नई दिल्ली

चुनाव के वक्त दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जनता के लिए जो वादे करते थे, उन वादों की कोरोना वायरस के सामने पोल खुल गई है।

दिल्ली की जनता को अपना परिवार मारने वाले अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस की धमक को देखते हुए बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान समेत तमाम राज्यों में लोगों को निकाल दिया है।

Coronavirus: दिल्ली बॉर्डर पर 17 हज़ार लोग, योगी बोले: इनको पहले 14 दिन क्वेरिन्टेन रखेंगे 1
दिल्ली से बाहर बॉर्डर तक छोड़ने के लिए तैनात डीटीसी की बसें।

उत्तर प्रदेश की बॉर्डर पर दिल्ली से निकले हुए 17000 लोग खड़े हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सभी 17000 लोगों को पहले क्वॉरेंटाइन करने का फैसला किया है।

योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली सरकार के द्वारा दिल्ली से उत्तर प्रदेश के लोगों को निकाले जाने के बाद दिल्ली के बॉर्डर पर बसे लगा दी है, जो विभिन्न जिलों में लेकर जा रही है। उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश के किसी भी व्यक्ति को परेशानी नहीं आने दी जाएगी।

दूसरी तरफ इस समस्या से बिहार सबसे भयानक तरीके से जूझ रहा है। क्योंकि बिहार से बड़े पैमाने पर लोग दिल्ली में मेहनत मजदूरी करने के लिए रहते हैं, जिनकी वापसी हो रही है।

पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी भी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तरह ही अपने लोगों के लिए व्यवस्था नहीं कर पाने की लाचारी दिखा रही है। ममता बनर्जी ने अभी तक भी नहीं कहा है कि दिल्ली से आने वाले उनके लोगों की व्यवस्था क्या की जाएगी?

राजस्थान सरकार के द्वारा रोडवेज की बसों के द्वारा अपने लोगों को दिल्ली बॉर्डर से लाने और राजस्थान में रह रहे उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों को अपनी बॉर्डर के बाहर भेजने की व्यवस्था कर दी है, लेकिन यहां पर आने वाले लोगों के लिए क्वॉरेंटाइन की व्यवस्था नहीं की है।