RLP के चुने हुए दलित विधायकों का अपमान करके दलित विरोधी होने का प्रमाण दे रही है गहलोत सरकार -हनुमान बेनीवाल

– रालोपा विधायक पुखराज गर्ग व इंदिरा देवी बावरी के आवास पर आरोपी लिखकर पुलिस नोटिश चस्पा करने का मामला
Jaipur / Nagaur


राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने रालोपा विधायकों के घर पर पुलिस के नोटिश चस्पा करके उन्हें अपमानित करने से जुड़े मामले में हनुमान बेनीवाल ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

बेनीवाल ने कहा कि इस पूरे मामले में जिस तरह एक महिला दलित विधायक और एक पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के साथ भोपालगढ़ विधानसभा का सदन में नेतृत्व करने वाले विधायक की गरिमा को पुलिस के अधिकारियों ने जानबूझकर ठेस पहुंचाई है, उसकी लोकतांत्रिक व्यवस्था में कोई जगह नही है।

सांसद ने कहा अध्यक्षीय व्यवस्था तथा विधानसभा की नियमावली के अनुसार सत्र चलने के दौरान जो रवैया पुलिस ने दोनों विधायकों के साथ अपनाया, उसकी लोकतंत्र में कोई जगह नहीं है।

साथ ही सांसद ने पुलिस के नोटिस में विधायकों को आरोपी शब्द उल्लेखित करने पर भी कड़ी आपत्ति व्यक्त करते हुए कहा कि किसी को भी आरोपी कहना केवल न्यायालय का अधिकार है। ऐसे में नागौर एसपी और सीआईडी सीबी के अधिकारी के निर्देश पर नागौर कोतवाली के थाना अधिकारी ने जिस भाषा का इस्तेमाल नोटिस में किया, उससे यह जाहिर हो रहा है, विधायकों के प्रोटोकॉल व गरिमा को तार-तार किया गया।

सांसद ने मामले में विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी को ट्वीट करके नागौर एसपी सहित सम्बंधित अफसरों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग करते हुए लिखा कि विधानसभा की गरिमा के के संरक्षण के लिए ऐसे गैर जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ कार्यवाही जरूरी है।

यह भी पढ़ें :  विष्णुदत्त विश्नोई आत्महत्या मामले की होगी सीबीआई जांच, अशोक गहलोत सरकार ने लगाई मुहर

उन्होंने कहा जिस तरह दलित विधायकों और उनके परिजनों के साथ पुलिस ने बर्ताव किया, उससे अशोक गहलोत सरकार की दलित विरोधी मानसकिता उजागर होती है।

img 20200302 wa0041871093064664955260
सांसद हनुमान बेनीवाल के द्वारा लिखा गया ट्वीट।


यह था मामला

विगत वर्ष अगस्त माह में नागौर जिला मुख्यालय के समीप उच्च न्यायालय के आदेशों से बंजारा समाज की बस्ती को तोड़ने के समय उजाड़ने से पहले विस्थापित करने की मांग को लेकर गए भोपालगढ़ से रालोपा विधायक पुखराज गर्ग तथा मेड़ता विधायक इंदिरा देवी बावरी मौके पर गए।

जिस पर नागौर उपखण्ड अधिकारी ने विधायको के साथ बदसलूकी करके लाठीचार्ज करवाया था ओर दोनों विधायकों पर मुकदमे दर्ज करवा दिये। जिसकी जांच अजमेर रेंज की सीआईडी सीबी सेल को दी गई।

हाल ही में विधानसभा सत्र चलने के दौरान नागौर कोतवाली के थाना अधिकारी द्वारा दोनों विधायकों के घर पर आरोपी शब्द उल्लेखित करके नोटिस चस्पा किया गया। साथ ही पुलिस द्वारा दोनों विधायकों के घर पर जाकर उनके परिजनों के साथ शिष्टाचार भुलाकर दबंगो की भाषा मे बर्ताव किया गया।

जिसको लेकर सोमवार को मामला विधानसभा में गूंजा। प्रकरण को लेकर सदन में विधानसभा के उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ द्वारा विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाया गया।

जिसके बाद मेड़ता विधायक इंदिरा देवी बावरी, भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग, खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल तथा राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी द्वारा पुलिस के उक्त कृत्य की कड़े शब्दों में निंदा की गई।

विधायक इंदिरा देवी बावरी ने कहा पुलिस ने उनके छोटे बच्चों को धमकाया। विधायक पुखराज गर्ग ने कहा कि बंजारा बस्ती प्रकरण में वो केवल पुनर्वास करने की मांग के उद्देश्य से वहां गए, जिस पर नागौर उपखण्ड अधिकारी ने उन्हें जातिसूचक गालियां देकर अपमानित किया।

यह भी पढ़ें :  राजस्थान में मंत्रियों को मिले विभाग, देखिए किसको क्या मिला?

विधायक नारायण बेनीवाल ने कहा कि उस समय दोनों विधायको ने एसडीएम के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया, उसको विधानसभा के दखल के बाद 31 दिनों बाद दर्ज किया गया और दोनों विधायको के बयान दर्ज किए बिना मामले में एफआर दे दी, जबकि विधायकों के खिलाफ दर्ज झूठे मामले में पुलिस ने सदन की गरिमा को तार तार किया।


स्पीकर सीपी जोशी ने मानी विषय की गंभीरता

सदन में उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने सदन में विधायको के विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव पेश किया, जिस पर स्पीकर जोशी ने कहा कि इस पूरे मामले पर सरकार का क्या वक्तव्य है, यह देखने के बाद विशेषाधिकार हनन के मामले पर फैसला करूँगा, साथ ही अध्यक्ष ने यह भी कहा कि में इससे सहमत नहीं हूं कि सदन चलते समय विधायकों को नोटिस देकर पूछताछ के लिए बुलाया जाये।

साथ ही विधानसभा अध्यक्ष ने मेड़ता विधायक की तरफदारी करते हुए कहा कि जिस वर्ग से वो आती हैं और जिस संघर्ष के साथ वो विधायक बनी हैं, उनके साथ ऐसा बर्ताव सही नहीं है।


ट्विटर पर ट्रेंड हुआ सांसद बेनीवाल का जन्म दिवस

हनुमान बेनीवाल का जन्म दिवस ट्विटर पर देश की मुख्य 20 गतिविधियों में ट्रेंड पर रहा। लोकसभा अध्यक्ष, प्रधानमंत्री कार्यालय से लेकर केंद्रीय मंत्रियों व विभिन्न दलों के नेता व सांसदों तथा प्रदेश के साथ देश भर के समर्थकों ने सांसद को जन्मदिवस की शुभकामनाएं दी,ट्विटर पर #HBDHanumanBeniwal देश के 20 मुख्य ट्वीट में ट्रेंड किया।