50 Days….फिर शुरु हुआ जमीन समाधि सत्याग्रह, 21 किसान गढ़े जमीन में

जयपुर के नींदड़ में 21 किसानों ने शुरु किया जमीन समाधि सत्याग्रह, 1250 बीघा जमीन के लिए लड़ रहे हैं जेडीए के साथ लड़ाई।
जयपुर के नींदड़ में 21 किसानों ने शुरु किया जमीन समाधि सत्याग्रह, 1250 बीघा जमीन के लिए लड़ रहे हैं जेडीए के साथ लड़ाई।

जयपुर।
राजस्थान की राजधानी जयपुर से निकलकर महज 5 किलोमी​टर दूर ही सीकर रोड पर स्थित नींदड़ गांव के किसानों ने 50 दिन बार फिर से जमीन समाधि सत्याग्रह शुरु कर दिया है।

इस ​बार फिर से यहां के 21 अन्नदाता जमीन समाधि लेकर बैठ गए हैं। आधे से अधिक जमीन में गढ़े किसानों का कहना है कि सरकार ने 53 दिन पहले आश्वसन दिया था, लेकिन अभी तक कोई निर्णय नहीं किया गया।

उनका कहना है कि 50 दिन तक इतंजार करने के बाद उनको यह कठारे कदम उठाने पर मजबूर होना पड़ा है। करीब 1250 बीघा जमीन को बचाने में जुटे किसानों का कहना है कि इस बार जब तक सरकार की तरफ से ठोस निर्णय नहीं किया जाएगा, तब तक यह जमीन समाधि सत्याग्रह जारी रहेगा।

https://www.facebook.com/NationalDunia/videos/235201697514238/

इससे पहले भी इन किसानों ने साल 2013 और 2018 में जमीन समाधि सत्याग्रह किया था, जिसमें कई दिनों तक किसान जमीन में गढ़े रहे थे।

पिछले 50 दिन के दौरान, जब यहां पर सत्याग्रह के तौर पर किसान केवल बैठे थे, तब उनके बच्चों की पढ़ाई, बच्चों की शादी, सगाई समेत सभी कार्य यहीं पर सम्पन्न हो रहे थे।

यहां त​क कि उनके गाय—भैंस भी यही पर बंधे हैं। बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने जा रही है ​और बिना सुविधा के यहां पर किसानों के बच्चे पढ़ाई में जुटे हुए हैं।

53 दिन पहले उन्होंने जमीन समाधि सत्याग्रह इसलिए निरस्त किया था, क्योंकि जेडीए की तरफ से उचित फैसला लिए जाने का विश्वास दिलाया गया था।

उससे पहले 2013 में भी उनके साथ यही छलावा किया गया था। किसानों की जमीन जेडीए लेकर करीब 3000 करोड़ में अपना खजाना भरना चाहता है।

यह भी पढ़ें :  सेक्स संबंधों से इनकार किया तो सैयद ने मॉडल मानसी को मार डाला-