सोनिया गांधी की झिड़की के बाद अशोक गहलोत ने की सचिन पायलट के साथ मुलाकात

26 मार्च को होने वाले क्लीन राज्यसभा सीटों के चुनाव और राजस्थान में राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर कांग्रेस की अध्यक्षा सोनिया गांधी ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लताड़ पिलाई है।

इसका सबूत सोनिया गांधी के साथ मुलाकात के बाद बाहर निकले अशोक गहलोत की खुद की निराशा लिए हाव-भाव वाली प्रतिक्रिया दी।

बताया जा रहा है कि अशोक गहलोत के द्वारा राज्यसभा के लिए 2 नाम सोनिया गांधी को सौंपे थे, जिनमें पहला नाम राजीव अरोड़ा और दूसरा नाम दिनेश गोदनिया था।

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक सोनिया गाने अशोक गहलोत के बताए दोनों नामों को वापस भेज दिया है और इसके साथ ही कहा है कि सचिन पायलट के साथ बैठकर राज्यसभा के 2 नाम तय किया जाए।

इसके साथ ही सोनिया गांधी ने राजस्थान में दलित अत्याचार और कांग्रेस की सरकार के द्वारा राजनीतिक नियुक्तियां नहीं किए जाने को लेकर भी गहरी नाराजगी जताई है।

कहा जा रहा है कि सोनिया गांधी की फटकार के बाद अशोक गहलोत ने रविवार को पीसीसी अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के साथ मुलाकात करके राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर बातचीत की है।

माना जा रहा है कि होली के त्यौहार के बाद कभी भी राजस्थान में राजनीतिक नियुक्तियों का दौर शुरू हो सकता है। इसको लेकर दोनों नेताओं के बीच सहमति बनाने के लिए सोनिया गांधी ने निर्देशित किया है।

इधर अभी तक भी राजस्थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच शीत युद्ध थमने का नाम नहीं ले रहा है। अशोक गहलोत ने जहां खुद की मर्जी के दौरान सोनिया गांधी को सौंपा। वहीं दूसरी तरफ सचिन पायलट चाहते हैं कि दोनों पदों पर एक जाट और एक मीणा उम्मीदवार को मौका दिया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें :  विरोध, हारने के ड़र और जिला प्रमुख में फंसे टिकट