रतनलाल को शहीद का दर्जा, एक करोड़ और सरकारी नौकरी भी

-भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राज्य मंत्री से की बात, हैड कांस्टेबल रतन लाल को मिला शहीद का दर्जा
’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’
बूंदी जिले की मेज नदी में बस गिरने की दुर्घटना पर शोक व्यक्त किया
’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’
जयपुर, 26 फरवरी 2020।

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में दिल्ली के भजनपुरा में हुई हिंसक घटनाओं में अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए जान गंवाने वाले सीकर जिले के तिहावली गांव के हैड कांस्टेबल रतन लाल को केन्द्र सरकार ने शहीद का दर्जा दिया है।

गौरतलब है कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने रतनलाल को शहीद का दर्जा दिये जाने की केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राज्य मंत्री जी.किशन रेड्डी से बात की, जिसके बाद रतन लाल को शहीद का दर्जा दिया गया और केन्द्र सरकार ने शहीद के परिजनों को एक करोड़ की आर्थिक सहायता व आश्रित को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है।

इस संबंध में सीकर के सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने शहीद के परिजनों को केन्द्र सरकार का पत्र सौंपा है।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने बताया कि रतनलाल जी को शहीद का दर्जा मिले, यह मांग परिजनों और उनके सभी ग्रामवासियों की थी।

सम्पूर्ण प्रदेश भाजपा की भी यह भावना थी। इस मांग की जानकारी मिलते ही पुष्कर में अपने पुत्र के विवाह में व्यस्त राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को अवगत कराया। उनके निर्देश पर मैंने केंद्रीय गृहमंत्री और गृह राज्य मंत्री से दूरसंचार के माध्यम से बात की।

ऐसे शहीदों के परिवारों को संबल मिले, यह भाजपा सरकार की परंपरा रही है। जिसके परिणाम स्वरूप रतनलालजी को शहीद का दर्जा मिलने की सूचना स्वयं गृहमंत्री अमित शाह ने फोन पर डाॅ. पूनियां को बताई और गृह राज्य मंत्री ने मेसेज भेजकर सूचित किया।

यह भी पढ़ें :  केंद्र की फटकार के बाद राजस्थान के सियासी संग्राम में कूदीं वसुंधरा राजे

जानकारी मिलते ही सीकर और झुंझुनू सांसद को सूचित किया। बहुत सम्मान के साथ उस शहीद की अंत्येष्टि हुई।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि दिल्ली में हुई हिंसा की घटनाएं एक सोची-समझी रणनीति के तहत की जा रही है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के दौरान भारत को बदनाम करने के उद्देश्य से इस तरह की घटना को षड्यंत्र पूर्वक किया जा रहा है, ताकि कांग्रेस एवं वामपंथी दलों के लोग नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ लोगों को भड़काकर भारत की छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं।

मैं रतनलाल की शहादत को नमन करता हूं। शहीद रतन लाल जैसे सिपाही जब तक आंतरिक सुरक्षा के लिए तैनात हैं, तब तक देशद्रोहियों को अपने मंसूबों में सफलता नहीं मिलेगी। राजस्थान में भी शाहीन बाग जैसी घटनाओं को अंजाम देने की कोशिश की जा रही है।

नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ लोगों को बेवजह भड़काया जा रहा है। इसके लिए उन्होंने कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। स्वयं मुख्यमंत्री गहलोत इस प्रकार के धरना प्रदर्शनों में सम्मिलित होकर लोगों को भड़काने का प्रयास कर रहे हैं।

डाॅ. पूनियां ने आज बूंदी जिले के लाखेरी के निकट पापड़ी गांव में हुई दुर्घटना में बारात की बस अनियंत्रित होकर मेज नदी में गिरने से 25 से अधिक लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक जताते हुए, संवेदना प्रकट करते हुए ईश्वर से दुर्घटना में घायलों को शीघ्र स्वास्थ्य लाभ मिलने और शोक संतप्त परिवार को आघात सहने के लिए प्रार्थना की।

परिवहन मंत्री के त्यागपत्र की मांग को लेकर भारतीय जनता पार्टी कल मुख्यमंत्री निवास पर करेगी प्रदर्शन

भाजपा जयपुर शहर अध्यक्ष सुनील कोठारी ने बताया कि राजस्थान में परिवहन विभाग में हुए संगठित भ्रष्टाचार एवं उसके मुख्य जिम्मेदार परिवहन मंत्री के त्यागपत्र और वो त्यागपत्र न दे तो उन्हें बर्खास्त करने की मांग को लेकर कल भारतीय जनता पार्टी की तरफ से मुख्यमंत्री निवास पर प्रदर्शन किया जाएगा।

यह भी पढ़ें :  ग्राम सेवक गुपचुप बनना चाह रहे थे अधिकारी, खुल गई पोल

कोठारी ने बताया कि प्रदर्शन रामनगर मेट्रो स्टेशन से प्रारंभ होकर अशोकपुरा तिराहा, न्यू सांगानेर रोड़, सोडाला तिराहा से रामनगर चौराहा होते हुए मुख्यमंत्री निवास पहुंचेगा।

प्रदर्शन में जयपुर सांसद रामचरण बोहरा, विधायक कालीचरण सराफ, नरपत सिंह राजवी, अशोक लाहोटी, पूर्व मंत्री राजपाल सिंह शेखावत, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी तथा अशोक परनामी, पूर्व विधायक मोहन लाल गुप्ता, सुरेंद्र पारीक एवं कैलाश वर्मा भी शामिल रहेंगे।