कोरोनावायरस राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में सबसे ज्यादा प्रभाव डाल रहा है। यहां पर बांगड़ हॉस्पिटल में एक डॉक्टर के पॉजिटिव पाए जाने के बाद अब तक जिले में 24 जनों को करोना हॉस्पिटल पाया गया है।

राजस्थान में कुल 52 जनों को करो ना वायरस से पॉजिटिव पाया गया है, जिनमें से सबसे ज्यादा अकेली भीलवाड़ा में ही हैं। जयपुर के परकोटा में भी एक व्यक्ति के पॉजिटिव पाने के बाद सात थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया है।

राजस्थान में आज 4 जनों को कोरोनावायरस से पॉजिटिव मिलने के बाद राज्य सरकार ने एहतियात के तौर पर कई जगह रैपिड एक्शन फोर्स बुलाने के निर्देश दिए।

राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि लोग या तो अपने घरों में रहे अथवा पुलिस को सख्त हिदायत दे दी गई है और पूरी छूट दी गई है, जो बाहर दिखेगा वह पिटेगा।

इसके अलावा चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने भी वीडियो बयान जारी करते हुए कहा है कि भीलवाड़ा, झुंझुनू, जयपुर परकोटे और अजमेर के एक थाना क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया गया है। अगर इसके बावजूद भी लोग नहीं रुके घरों में नहीं रहे तो रैपिड एक्शन फोर्स बुलानी पड़ेगी।

उल्लेखनीय है कि राजस्थान में 3 मार्च को कोरोनावायरस का पहला पॉजिटिव सामने आया था। पहला पॉजिटिव इटली से आया हुआ है कि नागरिक था। उसके बाद बीते 25 दिन में अब तक 52 लोग कोरोनावायरस के पॉजिटिव मिले हैं।

पूरे देश की बात की जाए तो 900 लोग कोरोनावायरस की चपेट में आ चुके हैं। जिनमें से 21 जनों की मौत हो चुकी है। हालांकि, इस दौरान 78 लोग वापस रिकवर भी हुए हैं।