रामगोपाल जाट

राजस्थान के लिए कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर राहत की खबर सामने आई है। पिछले 24 घंटे के दौरान राजस्थान के किसी भी जिले से नया कोरोना वायरस से पीड़ित मरीज सामने नहीं आया है।

24 घंटे पहले जयपुर के वैशाली नगर का एक मरीज सामने आया था, उसके बाद कोरोना वायरस के किसी भी नए मरीज के आने की सूचना नहीं है।

20 वार्ड को खाली कर डेडिकेट वार्ड बनाया, 500 बेड तैयार

एसएमएस अस्पताल में चिकित्सा विभाग ने 20 वार्ड खाली कर कोरोना पीड़ित मरीजों के लिए डेडिकेटेड वार्ड बनाया गया है। चिकित्सा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने बताया कि एसएमएस अस्पताल में 24 घंटे आईपीडी की सुविधा शुरू की गई है।

अब तक 29 मरीज

जानकारी के मुताबिक भीलवाड़ा और झुंझुनूं जैसे जिलों में, जहां पर बड़े पैमाने पर नए मरीज मिलने की संभावना थी, वहां पर भी पिछले 24 घन्टे में कोई मरीज नहीं मिला है। राजस्थान में कोरोना वायरस से एक की भी मौत नहीं हुई है।

झुंझुनू में स्पेन से आया था दंपत्ति

इससे पहले झुंझुनू में एक दंपत्ति को कोरोना वायरस से पीड़ित पाया गया था। उनकी बेटी भी साथ थी, लेकिन बेटी को वायरस से पीड़ित नहीं पाया गया। दूसरी तरफ भीलवाड़ा में उपचार करने वाले डॉक्टर को ही कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए जाने के बाद बड़े पैमाने पर चिकित्सा विभाग ने सर्वे करवाया था।

आइसोलेशन के लिए एक लाख बेड की व्यवस्था की गई है

चिकित्सा मंत्री ने सोमवार को बताया कि राजस्थान में किसी भी संभावना से निपटने के लिए संदिग्ध मरीजों को रखने हेतु प्रदेश में अलग-अलग जगह एक लाख बेड की व्यवस्था की गई है।