दावा 22200 स्कूलों को फिर से शुरू करने का था, केवल 978 ही रहे हैं

Jaipur news

राजस्थान की वर्तमान सरकार ने राज्य के 978 बंद स्कूल फिर से शुरू करने का दावा किया है। हालांकि, इससे पहले पूर्वर्ती सरकार के समय 22200 सरकारी स्कूल बंद किए गए थे।

विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने दावा किया था कि सरकार के गठन के बाद तुरंत प्रभाव से सभी बंदे स्कूल वापस शुरू कर दिए जाएंगे।

पूर्वर्ती सरकार के समय शिक्षा के अधिकार अधिनियम के विरुद्ध बंद किए गए स्कूलों में से 978 स्कूलों को फिर से खोले जाने के लिए मंगलवार को शिक्षा विभाग ने आदेश जारी कर दिए हैं।

एक बार फिर से दवा करते हुए राज्य के शिक्षा राज्य मंत्री कौन सिंह डोटासरा ने मुख्यमंत्री के जन घोषणा पत्र को आधार बताते हुए कहा है कि पिछली सरकार के द्वारा एकीकरण के नाम पर बंद किए गए स्कूलों को फिर से शुरू किया जाएगा।

14 महीने का सरकार का कार्यकाल निकल चुका है, जबकि राजस्थान में 19654 विद्यालय भवन अभी भी खाली पड़े हुए हैं और के विरुद्ध 22200 प्राइमरी सरकारी स्कूल बंद किए गए थे, उनको शुरू नहीं किया जा सका है।

गोविंद सिंह डोटासरा ने दावा किया है कि इसी कड़ी में पिछले सरकार के द्वारा बंद किए गए 495 प्राथमिक और 486 माध्यमिक विद्यालयों को सत्र 2020- 2021 में फिर से शुरू कर दिया जाएगा।

आपको याद दिला देना कि पिछली सरकार ने एकीकरण के नाम पर राजस्थान में 22200 विद्यालय बंद कर दिए थे, जिसको लेकर विपक्ष में रहते हुए गोविंद सिंह डोटासरा और कांग्रेस के विधायक खूब हल्ला मचाते थे।

यह भी पढ़ें :  RLP की तीसरी लिस्ट, हिंडौन से शशिदत्ता, नागौर से शमशेर, नरसी किराड़ को कठूमर से उतारा-