नई दिल्ली

दुनिया भर में कोरोनावायरस के 6 लाख से अधिक मरीज सामने आ चुके हैं, जबकि करीब 28000 लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में भी कोरोनावायरस के पॉजिटिव मरीजों की संख्या 1000 को क्रॉस कर चुकी है, मरने वालों की संख्या 26 हो चुकी है।

सारी परेशानियों के बीच 2 खबरें ऐसी आई हैं, जो राहत भरी कह सकती जा सकती हैं। ब्रिटेन और रूस ने कोरोनावायरस के लिए टीके बना लिए हैं, जिनका जीव परीक्षण का दौर चल रहा है, और कभी भी सरकारें इनको मानव प्रयोग के लिए अनुमति दे सकती है।

जानकारी के मुताबिक रूस और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में इसके परीक्षण चल रहे हैं। कोरोनावायरस के खात्मे के लिए जीव के शरीर पर सफल परीक्षण किया जा चुका है।

दूसरी तरफ भारत सरकार की भी वायरोलॉजी लैब में इनके सफल परीक्षण की बात कही जा रही है। हालांकि, अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, किंतु जिस तरह से 2 बड़े डॉक्टरों के नाम सामने आ रहे हैं, उससे जाहिर है कि जल्द ही इसके टीके सामने आ सकते हैं।

हालांकि, बताया जा रहा है कि इसमें सबसे बड़ी समस्या ठीके को जनता तक पहुंचाने का है, क्योंकि इस टीके की कीमत बड़ी बताई जा रही है। अगर सरकारों ने अपनी तरफ से इसकी व्यवस्था नहीं की तो इसके आविष्कार का कोई फायदा नहीं होगा।