हनुमान बेनीवाल ने विधानसभा को बना दिया राजस्थान विवि का कुलपति ऑफिस!

File photo

जयपुर।

राज्य विधानसभा को राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति का ऑफिस बना दिया।

हनुमान बेनीवाल ने राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान जिस तरह से जबरदस्त हंगामा किया, उससे उनके द्वारा राजस्थान विवि के कुलपति ऑफिस पर किए जाने वाले प्रदर्शनों की यादें ताजा हो गई।

मामला तब का है जब राज्यपाल विधानसभा की कार्रवाई के दूसरे दिन अपना अभिभाषण पढ़ रहे थे, तभी किसानों की कर्जमाफी को लेकर हनुमान बेनीवाल ने राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अन्य विधायकों के साथ जबरदस्त तरीके से किसानों की आवाज उठाई।

विरोध प्रदर्शन करते करते हनुमान बेनीवाल इतने उग्र हो गए कि राज्यपाल को जाकर इलाज करवाने के लिए कह दिया। उन्होंने कहा कि जो राज्यपाल मुख्यमंत्री तक का नाम नहीं जानता, विधायकों का पता नहीं है, उसका अभिभाषण पढ़कर समय खराब करने से कोई मतलब नहीं है।

हनुमान बेनीवाल ने ने केरल राज्यपाल को इलाज कराने की सलाह दी, बल्कि पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को भी कड़े, तीखे लहजे में आप शब्दों से नवाज दिया।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का लेकर की गई टिप्पणियों के चलते विपक्ष ने सरकार के खिलाफ बोलने के बजाय आरएलपी के संयोजक हनुमान बेनीवाल के खिलाफ आवाज बुलंद कर दी।

बेनीवाल के द्वारा राज्य विधानसभा में जिस तरह से किसानों की मांग को लेकर आवाज उठाई गई, जो रवैया अपनाया गया, उससे उनके द्वारा करीब 20 साल पहले छात्रों की समस्याओं को लेकर राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति ऑफिस के अंदर कुलपति की टेबल पर चढ़कर की गई नारेबाजी की यादें ताजा हो गई।

यह भी पढ़ें :  अब वसुंधरा राजे के कॉकस को कैसे निपटाएंगे अशोक गहलोत?

गौरतलब है कि हनुमान बेनीवाल को उग्र, गुस्सैल और जनता की आवाज उठाने के लिए राज्य विधानसभा में सरकार के खिलाफ किसी भी हद तक जाने के रूप में पहचाना जाता है।