5 साल में 3 परीक्षा पास, अब चौथा एग्जाम देंगे पीसीसी अध्यक्ष सचिन पायलट

Nationaldunia

जयपुर।

राजस्थान कांग्रेस की कमान संभाले अध्यक्ष सचिन पायलट को आज पांच साल पूरे हो चुके हैं। इस दौरान सचिन पायलट ने तीन परीक्षाएं देते हुए सभी में शानदार अंकों से उर्तीण होने का रिकॉर्ड बनाया है।

पायलट जल्द ही, यानी अप्रेल—मई के दौरान अपने अध्यक्ष काल की चौथी परीक्षा से गुजरने वाले हैं। पायलट ने पांच साल पहले आज ही के दिन जब प्रदेश कांग्रेस की कमान संभाली थी, तब पार्टी के पास विधानसभा में केवल 21 विधायक थे। उसके कुछ ही समय बाद प्रदेश से लोकसभा की सभी 25 सीटें भी गंवा चुकी थी।

पायलट ने कांग्रेस अध्यक्ष का कार्यभार संभालने के बाद न केवल प्रदेश में कांग्रेस पार्टी के संगठन को मजबूत किया, बल्कि कांग्रेस पार्टी को दो उप चुनाव और एक विधानसभा चुनाव में बहुत से सत्ता तक पहुंचा दिया।

हालांकि, पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच लगातार मनमुटाव और शीतयुद्ध की बातें भी सामने आती रहीं, जो कि मुख्यमंत्री के चयन और मंत्रीमंडल के गठन तक जारी रही, लेकिन बावजूद इसके उन्होंने सूझबूझ का परिचय देते हुए पार्टी को लगातार एकजुट रखा और सत्ता की दहलीज तक पहुंचाने में कामयाब हुए।

यह पायलट की मेहनत का ही कमाल था कि साल 2013 में भाजपा की सरकार गठन के कुछ समय बाद ही प्रदेश के पहले उप चुनाव में कांग्रेस ने 3 में 2 विधानसभा सीटों पर जीत दर्ज कर सत्ता में प्रचंड बहुमत से लौटी भाजपा को करारा झटका दिया।

इसके बाद साल 2018 के जनवरी माह में आए 2 लोकसभा और एक विधानसभा सीटों पर पायलट के नेतृत्व में प्रदेश में भाजपा का सूपड़ा साफ कर दिया।

यह भी पढ़ें :  1 लाख 80 हजार से अधिक लोगों को भोजन के पैकेट पहुंचाए, 67 हजार को राशन सामग्री: सतीश पूनियां

पायलट का जलवा यही नहीं थमा, बल्कि पिछले साल के अं​त, यानी 7 दिसंबर को हुए विधानसभा चुनाव के दौरान प्रदेश की सत्ता से भाजपा का भी अंत कर दिया। भले ही कांग्रेस प्रचंड बहुमत हासिल नहीं कर पाई हो, लेकिन पार्टी सत्ता प्राप्त करने में कामयाब रही।

सचिन पायलट बीते पांच साल से कांग्रेस अध्यक्ष बने हुए हैं। अप्रेल—मई में लोकसभा चुनाव होने जा रहे हैं। वसुंधरा राजे सरकार के खिलाफ एंटी इनकंबेंसी का लाभ निश्चित तौर पर कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में मिला है, लेकिन इसमें कोई दोहराय नहीं है कि पीएम नरेंद्र मोदी के चमत्कार के आगे पायलट की असली परीक्षा होने वाली है।