मुंह, नाक से होता हुआ दिमाग में फैला ट्यूमर, सर्जरी कर 8 घंटे में निकाला

जयपुर।
मंडावर के रहने वाले देवन बाल्मिक, जो कि 17 साल का बच्चा है के ट्यूमर नाक के पास से होते हुए आंख के पीछे से दिमाग तक फैल गया था।

मरीज देवन की मां दया के मुताबिक इसके कारण पहले बच्चे का कान बहता था, बाद में नाक बंद हो गया, सिर में तेज दर्द होने लगा। पिछले 6 माह से मरीज को तकलीफ असहनीय हो गई थी।

उन्होंने बताया कि किसी परिचित के जरिए बच्चे को ‘जयपुर ब्रेन एण्ड स्पाइन हॉस्पिटल’ में न्यूरोसर्जन डॉ. राजवेंद्र सिंह चौधरी को दिखाया, जहां एमआरआई और सीटी स्केन के बाद सर्जरी करने का फैसला किया गया।

डॉ. चौधरी ने बताया कि मरीज देवन की ऑपरेशन में कुल 8 घंटे लगे, क्योंकि इस सर्जरी में काफी बारीकी और सजगता से काम करना था।

सर्जरी में उनके स्वयं के अलावा प्लास्टिक सर्जन डॉ. विशाल पुरोहित और ईएनटी के सर्जन ने भी सहयोग किया। डॉ. चौधरी के मुताबिक इस ट्यूमर को ‘जुवेनाइल नेसोफेरिंजियल एंजियोफाईब्रोमा’ कहते हैं, जो कि बहुत ही वैस्क्युलर ट्यूमर है।

इस ट्यूमर के ऑपरेशन के दौरान बहुत ज्यादा रक्तस्राव होता है। ऑपरेशन से पहले इस मरीज के ट्यूमर का एम्बोलाइजेशन तकनीक से कणों को ट्यूमर के अंदर भरा गया, ताकि ऑपरेशन के दौरान रक्तस्राव कम हो सके।

उन्होंने बताया कि सर्जरी के दौरान नाक और चेहरे से पूरा ट्यूमर निकाल दिया गया है, सिर में फैले कुछ ट्यूमर को भी निकाल दिया गया है।

प्लास्टिक सर्जन डॉ. पुरोहित ने बताया कि ट्यूमर को निकालने के लिए मरीज के चेहरे पर टांके लगाने पड़े हैं, किंतु जिस बारीकी से प्लास्टिक सर्जरी की गई है।

यह भी पढ़ें :  Video: SMS अस्पताल में रोबोट करेंगे कोरोना पीड़ितों की देखभाल, ऐसा करने वाला देश का पहला अस्पताल होगा

उसके कारण समय के साथ मरीज के आंख के नीचे और नाक के पास में जहां टांके लगाए गए हैं, वो धीरे-धीरे दिखना बंद हो जाएंगे।

डॉ. चौधरी ने बताया कि मरीज अब बिलकुल स्वस्थ है और उसको अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।