जयपुर SMS में कोरोना वायरस का मरीज भर्ती, दूसरी जांच में पॉजिटिव, तीसरी जांच का इंतजार

Jaipur news

चाइना के बुहाना से शुरू हुआ कोरोना वायरस का कहर दुनिया भर में फैलता जा रहा है। सोमवार को दिल्ली में एक मरीज पॉजिटिव सामने आया है। अब इस घातक वायरस का एक पॉजिटिव मरीज जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में भी एक संदिग्ध अवस्था में भर्ती किया गया है।

मरीज एंड्री काली (69) की पहली रिपोर्ट नेगेटिव आई थी, लेकिन दूसरी जांच में पॉजिटिव पाया गया है। सरकार तीसरी जांच का इंतजार कर रही है, जो पुणे स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरलॉजी लैब में भेजा गया है।

राजस्थान के चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा है कि एक विदेशी नागरिक जो कि 29 फरवरी को ही इटली से जयपुर आया था। उसको कोरोना वायरस से संदिग्ध पाया गया था। वह एक 20 सदस्य दल के साथ 29 फरवरी को जयपुर में पर्यटक के तौर पर आया था, जहां उसकी तबियत खराब होने के बाद उसको अस्पताल में ले जाया गया।

मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि जयपुर के रमाडा होटल में विदेशी पर्यटकों का दल ठहरा हुआ था, जहां 29 फरवरी को मरीज की तबीयत खराब होने के बाद एसएमएस में भर्ती करवाया गया। पहली जांच में नेगेटिव पाया गया, लेकिन दूसरी जांच में उसको पॉजिटिव पाए जाने के बाद आईसीयू के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

29 फरवरी को मरीज का पहला सैंपल लिया गया। जिसमें कोरोना वायरस नेगेटिव पाया गया, लेकिन सोमवार को दोबारा जांच की गई, जिसमें मरीज को कोरोनावायरस से पॉजिटिव पाया गया है। मंत्री रघु शर्मा का कहना है कि पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद मरीज की तीसरी जांच पुणे स्थित नेशनल वायरलॉजी लैब में भेजा गया है। जांच की रिपोर्ट सम्भवतः मंगलवार को मिल जायेगी।

यह भी पढ़ें :  राजस्थान: आज से दिन कर्फ्यू, 10 से 24 से राज्य में सख्त लॉकडाउन, इनको रहेगी छूट

मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के नियमों के अनुसार मरीज जिस देश में पॉजिटिव पाया जाता है, वहीं पर उसका उपचार कराना आवश्यक है। इसलिए मरीज को विदेश नहीं भेजा जाएगा, बल्कि यही उपचार किया जाएगा। इटली दूतावास को इसकी सूचना भेज दी गई है।

उन्होंने बताया कि बचे हुए सभी पर्यटक जयपुर से आगरा गए हैं, इसलिए आगरा प्रशासन को अलर्ट कर दिया गया है। सभी पर्यटकों की जांच कराने की बात सामने आई है।

मंत्री ने बताया कि एसएमएस अस्पताल में डॉ नसीम भारती के नेतृत्व में एक समिति का गठन करके उनके नेतृत्व में मरीज को उपचाराधीन रखा गया है। इसके साथ ही मंत्री ने बताया है कि इस पॉजिटिव मरीज के अलावा एक और संदिग्ध मरीज भर्ती है, जिसकी भी जांच के लिए सैम्पल पुणे भेजा गया है।