कोरोना वायरस संक्रमण के चलते सरकार को पान मसाला व गुटखा पर लगाना चाहिए प्रतिबंध: चौधरी

जयपुर।

कोरोना वायरस का सक्रमण तेजी से देश में फैल रहा है। जिसकी रोकथाम के लिए राज्य सरकारे अपना-अपना प्रयास कर रहे है, वही डॉक्टर व नर्सिग स्टाफ भी दिन रात करके लोगों को कोरोना के संक्रमण से बचाने में लगा हुआ है व एक बड़ी टीम इसकी रोकथाम के लिए वेक्सिनेशन को खोज रही है।

वहीं देश भर में सामाजिक संगठन भी अलग-अलग तरीको से कार्य रहे है। राजस्थान में तंबाकू जनित उत्पादों की रोकथाम व कोटपा एक्ट के प्रभावी क्रियान्वयन को लेकर कार्य करने वाले एसआरकेपीएस संस्था के सचिव राजन चौधरी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर मांग की है कि प्रदेश में पान, मसाला और गुटखा को प्रतिबंधित करें।

चौधरी ने कहां कि कोराना वायरस ने पूरे देश को अपनी गिरफ्त में ले लिया है ऐसे में आवश्यक है कि सरकार को तंबाकू जनित उत्पादों पर पूर्णतया रोक लगानी चाहिए।

उन्होंने कहां कि गुटखा व पान मसाले का सेवन करने वाले लोग इनको खरीदने के लिए घरों से बाहर निकल रहे है वही इनको खाकर घरो के आस-पास व अन्य स्थानों पर थूकते है इससे भी सक्रमण का खतरा अत्यधिक बढ़ता है।

ऐेेसे में सरकार को तुरंत प्रभाव से तंबाकू जनित उत्पादों पर रोक लगानी चाहिए।  

यह भी पढ़ें :  Loksabha chunav 2019: नागौर से बेनीवाल लड़ेंगे चुनाव, भाजपा 24 सीट पर लड़ेगी