मेजर सुरेंद्र पूनिया बोले: कांग्रेस और अशोक गहलोत के दिल का दर्द जुबान पर आ गया

रामगोपाल जाट

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के दौरान लगातार दो दिन तक दिल्ली में हुए सांप्रदायिक दंगों की असल परतें खुलती जा रही है।

आम आदमी पार्टी के नेता ताहिर हुसैन को इन दंगों के दौरान आईबी के अफसर अंकित शर्मा की मौत और इसके साथ ही उनके मकान पर बड़े पैमाने पर मिले हथियारों के बाद स्पष्ट हो गया है कि यह दंगा सुनियोजित था।

इधर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को विधानसभा में एक बार फिर कहा कि दिल्ली में कैसी सरकार है, जो दिल्ली जा रही थी लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का दौरा जारी था।

मुख्यमंत्री गहलोत ने इससे पहले बुधवार को भी ट्वीट करके कहा था कि दिल्ली में दंगे हो रहे थे, उसके बावजूद डोनाल्ड ट्रंप कार्ड दौरा इतना इंपॉर्टेंट था कि वह रद्द नहीं किया गया, जबकि और कहीं भी दौरा होता है और वहां पर सांप्रदायिक दंगे होते हैं तो दौरा रद्द हो जाता है।

अशोक गहलोत के इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताते हुए मेजर सुरेंद्र पूनिया ने कहा है कि यह है कांग्रेस के दिल का असली दर्द, जो अशोक गहलोत की जुबान से बाहर निकल आया है।

अशोक गहलोत के बयान को लेकर छपी खबरों को पोस्ट करते हुए मेजर सुरेंद्र पूनिया ने फेसबुक और ट्विटर के माध्यम से कांग्रेस और अशोक गहलोत पर तीखा हमला किया है।

मेजर पूनिया ने लिखा है: “‪आख़िर दिल का दर्द ज़ुबान पर‬
‪Ashok Gehlot, शुक्रिया कांग्रेस का दर्द और सच्चाई बोलने के लिये,
‪दंगे करवा दिये, शाहीन बाग़ चालू करवा दिये, जगह-जगह रास्ते रुकवा दिये, फिर भी ट्रम्प का दौरा रद्द नहीं करवा पाये‬,
‪अफ़सोस है कांग्रेस को कि इतनी मेहनत के बावजूद सपनों पर पानी कैसे फिरा।”

यह भी पढ़ें :  पुलवामा शहीदों की याद और अभिनंदन की वापसी पर 100 यूनिट रक्तदान हुआ