कांग्रेस सरकार के कुशासन पर प्रदेश की जनता निगम चुनाव में देगी जवाब: डाॅ. सतीश पूनियां

-6 नगर निगम चुनाव की तैयारियों को लेकर भाजपा की एक दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न। कांग्रेस राज में नगर निकायों की हुई दुर्दशा, विकास कार्य हुए अवरूद्ध।

जयपुर, 05 मार्च।

नगर निगम चुनाव की तैयारियों को लेकर गुरूवार को भाजपा प्रदेश कार्यलाय पर एक कार्यशाला भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां की अध्यक्षता में आयोजित की गई।

जिसमें राष्ट्रीय सह-संगठन मंत्री वी. सतीश एवं संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर ने बैठक में उपस्थित पार्टी पदाधिकारियों को संबोधित किया।

इस बैठक में जिला अध्यक्ष, नगर निगम चुनाव के लिए बनाये गये चुनाव प्रभारी, संयोजक, सह-संयोजक, मीडिया आई.टी. सेल, सोशल मीडिया सेल, जिलों के प्रभारी आदि उपस्थित रहे।


कार्यशाला में आगामी नगर निगम चुनावों को लेकर विस्तार से चर्चा की गई और भाजपा किस तरह अपनी जीत का परचम फहरा सके, इसकी रूपरेखा तैयार की गई।


निगम चुनावों की तैयारियों के संबंध में मीडिया को जानकारी देते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा कि कोर्ट के डंडे के जोर से नगर निगम चुनाव कराना सरकार की मजबूरी बन गई है।

उन्होंने कहा कि सरकार चाहे इन चुनावों में कितनी तिकड़म लगा ले, किंतु शहरी मतदाता इनके झांसों में नहीं आने वाला, जिस प्रकार सरकार ने वार्डों का पुनर्सीमांकन किया है।

जाति, पंथ और मजहब के आधार पर लोगों को बांटने की कोशिश की है, हार के डर से सरकार बचना चाहती है।


डाॅ. पूनियां ने कहा कि प्रदेश की जनता ने सीएए का समर्थन किया है, जनता इन चुनावों में प्रदेश सरकार को इसका जवाब देगी।

सरकार ने हार के डर से समय पर चुनाव नहीं करवा कर निगमों में जो प्रशासक लगाएं हैं, उससे विकास कार्य ठप हुआ है।

यह भी पढ़ें :  केंद्र की घोषणा को हनुमान बेनीवाल ने बताया उंट के मुंह में जीरा

सरकार ने इन संस्थाओं को कमजोर करने का हर संभव प्रयास किया है। वार्डों के परिसीमन में मनमानी की है। जनता इन चुनावों में सरकार के सवा साल के भ्रष्टाचार और कुशासन का जवाब देगी।

साथ ही प्रशासक लगने के बाद सफाई, रोड़ लाईट और सीवरेज व्यवस्थाएं चरमरा चुकी है। अतः निश्चित तौर पर इन चुनाव में जनता कांग्रेस के कुशासन का जवाब उन्हें हराकर देगी।


राष्ट्रीय सह-संगठन मंत्री वी. सतीश ने कहा कि इन दिनों सीएए, एनआरसी व धारा 370 को लेकर जो आंदोलन चलाया जा रहा है वह किसी मुद्दों पर नहीं, अपितु परम्परागत रूप से भाजपा विरोधी ताकते अपनी जमीन तलाशने हेतु आंदोलन कर रही है।

उन्होंने कहा कि अतिवादी ताकते राष्ट्रवादी ताकतों के बढ़ते प्रभाव से विचलित होकर जनसमर्थन जुटाने की योजना बनाने पर जोर दे रही है।


सह-समन्वयक नाहर सिंह जोधा ने पार्टी के प्रत्येक वर्ग में कार्य करने वाली टोली तैयार कर काम में जुटने का आह्वान किया।


दलित अत्याचार के खिलाफ भाजपा का विधानसभा घेराव, भाजपा के प्रतिनिधि मण्डल ने मंत्री बी.डी. कल्ला को दिया ज्ञापन

पूर्व संसदीय सचिव जीतेन्द्र गोठवाल के नेतृत्व में आज गुरूवार को दलित समाज के लोगों के साथ रैली निकाल कर विधानसभा पर प्रदर्शन कर, दलित बालिका के साथ हुए बलात्कार के आरोपियों की गिरफ्तारी एवं पुलिस द्वारा मुकदमें को कमतर करने की नीयत से हल्की धाराओं में मुकदमा दर्ज करने पर रोष व्याप्त करते हुये 376 की धारा लगाई जाने के प्रकरण को लेकर दलित समाज के लोग गोठवाल के नेतृत्व में स्टेच्यू सर्किल से रैली के रूप में हाथों में तख्तीयां लिये हुए, सरकार के खिलाफ नाते लगाते हुए सहकार सर्किल पहुंचे।

यह भी पढ़ें :  मालवीय नगर को छोड़कर हर सीट पर बढ़ा बोहरा का वोट, फिर भी कम हो गया जीत अंतर

जहां पुलिस ने रोकने का प्रयास किया। वहां प्रदर्शनकारियों एवं पुलिस में जमकर जोर आजमाईस हुई। दलित समाज के लोगों का गुस्सा सरकार के खिलाफ पनप रहा था।


इस अवसर पर गोठवाल ने पुलिस अधिकारियों को जमकर खरी-खोटी सुनाई। इसके बाद एक प्रतिनिधि मण्डल मुख्यमंत्री से मिलने गोठवाल के नेतृत्व में विधानसभा पहुंचा।


विधानसभा में प्रतिनिधि मण्डल के ज्ञापन को सरकार ने हल्का लेते हुए मिलने में काफी समय लगा दिया। इस पर सदन में भी भाजपा द्वारा मुद्दे को उठाते हुए सरकार को चेताते हुए अपना रवेया ठीक करने की मांग की।


इसके बाद सरकार की ओर से काबिना मंत्री बी.डी. कल्ला ने प्रतिनिधि मण्डल से बात की। प्रतिनिधि मण्डल द्वारा पुलिस द्वारा इतने गम्भीर मामले को डायलूट करने के जुर्म में सम्पूर्ण थाने को सस्पेंड करने व दौसा एस.पी. को हटाने की मांग की। मंत्री बी.डी. कल्ला ने उचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया।