रात 8:00 बजे एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश के नाम संबोधन करने के लिए फिर से टेलीविजन पर आना पड़ा। उसी रात को 12:00 बजे प्रधानमंत्री ने अहम आदेश जारी करते हुए रात 12:00 बजे से पूरे देश में एक साथ लॉक डाउन का ऐलान कर दिया।

बीते 2 दिन से जिस तरह से देश के कई राज्य खासतौर से दिल्ली से पलायन करने वाले लोगों की बड़े पैमाने पर सड़कों पर आवाजाही दिखाई दे रही है। उसके बाद आज प्रधानमंत्री को सभी राज्यों को निर्देश देना पड़ा कि वह अपनी अपनी सीमाएं सील कर दें।

प्रधानमंत्री के इस दिशानिर्देश को कई राज्यों ने तुरंत प्रभाव से लागू भी कर दिया है। राजस्थान के अशोक गहलोत सरकार ने एक आदेश जारी करते हुए कहा कि आज रात 12:00 बजे से पूरे राजस्थान की सभी सीमाएं सील हो जाएंगी। इसके बाद कोई भी दूसरे राज्य का व्यक्ति यहां पर आ पाएगा और ना ही यहां से जा पाएगा।

उल्लेखनीय है कि जिस तरह से दिल्ली से निकलने वाले बिहार, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, राजस्थान समेत कई राज्यों में बड़े पैमाने पर लोग पलायन कर रहे हैं। उसके बाद भीड़ को देखते हुए कोरोना वायरस का खतरा बढ़ गया है

यह भी पढ़ें :  कोचिंग संस्थानों पर नियंत्रण के लिए जल्द बनेगा कानून

2 दिन तक लगातार दिल्ली से निकले लाखों मजदूर अपने अपने गांव घरों को दौड़ पड़े। दिल्ली की सरकार ने लोगों को अपने घर भेजने के लिए बसों के द्वारा दिल्ली की बाहरी सीमा पर छोड़ दिया। 25,000 से अधिक लोग अकेले बिहार गए। इसके अलावा 40000 से ज्यादा लोग उत्तर प्रदेश पहुंच गए।

इसके अलावा बताएं जानना है कि करीब 30000 लोग पश्चिम बंगाल पहुंचे। उत्तराखंड और झारखंड के अलावा राजस्थान भी बड़े पैमाने पर लोग पलायन करते हुए देखे गए हैं। दिल्ली सरकार के द्वारा किए गए तमाम दावों को धत्ता बताते हुए उन्हीं की बसों के द्वारा लोगों को राज्य की सीमा से बाहर फेंक दिया गया।